न्यूज़ विंग
कल का इंतज़ार क्यों, आज की खबर अभी पढ़ें

चुनाव नतीजे घोषित होने के अगले ही दिन ही मायावती छोड़ देंगी अखिलेश का साथ : नरेश अग्रवाल

915

Hardoi (UP) : भाजपा नेता नरेश अग्रवाल ने यह दावा करते हुए कहा है कि चुनाव के नतीजे घोषित होने के दूसरे दिन ही मायावती खुद अखिलेश का साथ छोड़ देंगी. जिससे कि बहुजन समाज पार्टी (बसपा) और समाजवादी पार्टी (सपा) का गठबंधन टूट जाएगा.

नरेश ने यूपी के हरदोई में लोकसभा चुनाव प्रचार के दौरान यह बात कही. गौरतलब है कि नरेश कभी सपा में थे. लेकिन अब वह बीजेपी के नेता हैं.

इसे भी पढ़ें- चुनाव के दौरान पार्टियों की हर गतिविधि पर होगी प्रशासन की कड़ी नजरः राजीव कुमार

सड़क पर क्यों दौड़ते नजर आएंगे अखिलेश

नरेश ने इस दौरान अखिलेश यादव पर भी तंज कसते हुए कहा कि जब मायावती उनका साथ छोड़ देंगी तो अखिलेश सड़कों पर दौड़ते हुए नजर आएंगे. इस बात के पीछे नरेश ने तर्क देते हुए कहा कि लोकसभा चुनाव के नतीजे 23 मई को आ जाएंगे.

इसके बाद 24 मई को मायावती सपा पार्टी के अध्यक्ष अखिलेश का साथ यह कहते हुए छोड़ देंगी कि उन्हें मुस्लिमों और यादवों ने समर्थन नहीं दिया. इसलिए वह गठबंधन तोड़ल रही हैं. इसके बाद अखिलेश सड़कों पर दौड़ते हुए नजर आएंगे.

इसे भी पढ़ें- चतरा संसदीय सीटः गठन के 60 साल बीते, नहीं बना आजतक कोई स्थानीय सांसद  

Related Posts

#PMModi ने कहा, सुप्रीम कोर्ट का सम्मान करना जरूरी, बयान बहादुर राम मंदिर को लेकर अनाप-शनाप बयान न दें…  

पीएम मोदी ने कहा कि मामला सुप्रीम कोर्ट में चल रहा है.  कोर्ट में सभी लोग अपनी बात रख रहे हैं.  ऐसे में  बयान बहादुर कहां से आ गये?

पूर्व में मायावती मुस्लिम समाज का समर्थन ना मिलने की बात कह चुकी हैं

उल्लेखनीय है कि नरेश द्वारा इस तरह के बयान से पहले 11 अप्रैल को पहले चरण के वोटिंग के दौरान बिजनौर लोकसभा सीट के कांग्रेस प्रत्याशी नसीमुद्दीन सिद्दीकी ने भी मायावती पर आरोप लगाया था. उन्होंने तब कहा था कि चुनाव के बाद मायावती बीजेपी के साथ चली जाएंगी.

यूपी की सियासत में नेताओं के द्वारा इस तरह की बयानबाजी मुस्लिम समुदाय को ध्यान में रखकर किया जा रहा है. पहले सिद्दीकी और फिर बाद में नरेश ने मायावती के खिलाफ इस तरह का बयान देकर गठबंधन तोड़ने की बात को और तुल दे दिया है.

वहीं इस बात से भी इनकार नहीं किया जा सकता है कि मायावती पहले भी मुस्लिम समाज का समर्थन ना मिलने की बात सार्वजनिक तौर पर कर चुकी हैं. ऐसे में नेताओं के द्वारा उनके खिलाफ ऐसी बाते कहना कोई आश्चर्य नहीं है.

हमें सपोर्ट करें, ताकि हम करते रहें स्वतंत्र और जनपक्षधर पत्रकारिता...

Get real time updates directly on you device, subscribe now.

You might also like

you're currently offline

%d bloggers like this: