न्यूज़ विंग
कल का इंतज़ार क्यों, आज की खबर अभी पढ़ें

टारगेट से 90 हजार दूर है एक लाख युवाओं को नौकरी देने का सीएम का वादा, क्या एक महीने में हो पायेगा पूरा

12 जनवरी को ग्लोबल स्किल समिट के दौरान दिया जाना है नियुक्ति पत्र, अभी तक मात्र 9500 युवाओं को ही किया जा सका है रजिस्टर्ड, पिछले साल सरकार के 26674 युवाओं को नौकरी देने का दावा हुआ था फेल, सिर्फ 10658  युवाओं ने किया था ज्वॉइन 

227

Kumar Gaurav

Ranchi : मुख्यमंत्री ने वादा किया है कि युवा दिवस के दिन, यानी 12 जनवरी को एक लाख युवाओं को नौकरी देंगे. पर, पिछली बार की तरह ही इस बार भी सरकार अपने दर्शाये गये टारगेट को शायद ही पूरा कर पाये. ऐसा इसलिए, क्योंकि युवा दिवस को मात्र एक महीना ही बाकी है, पर अभी तक विभाग मात्र 9500 युवाओं को ही लिस्टेड कर पाया है. वब भी तब, जब सरकार के सात विभाग और 24 जिला के डीसी इस पर मिलकर काम कर रहे हैं. पिछली बार भी सरकार ने 25 हजार युवाओं को नौकरी देने का वादा किया था, जिसे बाद में 26674 युवाओं को नियुक्ति पत्र बांटने का दावा किया. कौशल विकास के आंकड़ों ने सरकार के इस दावे की पोल खोल दी थी. जब हकीकत सामने आयी, तो पता चला कि सिर्फ 10658 लोगों ने ही नौकरी ज्वॉइन की थी. हालांकि, कौशल विकास मिशन के निदेशक रवि रंजन का कहना है कि हमने आधा टारगेट प्राप्त कर लिया है, पर एंट्री नहीं हो पायी है. एंट्री सिर्फ 9500 की ही हुई है.

बेंगलुरु और दिल्ली में रोड शो

12 जनवरी को अयोजित होनेवाले स्किल समिट में एक लाख युवाओं  को नौकरी देने के मकसद से सरकार बेंगलुरु और दिल्ली में रोड शो  कर रही है. एक दिसंबर को बेंगलुरु में रोड शो  किया गया. रोड शो  में मुख्य सचिव, कौशल विकास विभाग के सचिव राजेश  शर्मा  और मिशन निदेशक रवि रंजन और सीईओ अमर झा शामिल हुए थे. वहीं पांच दिसंबर को दिल्ली में रोड शो किया जायेगा.

जनवरी के पहले सप्ताह में मेगा प्लेसमेंट ड्राइव

एक लाख युवाओं को 12 जनवरी को  युवा दिवस के मौके एक लाख का कोटा पूरा करने के लिए खेलगांव में मेगा प्लेसमेंट ड्राइव चलाया जायेगा. इसमें कई लोकल और नेशनल लेवल की कंपनियां शिरकत करेंगी. टेक्निकल छात्र, जो पास कर चुके हैं और कहीं नौकरी नहीं कर रहे, वैसे युवाओं के लिए स्पेशल ड्राइव चलाया जा रहा है. कौशल विकास विभाग के मिशन निदेशक रवि रंजन का कहना है कि अभी एक महीना बाकी है, हम एक लाख युवाओं को लिस्टेड कर लेंगे.

कॉलेजों में पिछले तीन महीने से चल रहा है ड्राइव

एक लाख युवाओं को नौकरी देने की बात राज्य के मुखिया ने मई में ही कर दी थी. एक लाख युवाओं को नौकरी देने के लिए सरकार के कई विभागों को टारगेट भी दिये गये. इसको देखते हुए अगस्त से ही कॉलेजों में लगातार प्लेसमेंट ड्राइव चलाया जा रहा है. मिशन निदेशक रवि रंजन ने बताया कि इस बार प्लेसमेंट की स्थिति बहुत ही अच्छी है. सिर्फ एक कॉलेज से ही 932 बच्चों का प्लेसमेंट किया गया है. इसके बावजूद विभाग अभी तक मात्र दस हजार युवाओं को ही लिस्टेड कर पाया है.

सिर्फ तीन महीनों तक ही रिकॉर्ड ट्रैक कर पाया था विभाग

कौशल विकास विभाग ने पिछले साल की नियुक्ति को सिर्फ तीन महीनों तक ही ट्रैक कर पाया था. जिन युवाओं के बारे में विभाग जानकारी ट्रैक कर पा रहा था, वे सिर्फ कौशल विकास विभाग दवारा दी गयी नौकरी या चलाये गये प्लेसमेंट ड्राइव से थे. बाकी अन्य विभाग दवारा चलाये गये प्लेसमेंट ड्राइव से नौकरी पाये युवाओं के बारे में कौशल विकास विभाग को पता ही नहीं चल पाया था. हालांकि, युवाओं की नियुक्ति का सारा रिकॉर्ड कौशल विकास विभाग के पास था.

किस विभाग के पास कितना है टारगेट

  • डायरेक्टोरेट ऑफ हायर टेक्निकल एजुकेशन : 12 हजार
  • डायरेक्टोरेट ऑफ टेक्निकल एजुकेशन : 8 हजार
  • झारखंड स्किल डेवलपमेंट मिशन : 40 हजार
  • डिपार्टमेंट ऑफ रूरल मैनेजमेंट : 12 हजार
  • डिपार्टमेंट ऑफ लेबर : 12 हजार
  • डिपार्टमेंट ऑफ इंडस्ट्री :  2 हजार
  • कल्याण गरुकुल : 4 हजार

जिलावार टारगेट

जिलाटारगेटजिलाटारगेट
बोकारो6300चतरा3000
देवघर4500धनबाद8200
दुमका4000गढ़वा4000
गिरिडीह7400गोड्डा4000
गुमला3100हजारीबाग5300
जामताड़ा2400खूंटी1600
कोडरमा2200लातेहार2200
लोहरदगा1400पाकुड़2600
पलामू5900प. सिंहभूम4500
पू. सिंहभूम7000रामगढ़2800
रांची9000साहेबगंज3500
सरायकेला3300सिमडेगा1800

इसे भी पढ़ें- चुंबन प्रतियोगिता पर उठ रहे सवाल, हो सकता है बड़ा बवाल

इसे भी पढ़ें- राज्य में कॉन्ट्रैक्ट फार्मिंग की नीति नहीं होने का फायदा उठा रहीं निजी कंपनियां, खामियाजा भुगत रहे…

हमें सपोर्ट करें, ताकि हम करते रहें स्वतंत्र और जनपक्षधर पत्रकारिता...

Comments are closed.

%d bloggers like this: