न्यूज़ विंग
कल का इंतज़ार क्यों, आज की खबर अभी पढ़ें

CBI विवादः केंद्र को SC से झटका, आलोक वर्मा को छुट्टी पर भेजने का फैसला रद्द लेकिन फिलहाल नहीं ले सकेंगे नीतिगत फैसला

2,619

New Delhi: काफी लम्बे समय से देश के प्रमुश जांच एजेंसी सीबीआई में चल रहे विवाद पर आज सुप्रीम कोर्ट ने अपना फैसला सुनाया. सुप्रीम कोर्ट ने अपने फैसले में केंद्र सरकार को झटका देते हुए सीवीसी के फैसले को पलट दिया है. देश के सर्वोच्च न्यायालय ने सीबीआई के डायरेक्टर आलोक वर्मा को छुट्टी पर भेजने का फैसला रद्द कर दिया है. छह दिसंबर को सुनवाई के बाद चीफ जस्टिस रंजन गोगोई, जस्टिस संजय किशन कौल और जस्टिस केएम जोसेफ की पीठ ने आलोक वर्मा और कॉमन कॉज की याचिका पर फैसला सुरक्षित रखा लिया था. सीजेआई रंजन गोगोई आज छुट्टी पर ऐसे में जस्टिस संजय किशन फैसला पढ़कर सुनाया है.

सरकार नहीं सेलेक्ट कमेटी को छुट्टी पर भेजने का हक

अपने फैसले में सुप्रीम कोर्ट ने कहा कि कानून के तहत सरकार को सीबीआई चीफ आलोक वर्मा को छुट्टी पर भेजने का कोई अधिकार नहीं है. ये अधिकार सिर्फ हाई पावर सेलेक्ट कमेटी के पास है. उच्चतम न्यायालय ने कहा कि हाई पावर सेलेक्ट कमेटी में प्रधानमंत्री, देश के चीफ जस्टिस और लोकसभा में नेता विपक्ष होंगे. सुप्रीम कोर्ट ने अपने फैसले में ये भी कहा कि ये कमेटी एक हफ्ते के भीतर आलोक वर्मा पर कार्रवाई पर फैसला ले. हालांकि, इस दौरान आलोक वर्मा कोई भी नीतिगत फैसला नहीं लेंगे. सुप्रीम कोर्ट ने ये भी कहा कि आगे से ऐसे बड़े मामलों में उच्च स्तरीय कमेटी ही फैसला करेगी.

उल्लेखनीय है कि सीबीआई के दो शीर्ष अधिकारियों के बीच की लड़ाई के बाद केंद्र सरकार ने पिछले साल 23 अक्टूबर को आलोक वर्मा को छुट्टी पर भेज दिया था. केन्द्र ने इसके साथ ही ब्यूरो के संयुक्त निदेशक एम नागेश्वर राव को जांच एजेन्सी के निदेशक का अस्थाई कार्यभार सौंप दिया था. जिसके खिलाफ सीबीआई निदेशक आलोक कुमार वर्मा ने सुप्रीम कोर्ट में याचिका दायर की थी.

इसे भी पढ़ेंः सवर्ण आरक्षणः लोकसभा में आज पेश होगा संविधान संशोधन बिल

हमें सपोर्ट करें, ताकि हम करते रहें स्वतंत्र और जनपक्षधर पत्रकारिता...

Comments are closed.

%d bloggers like this: