न्यूज़ विंग
कल का इंतज़ार क्यों, आज की खबर अभी पढ़ें

CBI विवादः अपने ट्रांसफर के खिलाफ SC पहुंचे एके बस्सी, अस्थाना घूसकांड की SIT जांच की मांग

राकेश अस्थाना के खिलाफ पुख्ता सबूत- एके बस्सी

254

New Delhi: सीबीआई के अधिकारियों के बीच टकराव थमने का नाम नहीं ले रहा है. सीबीआई घूसकांड में विशेष निदेशक राकेश अस्थान के केस की जांच कर रहे अधिकारी एके बस्सी भी अब सुप्रीम कोर्ट पहुंच गए हैं. उन्होंने अपने तबादले को चुनौती दी है. साथ ही राकेश अस्थाना के खिलाफ एसआईटी जांच की मांग की है.

इसे भी पढ़ेंःदेश की अर्थव्यवस्था पर चारों ओर से संकट के बादल मंडरा रहे हैं

Aqua Spa Salon 5/02/2020

एसआईटी जांच की मांग

सुप्रीम कोर्ट का रुख कर चुके एके बस्सी ने दावा किया है कि उनके पास राकेश अस्थाना के खिलाफ पुख्ता सबूत हैं. 3.3 करोड़ रुपये की घूस केस में बस्सी ने दावा किया कि इस केस में RAW के विशेष सचिव सामंत गोयल भी शामिल हैं. अपनी याचिका में बस्सी ने कोर्ट से केस से जुड़े तकनीकी निगरानी के सबूत मांगने की भी गुहार लगाई है. साथ ही अस्थाना के खिलाफ एसआईटी जांच की भी मांग की है. उन्होंने जल्द सुनवाई की भी मांग की है.

साथ ही अपने तबादले को भी उन्होंने चुनौती दी है. ज्ञात हो कि बीते 24 अगस्त को केंद्र सरकार द्वारा सीबीआई निदेशक आलोक वर्मा और विशेष निदेशक राकेश अस्थाना को छुट्टी पर भेजे जाने के बाद अस्थाना के खिलाफ जांच कर रहे 13 सीबीआई अफसरों का भी ट्रांसफर कर दिया गया था. एके बस्सी का तबादला पोर्टब्लेयर किया गया है.
बस्सी की याचिका पर सीजेआई रंजन गोगोई ने कहा कि वो मामले को देखेंगे.

Related Posts

 #CAA Violence : CAA  समर्थकों और विरोधियों की दिल्ली के कई स्थानों में भिड़ंत, पथराव, फायरिंग, अलीगढ़ में 24 घंटों के लिए इंटरनेट सेवा बंद

नागरिकता कानून को लेकर चल रहा विरोध प्रदर्शन रविवार को हिंसक हो गया. दिल्ली और अलीगढ़ में भारी हिंसा होने की खबर मिली है.

इसे भी पढ़ेंःमहाधिवक्ता अजित कुमार ने काले सरदार के भाई की जमीन की जमाबंदी रद्द…

सतीश सना को राहत नहीं

इधर सीबीआई घूसकांड मामले में राकेश अस्थाना के खिलाफ शिकायतकर्ता सतीश सना को सुप्रीम कोर्ट में राहत नहीं मिली है. हालांकि, कोर्ट ने सना को सुरक्षा देने के निर्देश दिए हैं. ज्ञात हो कि उन्होंने याचिका दाखिल कर सुप्रीम कोर्ट से 29 अक्तूबर को सीबीआई के जांच में शामिल होने के नोटिस पर रोक लगाने की मांग की गई थी. अपनी अर्जी में सना ने कहा था कि वह जांच में सहयोग करने और सुप्रीम कोर्ट के रिटायर जज जस्टिस एके पटनायक की निगरानी में बयान देने को तैयार है. अर्जी में उन्होंने कहा कि सीबीआई बयान के बहाने उसे केस वापस लेने के लिए डरा धमका सकती है. ऐसे में उसे जान का खतरा है. इसलिए जब तक जांच पूरी नहीं हो जाती उन्हें सुरक्षा दी जाये.

इसे भी पढ़ेंःरांची के इलाहाबाद बैंक से संयुक्त निदेशक राजीव सिंह के भाई ने फरजी…

Gupta Jewellers 20-02 to 25-02

हमें सपोर्ट करें, ताकि हम करते रहें स्वतंत्र और जनपक्षधर पत्रकारिता...

Get real time updates directly on you device, subscribe now.

You might also like