न्यूज़ विंग
कल का इंतज़ार क्यों, आज की खबर अभी पढ़ें

बच्चों के रह गये चाचा नेहरू, भूल गयी राज्य सरकार, नहीं किया जयंती पर कोई आयोजन

35

Ranchi : आजाद भारत के पहले प्रधानमंत्री और बच्चों के प्रिय चाचा नेहरू की जयंती को राज्य सरकार भूल गयी. इस साल 14 नवंबर को सरकार की ओर से किसी तरह के सरकारी कार्यक्रम का आयोजन नहीं किया गया. जैप-1 परिसर में बुधवार को राज्य स्थापना दिवस परेड समारोह का आयोजन किया गया, जिसमें मुख्यमंत्री रघुवर दास मुख्य अतिथि थे. वहीं, मुख्य सचिव सुधीर त्रिपाठी, गृह विभाग के प्रधान सचिव एसकेजी रहाटे, पुलिस महानिदेशक डीके पांडेय उपस्थित थे. कार्यक्रम के दौरान अनुकंपा पर बहाली के तहत नियुक्ति पत्र वितरित किया गया, लेकिन यहां भी पंडित नेहरू को श्रद्धांजलि नहीं दी गयी. ऐसे में समझा जा सकता है कि समय के साथ चाचा नेहरू सिर्फ स्कूल और बच्चों तक ही सीमित रह गये हैं.

इसे भी पढ़ें- रोज कटेगी 8 घंटे बिजली, डीवीसी का बकाया 3527.80 करोड़

करोड़ों खर्च हो रहे स्थापना दिवस पर

यूं तो राज्य सरकार राज्य स्थापना दिवस (15 नवंबर) के लिए करोड़ों खर्च कर रही है, लेकिन इसके एक दिन पूर्व 14 नवंबर को नेहरू जयंती पर किसी तरह का आयोजन करना भूल गयी. जबकि, भारतीय इतिहास में पंडित नेहरू का महत्वपूर्ण स्थान है. ऐसे में न ही सरकार के पार्टी कार्यालय और न ही अन्य सार्वजनिक स्थान पर किसी तरह का आयोजन किया गया.

silk_park

इसे भी पढ़ें- 18 वर्षों में भी नहीं बन पायी नयी राजधानी, कल झारखंड मनायेगा अपनी स्थापना की 18वीं वर्षगांठ

बंद रहे स्कूल

छठ पर्व को लेकर राज्य के अधिकतर स्कूल इस दिन बंद थे, जिस कारण स्कूलों में भी नेहरू जयंती का आयोजन नहीं किया गया. बाल दिवस के रूप में मनाये जानेवाले 14 नवंबर को हर साल स्कूलों में कार्यक्रमों का आयेाजन किया जाता था, लेकिन इस साल त्योहार होने के कारण स्कूल बंद हैं. वहीं, कुछ मिशनरी स्कूल खुले थे, जहां स्कूल स्तर पर कार्यक्रम का आयोजन किया गया.

हमें सपोर्ट करें, ताकि हम करते रहें स्वतंत्र और जनपक्षधर पत्रकारिता...

Comments are closed.

%d bloggers like this: