JharkhandRanchi

BNR चाणक्य व गुरु नानक हॉस्पिटल समेत 20 के पास नहीं है नक्शा या ऑक्यूपेंसी सर्टिफिकेट, नोटिस जारी

Ranchi: रांची नगर निगम ने राजधानी में बन रहे बिना ऑक्यूपेंसी सर्टिफिकेट और नक्शे वाले 20 बिल्डिंगों पर ठोस कार्रवाई की है. निगम के टाउन प्लानर मनोज कुमार के नेतृत्व में बुधवार को स्टेशन रोड में अवैध रूप से संचालित होटलों व अपार्टमेंट व अस्पताल की जांच की गयी. जांच में 20 ऐसे बिल्डिंगों की जांच की गयी. जिसमें कई के पास नक्शे तो थे. लेकिन अधिकतर ने निगम से ऑक्यूपेंसी सर्टिफिकेट नहीं लिया था.

निगम ने ऐसे सभी भवनों के ऑनर व वहां कार्यरत कर्मचारियों को नोटिस देकर 24 घंटे के अंदर सारे कागजात के साथ उपस्थित होने का निर्देश दिया. टाउन प्लानर ने बताया कि कागजात जमा नहीं करने वाले संबंधित भवन के मालिकों पर बिना ऑक्यूपेंसी सर्टिफिकेट के भवन का संचालन करने के मामले में प्राथमिकी दर्ज करायी जायेगी. ऐसे बिल्डिंग में स्टेशन रोड स्थित होटल बीएआर चणाक्य व गुरु नानक हॉस्पिटल भी शामिल हैं.

इसे भी पढ़ें- पुराने मंत्री ही रहेंगे केजरीवाल सरकार में, किसी नये को मौका नहीं

कई बिल्डिंगों पर निगम ने की कार्रवाई

टाउन प्लानर ने बताया कि निगम को जानकारी मिली है कि राजधानी में ऐसे कई अवैध बिल्डिंग निर्माणाधीन है या काम चल रहा है. कर्बला चौक से आगे स्थित नूर टॉवर व्यवसायिक सह आवासीय भवन में होप वेल अस्पताल चल रहा है. इसका नक्शा बेसमेंट, ग्राउंड के अलावा 5 मंजिला पास है, लेकिन इसमें चल रहे हॉस्पिटल चलाने की अनुमति नहीं ली गयी है.

इसी तरह से गुरु नानक हॉस्पिटल एवं रिसर्च सेंटर का नक्शा निगम से पास नहीं है. साथ ही यहां फायर फाइटिंग की भी व्यवस्था नहीं है. हॉस्पिटल यहां पर बेसमेंट, ग्राउंड के अलावा 3 मंजिला बना है. होटल वीणा का संचालन भी बिना ऑक्यूपेंसी सर्टिफिकेट के हो रहा है. होटल ग्रीन होराइजन के पास होटल का नक्शा स्वीकृत है. लेकिन ऑक्यूपेंसी सर्टिफिकेट नहीं लिया गया है.

इसे भी पढ़ें- राज्य में जल्द बनेगी कौशल विद्या अकादमी, प्रस्ताव पर हेमंत सोरेन ने दी सहमति

होटल कैपिटोल रेसीडेंसी का भी नक्शा स्वीकृत है, लेकिन ऑक्यूपेंसी सर्टिफिकेट नहीं लिया गया है. होटल द एलीमेंट का भी नक्शा पास बताया गया, लेकिन ऑक्यूपेंसी सर्टिफिकेट नहीं दिखाया गया. अमृत होटल के पास नक्शा पास होने की जानकारी नहीं है.

इसी तरह से स्टेशन रोड स्थित होटल बीएनआर चाणक्या के पास नक्शा पास तो है, लेकिन ऑक्यूपेंसी सर्टिफिकेट नहीं लिया गया है. निगम ने ऐसे सभी बिल्डिंग मालिकों को नक्शा व ऑक्यूपेंसी सर्टिफिकेट 24 घंटे में जमा करने का निर्देश दिया गया है.

Advertisement

Related Articles

Back to top button
%d bloggers like this: