Uttar-Pradesh

पशुधन घोटाले को लेकर सीएम योगी आदित्यनाथ सख्त, डीआईजी रैंक के दो अधिकारी सस्पेंड

Lucknow. यूपी के पशुधन विभाग में हुए करोड़ों के घोटाले पर सीएम योगी सख्त हो गए हैं. घोटाले के आरोप में यूपी सरकार ने दो आईपीएस अधिकारियों को सस्पेंड कर दिया है. सस्पेंड होने वाले दोनों अधिकारी डीआईजी रैंक के हैं.

Jharkhand Rai

 

इसे भी पढ़ें- पूर्व नक्सली बहादुर ऑटो चलाकर कर रहा परिवार का भरण पोषण, दर्ज थे 25 मुकदमे

जांच के बाद निलंबित

इन दोनों अधिकारियों का नाम पशुधन विभाग में फर्जी टेंडर दिलाने के मामले में आया था, जिसमें हुई जांच के बाद उन्हें निलंबित किया गया है. इसमें DIG रूल्स और मैनुअल दिनेश दुबे और DIG PAC अरविंद सेन पर कार्रवाई की हुई है. इससे पहले इसी केस में आरोपियों के मददगार हेड कांस्टेबल दिलबहार सिंह को भी निलंबित किया गया था. दोनों का नाम पशुधन घोटाला में आया था.

Samford

क्या है पशुधन घोटाला

पशुधन विभाग में फ़र्ज़ी टेंडर के जरिये मध्य प्रदेश निवासी मंजीत भाटिया से 9 करोड़ 27 लाख की रकम की ठगी गई थी. हेड कॉन्स्टेबल दिलबहार ने ही 31 मार्च, 2019 को पीड़ित मंजीत भाटिया को अन्य सिपाहियों के साथ उठाकर नाका कोतवाली में उसे खूब धमकाया था. उसके बाद ये मामला सामने आया था. इस मामले को लेकर सीएम योगी आदित्यनाथ सख्त हो गए हैं.

कई गिरफ्तारियां

इस मामले में पशुधन राज्यमंत्री जयप्रताप निषाद के निजी प्रधान सचिव रजनीश दीक्षित, निजी सचिव धीरज कुमार देव, पत्रकार आशीष राय, अनिल राय, कथित पत्रकार एके राजीव, रूपक राय और उमाशंकर को 14 जून को गिरफ्तार किया गया था.

Advertisement

6 Comments

  1. I love looking through a post that can make people think. Also, many thanks for permitting me to comment!

Leave a Reply

Your email address will not be published.

Related Articles

Back to top button
%d bloggers like this: