न्यूज़ विंग
कल का इंतज़ार क्यों, आज की खबर अभी पढ़ें

राजीव गांधी की मौत के लिए भाजपा जिम्मेदार, वीपी सिंह सरकार ने राजीव को अतिरिक्त सुरक्षा नही दीं : पटेल

अहमद पटेल ने पूर्व प्रधानमंत्री राजीव गांधी की मौत के लिए भाजपा को जिम्मेदार ठहराते हुए आरोप लगाया कि भाजपा समर्थित तत्कालीन वीपी सिंह सरकार ने राजीव गांधी को अतिरिक्त सुरक्षा देने से मना कर दिया था.

70

NewDelhi : पूर्व प्रधानमंत्री राजीव गांधी की मौत के लिए भाजपा  जिम्मेदार है. यह कांग्रेस नेता अहमद पटेल का कहना हैै. पटेल ने चुनाव प्रचार के क्रम में पूर्व प्रधानमंत्री राजीव गांधी पर निशाना साधने के लिए प्रधानमंत्री  मोदी और भाजपा पर निशाना साधा है. अहमद पटेल ने पूर्व प्रधानमंत्री राजीव गांधी की मौत के लिए भाजपा को जिम्मेदार ठहराते हुए आरोप लगाया कि भाजपा समर्थित तत्कालीन वीपी सिंह सरकार ने राजीव गांधी को अतिरिक्त सुरक्षा देने से मना कर दिया था.

अहमद पटेल ने ट्वीटर पर लिखा, भाजपा के समर्थन वाली वीपी सिंह सरकार ने राजीव गांधी को अतिरिक्त सुरक्षा देने से इनकार कर दिया था और खुफिया सूचनाओं और बार-बार सुरक्षा के आग्रह के बावजूद उन्हें एक पीएसओ के साथ छोड़ दिया गया. राजीव जी उनकी नफरत के कारण अपनी जान गंवा बैठे.  कहा कि वे अपने खिलाफ लग रहे आधारहीन आरोपों का जवाब देने के लिए हम लोगों के बीच नहीं हैं.

इसे भी पढ़ेंः दोहरी नागरिकता मामले में राहुल को राहतः सुप्रीम कोर्ट ने खारिज की याचिका

आईएनएस विराट को प्राइवेट टैक्सी के रूप में प्रयोग किया

Related Posts

मोदी सरकार खुफिया अफसरों के माध्यम से  महबूबा मुफ्ती  और उमर अब्दुल्ला का रुख भांप रही है!

केंद्र सरकार  घाटी में शांति और सद्भाव स्थापित करने के मकसद से राज्य दो पूर्व मुख्यमंत्रियों को साधने की कोशिश में जुटी है.

SMILE

अहमद पटेल का यह बयान दिवंगत प्रधानमंत्री राजीव गांधी को लेकर कांग्रेस और भाजपा की जुबानी जंग के बीच आया है.  बुधवार को प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी ने आरोप लगाया था कि जब राजीव गांधी प्रधानमंत्री थे तब गांधी परिवार ने आईएनएस विराट को प्राइवेट टैक्सी के रूप में प्रयोग किया.  इससे पहले भी मोदी ने राजीव गांधी को भ्रष्टाचारी नंबर 1 करार दिया था.बता दें कि दिल्ली में  आयेाजित रैली में पीएम मोदी ने कहा, आईएनएस विराट का इस्तेमाल एक निजी टैक्सी की तरह करके इसका अपमान किया गया.  यह तब हुआ जब राजीव गांधी एवं उनका परिवार 10 दिनों की छुट्टी पर गये थे.

आईएनएस विराट को हमारी समुद्री सीमा की रक्षा के लिए तैनात किया गया था, किन्तु इसका रूट बदल कर गांधी परिवार को लेने के लिए भेजा गया जो छुट्टियां मना रहा था.  मोदी ने यह दावा भी किया कि गांधी परिवार को लेने के बाद आईएनएस विराट द्वीप पर 10 दिनों तक खड़ा रहा. मोदी ने सवाल किया था, राजीव गांधी के साथ उनके ससुराल के लोग भी थे जो इटली से आये थे.  सवाल यह है कि क्या विदेशियों को एक युद्धपोत पर ले जाकर देश की सुरक्षा के साथ समझौता नहीं किया गया?

इसे भी पढ़ेंः मोदी की आर्थिक सलाहकार परिषद के सदस्य ने कहा, भारत की अर्थव्यवस्था गहरे संकट में फंसने जा रही है

हमें सपोर्ट करें, ताकि हम करते रहें स्वतंत्र और जनपक्षधर पत्रकारिता...

Get real time updates directly on you device, subscribe now.

You might also like
%d bloggers like this: