National

कांग्रेस ने सपा-बसपा चेताया, कमतर नहीं आंकें, साथ नहीं रखा तो होगा भाजपा को फायदा   

NewDelhi : कांग्रेस को यूपी में खुद को राजनीतिक रूप से दरकिनार किये जाने का भय सता रहा है. सपा और बसपा के बीच पक रही खिचड़ी का अंदाजा कांग्रेस को लग चुका है. अपनी हिस्सेदारी को मजबूत बनाने को लेकर कांग्रेस के वरिष्ठ नेता सलमान खुर्शीद ने रविवार को सपा और बसपा जैसे विपक्षी दलों को चेतावनी देते हुए कहा कि 2019 के लिए यूपी में बन रहे गठबंधन से कांग्रेस को बाहर रखना अदूरदर्शी कदम होगा.  कहा कि गठबंधन से कांग्रेस को बाहर रखने या उसे प्रदेश में बौना दिखाने की कोई भी कोशिश अदूरदर्शी साबित होगी. इसका सीधा लाभ भाजपा को पहुंचेगा.

इसे भी पढ़ें-चीन ने नजरबंदी शिविरों में 10 लाख उइगर मुसलमानों को डाला  : संयुक्त राष्ट्र

भाजपा विपक्षी पार्टियों में दरार फैलाने की कोशिश में नाकाम हो

इस क्रम में  खुर्शीद ने यह भी कहा कि कांग्रेस अध्यक्ष राहुल गांधी ने यह संदेश दिया है कि विपक्ष की ओर से पीएम पद का उम्मीदवार कौन होगा, इसमें उलझने के बजाय आम चुनाव में सामूहिक रूप से जीत हासिल करने पर फोकस किया जाना चाहिए. पीटीआई को दिये इंटरव्यू में सलमान खुर्शीद  ने कहा कि कांग्रेस जो सबसे अच्छा काम कर सकती है, वह यह सुनिश्चित करना है कि भाजपा गठबंधन की तरफ बढ़ रही विपक्षी पार्टियों में दरार फैलाने की अपनी कोशिश में नाकाम हो.

इसे भी पढ़ें-महागठबंधन  विफल प्रयोग है,  लोग मजबूत और नतीजे देने वाली सरकार पसंद करते हैं : मोदी

यूपी में बहुत बुरे हालात में भी कांग्रेस का सात प्रतिशत वोटशेयर

खुर्शीद यूपी कांग्रेस के दो बार प्रमुख रह चुके हैं. उन्होंने अपनी बात पर जोर देते कहा कि किसी भी पार्टी को यूपी में कांग्रेस को कमतर नहीं आंकना चाहिए. कहा कि 2019 के चुनाव में भाजपा को हराने के लिए सपा और बसपा के साथ गठबंधन में कांग्रेस की भागीदारी अहम है. कांग्रेस को बहुत कम सीटें दिये जाने या महागठबंधन से बाहर किये जाने की आशंकाओं से जुड़े सवाल के जवाब में खुर्शीद ने कहा, मुझे लगता है कि यह बहुत ही अदूरदर्शी कदम होगा. मैं इसलिए नहीं कह रहा हूं कि अगर ऐसा नहीं होता है तो हमें फायदा होगा, बल्कि मुझे लगता है कि कांग्रेस को बाहर करने या उसे यूपी में बौना दिखाने की कोशिश अदूरदर्शी कदम होगा.

खुर्शीद ने कहा कि अगर ऐसा होता है तो भाजपा को फायदा पहुंचेगा. यूपी में बहुत बुरे हालात में भी कांग्रेस का सात प्रतिशत वोटशेयर है और यह एक बार फिर बढ़कर 10, 11 या 12 प्रतिशत पहुंच जायेगा. कहा कि कांग्रेस का वोटशेयर कई सीटों पर निर्णायक भूमिका में हैं.

 इसे भी पढ़ें- मसानजोर डैम विवाद : सरयू राय ने सीएम को लिखा पत्र, कहा- समाधान दुमका और वीरभूम स्तर पर संभव नहीं

न्यूज विंग एंड्रॉएड ऐप डाउनलोड करने के लिए आप यहां क्लिक कर सकते हैं. आप हमें फ़ेसबुक और ट्विटर पेज लाइक कर फॉलो भी कर सकते हैं.

Related Articles

Back to top button