न्यूज़ विंग
कल का इंतज़ार क्यों, आज की खबर अभी पढ़ें

 रामगढ़ में कोयला व्यापारी की गोली मारकर हत्या, पुलिस की जांच जारी

पुलिस ने शव को पोस्टमॉर्टम के लिए रामगढ़ भेज दिया है. चंदन के दोस्त को हिरासत में लेकर पुलिस पूछताछ कर रही है.

966

Ramgarh : रामगढ़ के कुजू थाना क्षेत्र के फोर लेन लिंक रोड पर सोमवार देर रात कोयला व्यापारी की हत्या कर दी गयी. व्यापारी का नाम चंदन सिंह है. बाइक पर आये तीन अपराधियों ने चंदन को गोली मारी और फरार हो गये. जिस वक्त ये घटना घटी, उस समय चंदन सिंह का एक दोस्त भी साथ मौजूद था. इस हत्याकांड के पीछे की वजह का पता नहीं चल पाया है. पुलिस ने शव को पोस्टमॉर्टम के लिए रामगढ़ भेज दिया है. चंदन के दोस्त को हिरासत में लेकर पुलिस पूछताछ कर रही है.

 क्या है मामला

मिली जानकारी के मुताबिक, व्यापारी चंदन अपने दोस्त रवि ठाकुर के साथ किसी के बुलाने पर बाइक से बाहर निकला था. इसी दौरान दोनों दोस्त रात के करीब 12 बजे आजाद मुहल्ला में रुके और फिर वहीं से खाने के लिए होटल चले गए. लेकिन होटल बंद होने की वजह से वो दूसरे होटल जाने के लिए फोर लेन लिंक रोड पर निकले. उस दौरान बाइक चंदन का दोस्त रवि चला रहा था. तभी अचानक पीछे एक बाइक आयी, जिसपर तीन युवक सवार थे. अपराधियों ने अचानक चंदन पर फायरिंग कर दी. जबतक चंदन और उसका दोस्त कुछ समझ पाते तबतक चंदन को गोली लग चुकी थी और वह बाइक से नीचे गिर गया. वहीं फायरिंग करते ही तीनों अपराधी मौके से तुरंत फरार हो गये.

 दोस्त को हिरासत में लेकर पुलिस कर रही है पूछताछ

चंदन की गोली मारकर हत्या किए जाने के बाद पुलिस ने उसके दोस्त रवि को हिरासत में लिया है और पूछताछ की जा रही है. चूंकि घटना के तुरंत बाद रवि ने ही पुलिस को सूचना दी थी और पुलिस मौके पर पहुंची. फिलहाल पुलिस की पूछताछ जारी है. लेकिन इस घटना के बाद से चंदन के परिजनों ने हंगामा किया और अपराधियों के जल्द गिरफ्तारी की मांग की. वहीं घटनास्थल से पुलिस ने 10 खोखे बरामद किये हैं. हालांकि इस घटना के पीछे कुछ स्थानीय लोग आपसी रंजिश भी बता रही है, क्योंकि चंदन कोयले का कारोबार करता था. लेकिन पुलिस ने अभी आपसी रंजिश की कोई बात नहीं कही है.

इसे भी पढ़ें – 29,500 होमगार्ड से वादा कर भूले सीएम, न भत्ता बढ़ा, न मिली ट्रैफिक ड्यूटी

हमें सपोर्ट करें, ताकि हम करते रहें स्वतंत्र और जनपक्षधर पत्रकारिता...

Comments are closed.

%d bloggers like this: