न्यूज़ विंग
कल का इंतज़ार क्यों, आज की खबर अभी पढ़ें

AN-32 विमान हादसा : तलाशी अभियान पूरा, सेना ने  सभी 13 शव बरामद किये

रूस निर्मित यह एएन-32 विमान तीन जून की दोपहर असम के जोरहाट से चीन की सीमा के निकट मेंचुका एडवांस्ड लैंडिंग ग्राउंड जा रहा था.

61

NewDelhi : भारतीय वायु सेना के AN-32 विमान के दुघर्टनाग्रस्त होने के बाद विमान में सवार सभी 13 सदस्यों के शव सेना ने बरामद कर लिये हैं. जानकारी के अनुसार इनमें से कुछ सदस्यों के शव काफी खराब हालात में मिले हैं. रूस निर्मित यह एएन-32 विमान तीन जून की दोपहर असम के जोरहाट से चीन की सीमा के निकट मेंचुका एडवांस्ड लैंडिंग ग्राउंड जा रहा था. उड़ान भरने के 33 मिनट बाद ही उससे संपर्क टूट गया था, जिसके बाद से तलाशी अभियान जारी था.

mi banner add

विभिन्न एजेंसियों के आठ दिनों तक चले खोजी अभियान के बाद 11 जून को  विमान का मलबा अरुणाचल प्रदेश में सियांग और शी-योमी जिलों की सीमा पर गट्टे गांव के पास समुद्रतल से 12,000 फीट की ऊंचाई पर वायुसेना के एमआइ-17 हेलीकॉप्टर द्वारा देखा गया था.

इसे भी पढ़ेंः राहुल गांधी का राफेल राग जारी, राष्ट्रपति के अभिभाषण के बाद कहा, मेरा रुख नहीं बदला, राफेल डील में चोरी हुई

सेना ने बरामदगी के लिए स्थानीय शिकारियों की मदद ली

Related Posts

चीन ने फिर चली चाल, श्रीलंका को तोहफे में दिया युद्धपोत

हिंद महासागर में दबदबा बढ़ाने की चीन की कोशिश

उसके बाद सेना के गरुण कमांडो, पोर्टर और शिकारियों का एक दल इस विमान की तलाश कर रहा था.  सेना ने इसकी बरामदगी के लिए स्थानीय शिकारियों की भी मदद ली थी, उसके बाद अब विमान के बारे में जानकारी मिली और सभी शव बरामद कर लिये गये.  AN-32 एयरक्राफ्ट में  विंग कमांडर जीएम चार्ल्स,- स्क्वाड्रन लीडर एच विनोद, फ्लाइट लेफ्टिनेंट आर थापा, फ्लाइट लेफ्टिनेंट ए तंवर, फ्लाइट लेफ्टिनेंट एस मोहंती, फ्लाइट लेफ्टिनेंट एम के गर्ग, वारेंट ऑफिसर केके मिश्रा, सार्जेंट अनूप कुमार,कारपॉरल शेरिन, लीड एयरक्राफ्ट मैन एसके सिंह, लीड एयरक्राफ्ट मैन पंकज, नॉन कॉम्बैट एंप्लॉयी पुतालीनॉन,  कॉम्बैट एंप्लॉयी राजेश कुमार सवार थे.

इसे भी पढ़ेंः गुजरात: दलित सरपंच के पति की पीट-पीटकर हत्या

हमें सपोर्ट करें, ताकि हम करते रहें स्वतंत्र और जनपक्षधर पत्रकारिता...

Get real time updates directly on you device, subscribe now.

You might also like
%d bloggers like this: