Crime NewsJharkhandRanchi

जूनियर डॉक्‍टर से रेप की कोशिश मामले में रिम्स के चिकित्सक ने कोर्ट में किया सरेंडर

Ranchi: रिम्स में जूनियर डॉक्टर से दुष्कर्म की कोशिश करने वाले सीनियर रेजिडेंट डॉक्टर अरुण कुमार मौर्य ने सरेंडर कर दिया है. अरुण कुमार मौर्य ने मंगलवार को न्यायिक दंडाधिकारी मनीष कुमार सिंह की अदालत में सरेंडर कर दिया.

कोर्ट ने डॉक्टर को 14 दिन की न्यायिक हिरासत में जेल भेज दिया है. इस मामले में जूनियर डॉक्टर के द्वारा बीते 28 मई को आरोपी चिकित्सक के खिलाफ दुष्कर्म की कोशिश का मामला बरियातू थाना में दर्ज कराया था.

इसे भी पढ़ें- देश में 2 लाख के करीब पहुंचा कोरोना का आंकड़ा, 24 घंटे में 8 हजार से अधिक केस

पुलिस की दबिश के कारण आरोपी ने किया सरेंडर

बीते 27 मई की देर रात एक मरीज की देखरेख में जूनियर डॉक्टर आरोपी के साथ मौजूद थी. ड्यूटी खत्म कर कमरे में जाने के बाद आरोपी डॉ. अरुण कुमार मौर्या ने जूनियर डॉक्टर के साथ दुष्कर्म की कोशिश की थी. इस घटना के बाद पीड़िता ने मामला दर्ज कराया था. वहीं आरोपी घटना के बाद से फरार था. बताया जाता है कि पुलिस की दबिश के कारण आरोपी डॉक्टर ने सरेंडर किया है. उसकी गिरफ्तारी के लिए जूनियर डॉक्‍टरों द्वारा लगातार पुलिस के समक्ष प्रदर्शन किया जा रहा था.

इसे भी पढ़ें- बिना आधार कार्ड नहीं कटेंगे बाल, इन नियमों का भी करना होगा पालन

क्या है मामला

27 मई की देर रात एक मरीज को कोविड आइसीयू से कार्डियोलॉजी विभाग में शिफ्ट करने के बाद आरोपी डॉ. अरुण मौर्या ने जूनियर डॉक्टर ने था कि उसका घर बंद हो गया है और गार्ड भी कॉल नहीं उठा रहा है. इस वजह उसने जूनियर डॉक्टर के साथ रहने की इच्छा जतायी. इसपर जूनियर डॉक्टर ने आपत्ति जतायी और सिस्टर इंचार्ज से बातचीत कर पेइंग वार्ड के चौथे तल्ले में अरुण को रहने के लिए कमरा दिलवा दिया.

जबकि जूनियर डॉक्टर अपने वार्ड डी-19 में रुकी थी. कुछ देर बाद आरोपी डॉक्टर पीड़िता के कमरे में पहुंचा और उससे पानी मांगा. जब वह पानी लाने गयी तो इस दौरान आरोपी डॉक्टर ने उसके साथ छेड़छाड़ शुरू कर दी.

किसी तरह जूनियर डॉक्टर वहां से भागी और अपनी सीनियर को इस घटना की जानकारी दी. इस बीच आरोपी मौके से फरार हो गया. इसके बाद जूनियर डॉक्टर ने इसकी शिकायत रिम्स डायरेक्टर से की. अगले दिन 28 मई को मामले की सूचना बरियातू थाने की पुलिस को दी गयी थी. तब से पुलिस आरोपी की खोज में जुटी थी.

इसे भी पढ़ें- गोपालगंज हत्याकांड को लेकर तेजस्वी का नीतीश सरकार से सवाल, पूछा- कब गिरफ्तार होंगे JDU विधायक पप्पू पांडेय

Advertisement

Leave a Reply

Your email address will not be published.

Related Articles

Back to top button
Close