JharkhandJharkhand PoliticsLead NewsRanchi

19 महीने की सरकार ने वादाखिलाफी से जनता को किया शर्मसार, कदम-कदम पर हो रही कमीशन खोरीः दीपक प्रकाश

Ranchi: प्रदेश भाजपा ने शनिवार को प्रदेशभर में मानव श्रृंखला बनायी. हेमंत सरकार की कार्यशैली पर सवाल उठाये. मोरहाबादी, रांची में रांची महानगर की ओर से आयोजित कार्यक्रम में प्रदेश अध्यक्ष और सांसद दीपक प्रकाश ने कहा कि 19 महीने की हेमंत सरकार ने वादाखिलाफी की है. सभी झारखंडियों के मान, सम्मान को धोखा दिया है. महागठबंधन की तिकड़ी झारखंड को लूटने में लगी है. इनकी हरकतों की वजह से देश दुनिया में आज हमारे लोगों का सर शर्म से झूक जा रहा है. 19 महीने में यह सरकार 19 किमी सड़क नहीं बनवा सकी है. सड़कों पर बिजली के 19 खंभे तक नहीं लगा सकी है. खराब पड़े 19 बल्ब तक नहीं बदले हैं. ऐसे में उसके निकम्मेपन पर सवाल तो उठता ही है. मौके पर राष्ट्रीय प्रवक्ता जफर इस्लाम, विधायक सीपी सिंह, रांची मेयर आशा लकड़ा, डिप्टी मेयर संजीव विजयवर्गीय सहित अन्य नेता और कार्यकर्ता भी उपस्थित थे.

इसे भी पढ़ें : कोरोना काल में हेमंत सरकार ने किया मिसमैनेजमेंट, टीकाकरण से लेकर बेड देने में भी नाकामः जफर इस्लाम

लूट की छूट रोकने में लगी है भाजपा

Catalyst IAS
ram janam hospital

दीपक प्रकाश ने कहा कि राज्य में खनिज संसाधनों की लूट का सिलसिला शुरू हुआ है. ऐसे में इसे रोकने को भाजपा अपने स्तर से दमदार, सकारात्मक विपक्ष की भूमिका में है. उसके लिये नेशन फर्स्ट है, अपना हित नहीं. राज्य में बालू, आयरन ओर, कोयला और अन्य संसाधनों की तस्करी चल रही है. शराब को सत्तारुढ़ दलों ने अपने आय का स्रोत बना लिया है. शराब के कारोबार में करोड़ों का खेल हो रहा है. सत्ता के गलियारे में घुमने वाले ही सरकार चला रहे. बिचौलियों के हाथों में शराब के ठेके दिये गये हैं. आयरन ओर के लिये 4300 करोड़ के टेंडर जारी हुए जिसमें कांग्रेस-झामुमो के नेताओं ने लूट का प्लान बनाया था. भाजपा के दबाव में यह सब रुका.

The Royal’s
Pushpanjali
Sanjeevani
Pitambara

कोरोना में मरहम की बजाये मिला कफन

कोरोना संकट में जनता की जान बचाने, उसे मरहम देने की बजाये उसे कफन देने का काम किया गया. देश दुनिया में ऐसी सरकार आज तक दुनिया में नहीं देखी गयी. आदिवासियों के हित की बात करने वाली सरकार ने सिदो कान्हो के वंशज की हत्या पर एक शब्द तक नहीं कहा. लंबे समय तक सीबीआइ जांच कराने से बचती रही. पश्चिमी सिंहभूम में 19 आदिवासी भाइयों का नरसंहार. साहेबगंज में दारोगा स्व रुपा तिर्की की हत्या हो गयी. सीबीआई जांच की मांग की गयी पर पर आज तक उसके परिजनों को न्याय नहीं मिला. रुपा के माता-पिता भटक रहे हैं. मामले में संदिग्ध बरहेट विधायक और सीएम के प्रतिनिधि पंकज मिश्रा को एसपी और लोकल पुलिस ने एक बार भी पूछताछ के लिये नहीं बुलाया. सरकार में अगर नैतिकता है तो सीबीआइ जांच कराये.

इस सरकार में पुलिस को अनैतिक तरीके से काम करने को विवश किया जा रहा है. भाजपा के 142 कार्यकर्ताओं पर फर्जी मुकदमे लादे गये हैं. यह सरकार फर्जी मुकदमे लादने में गिनीज बुक ऑफ वर्ल्ड रिकॉर्ड बनाने की तैयारी में है. एक साल के अंदर महिलाओं के खिलाफ दुष्कर्म के 4000 से अधिक केस दर्ज हुए. हर दिन 7 से अधिक लोगों की हत्या हो रही है. उग्रवाद की घटना पर अंकुश नहीं. राज्य सरकार के समर्थन से यह फिर से सर उठा रहा. ऐसे में भाजपा कार्यकर्ता चूप नहीं रहने वाले. भाजपा लगातार संघर्ष जारी रखेगी. पार्टी के कार्यकर्ता समाज, देश के लिये जीते हैं. कांग्रेस, झामुमो नेताओं के प्राइवेट लिमिटेड पार्टी और अपने परिवार के लिये नहीं.

Related Articles

Back to top button