JharkhandMain SliderRanchi

NEWS WING IMPACT : आयुष्मान कार्डधारी से पैसे मांगने के मामले में रिम्स निदेशक बोले- हमसे गलती हुई, आयुष्मान भारत की सही से नहीं थी जानकारी

Ranchi : न्यूज विंग में ‘आयुष्मान कार्डधारी ने डॉ सीबी सहाय से लगायी इलाज की गुहार, तो डॉक्टर ने थमाया दलाल का नंबर, दलाल ने कहा पहले 50 हजार जमा करो’ शीर्षक से खबर प्रकाशित की. न्यूज विंग ने स्वास्थ्य विभाग की प्रधान सचिव निधि खरे को भी इसकी जानकारी दी. निधि खरे ने रिम्स के प्रभारी निदेशक डॉ आरके श्रीवास्तव से इस संबंध में लिखित जवाब मांगा. जबाव में रिम्स के प्रभारी निदेशक ने माना है कि हमसे गलती हुई थी, आयुष्मान भारत की सही जानकारी नहीं होने के कारण ऐसा हुआ. वहीं डॉ सीबी सहाय ने कहा, “मैंने मरीज के परिजन को दलाल का नहीं, सप्लायर का नंबर दिया था, दलाल बोलकर हव्वा बना दिया गया. मैं इतने दिनों से काम कर रहा हूं, दलाल का नंबर गरीब मरीज को क्यों दूंगा.”

इसे भी पढ़ें- रिम्स : आयुष्मान कार्डधारी ने डॉ. सीबी सहाय से लगायी इलाज की गुहार, तो डॉक्टर ने थमाया दलाल का नंबर,…

जवाब में निदेशक ने क्या लिखा

ram janam hospital
Catalyst IAS

स्वास्थ्य विभाग की प्रधान सचिव निधि खरे को लिखित जवाब देते हुए रिम्स के प्रभारी निदेशक आरके श्रीवास्तव ने कहा है, “मैंने इस संबंध में मरीज के परिजन और डॉक्टर, दोनों से बात की है. मरीज के पास गोल्डेन कार्ड 29 सितंबर का बना हुआ है. डॉक्टर ने मरीज के परिजन को ऑपरेशन में यूज होनेवाले इंप्लांट लाने के लिए सप्लायर का नंबर दिया था, जो कि गलत है. आयुष्मान भारत के तहत डिमांड करने पर रिम्स ही इंप्लांट मुहैया करायेगा. यह अधूरी जानकारी की वजह से हुआ है. आयुष्मान मित्र ने जानकारी सही से नहीं दी थी. मैंने डॉक्टर को हिदायत देते हुए नियम का पालन करने को कहा है. साथ ही इसकी जानकारी मरीज के परिजन को भी दे दी गयी है.”

The Royal’s
Pushpanjali
Sanjeevani
Pitambara

मैंने मरीज के परिजन को इंप्लांट लाने के लिए सप्लायर का नंबर दिया था. मैंने किसी भी दलाल का नंबर नहीं दिया है. मरीज के परिजन शायद मेरी बात को अच्छे से समझ नहीं पाये थे. बाद में दलाल का हव्वा बन गया. इसको लेकर निदेशक से भी मेरी बात हो गयी है.

-डॉ सीबी सहाय, रिम्स

Related Articles

Back to top button