Khas-KhabarNational

MP_Crisis: राजभवन में BJP विधायकों की परेड, फ्लोर टेस्ट को लेकर शिवराज ने SC में दाखिल की याचिका

Bhopal/New Delhi: मध्य प्रदेश में सियासी हलचल तेज है. सोमवार को विधानसभा की कार्यवाही राज्यपाल के अभिभाषण के बाद 26 मार्च के लिए स्थगित कर दी गयी, और कमलनाथ सरकार का बहुमत परीक्षण नहीं हुआ.

इसे भी पढ़ेंः#MP_Crisis: कमलनाथ सरकार को राहत! नहीं हुआ फ्लोर टेस्ट, विधानसभा 26 मार्च तक स्थगित

ram janam hospital
Catalyst IAS

The Royal’s
Pushpanjali
Sanjeevani
Pitambara

वहीं बीजेपी पूरे मामले को लेकर रेस है. एक ओऱ जहां प्रदेश के पूर्व सीएम शिवराज सिंह चौहान ने सुप्रीम कोर्ट में याचिका दायर की है. वहीं राज्यपाल के सामने बीजेपी ने अपने विधायकों की परेड करायी है.

राजभवन में बीजेपी विधायकों की परेड

मध्य प्रदेश में चल रहे राजनीतिक संकट के बीच बीजेपी विधायक राजभवन पहुंचे और राज्यपाल लालजी टंडन के सामने 107 विधायकों की परेड करायी गयी. साथ ही समर्थन पत्र सौंपा.

इसे भी पढ़ेंः#Dhanbad मारपीट मामले में न्यूज विंग की खबर पर सीएम ने अधिकारियों को उचित कार्रवाई का दिया निर्देश

बीजेपी विधायकों ने दावा किया कि कमलनाथ सरकार अल्पमत में है, इसलिए राज्यपाल जल्द से जल्द शक्ति परीक्षण करायें. इस दौरान राज्यपाल ने विधायकों को भरोसा दिया कि वह संविधान के अनुसार कार्रवाई करेंगे.

वहीं राज्यपाल से मुलाकात के बाद मध्य प्रदेश के नेता प्रतिपक्ष गोपाल भार्गव ने मीडिया को बताया कि पार्टी ने 106 विधायकों का हलफनामा राज्यपाल को सौंपा है. और भाजपा के सभी विधायक राज्यपाल लालजी टंडन के सामने उपस्थित हुए.

फ्लोर टेस्ट को लेकर सुप्रीम कोर्ट पहुंची बीजेपी

22 विधायकों के कांग्रेस छोड़ने के बाद से शुरू हुए सियासी संकट के कारण बीजेपी लगातार कमलनाथ सरकार पर फ्लोर टेस्ट का दबाव बना रही है. सोमवार को बजट सत्र की शुरुआत हुई, जहां राज्यपाल के अभिभाषण के बाद फ्लोर टेस्ट की अटकलें लगायी जा रही थी.

लेकिन ऐसा हुआ नहीं और कोरोना वायरस के संकट के कारण सदन की कार्यवाही 26 मार्च तक के लिए स्थगित कर दी गयी.

प्रदेश की कमलनाथ सरकार को विधानसभा में शक्ति परीक्षण कराने का निर्देश देने के अनुरोध के साथ राज्य के पूर्व मुख्यमंत्री शिवराज सिंह चौहान ने सोमवार को उच्चतम न्यायालय में याचिका दायर की.

राज्य के पूर्व महाधिवक्ता पुरूषेन्द्र कौरव ने यह जानकारी दी. राज्य में ताजा राजनीतिक घटनाक्रम के परिप्रेक्ष्य में यह याचिका दायर की गयी है.

कौरव ने बताया कि याचिका में कहा गया है कि प्रदेश के राज्यपाल लालजी टंडन ने मुख्यमंत्री को 16 मार्च को सदन में शक्ति परीक्षण कराने का निर्देश दिया था लेकिन इस निर्देश का कथित रूप से पालन नहीं किया गया है.

गवर्नर से मिले दिग्विजय

तेजी से बदलते घटनाक्रम के बीच कांग्रेस के वरिष्ठ नेता दिग्विजय सिंह ने राज्यपाल लालजी टंडन से मुलाकात की. हालांकि, दिग्विजय सिंह ने कहा कि मेरे राज्यपाल से अच्छे संबंध हैं, हमने राजनीति पर कोई बात नहीं की.

इसे भी पढ़ेंः#Corona की चपेट में शेयर मार्केटः सेंसेक्स 2000 अंकों से धड़ाम, निफ्टी में भी भारी गिरावट

Leave a Reply

Your email address will not be published.

Related Articles

Back to top button