National

#JammuKashmir : सेना ने रामबन-गांदरबल में हुई मुठभेड़ में छह आतंकी मार गिराये, एक जवान शहीद

Srinagar : जम्मू-कश्मीर में भारतीय सेना द्वारा अलग-अलग मुठभेड़ में छह आतंकवादियों के मारे जाने की खबर है.  Article 370 हटाये जाने के बाद से पाकिस्तान पूरी तरह से बौखलाया हुआ है. वह लगातार जम्मू-कश्मीर का माहौल खराब करने की कोशिश कर रहा है. इसी कड़ी में शनिवार को राज्य के अलग-अलग तीन क्षेत्रों में पाक समर्थित आतंकवादियों ने वारदात को अंजाम देने की नाकाम कोशिश की.

इस कोशिश में मध्य कश्मीर के गांदरबल जिले में सेना ने तीन आंतकियों को मार गिराया, इन्हीं में से एक आतंकी के पाकिस्तानी होने की पुष्टि हुई है.  वहीं रामबन में हुई मुठभेड़ के दौरान सेना ने तीन और आतंकवादियों को ढेर कर दिया.इस मुठभेड़ में एक जवान शहीद हो गया और चार सुरक्षाकर्मी घायल हो गए हैं. जिनको उपचार के लिए ले जाया गया है.

advt

इसे भी पढ़ें :  #NarendraModi ने जिन अमेरिकी कंपनियों के साथ 53 हजार करोड़ का सौदा किया है, उनकी असलियत क्या है?

पहली मुठभेड़ गांदरबल में हुई

मध्य कश्मीर के गांदरबल जिले में शनिवार सुबह सुरक्षाबलों ने आतंकियों की मौजूदगी की सूचना मिली.  आनन-फानन सेना ने इलाके की घेराबंदी कर दी. आतंकियों ने खुद को घिरा हुआ देख सुरक्षाबलों पर फायरिंग शुरू कर दी.  जिसके बाद सेना, सीआरपीएफ और एसओजी की संयुक्त टीम ने पूरे इलाके को चारों ओर से घेर लिया.  इस दौरान सेना ने तीन आतंकवादियों को मार गिराया.

इसे भी पढ़ें : विधायक प्रदीप यादव को बड़ी राहत, यौन शोषण मामले में #HighCourt से मिली बेल

रामबन के बटोत इलाके में आतंकियों ने  छह लोगों को बंधक बनाया

जम्मू-श्रीनगर हाईवे पर रामबन के बटोत इलाके में आतंकियों ने शनिवार को छह लोगों को बंधक बना लिया. इनमें से सभी को छुड़ा लिया गया है. यहां सेना ने तीन आतंकवादियों को ढेर कर दिया. इस कार्रवाई में सेना का एक जवान शहीद हो गया जबकि दो पुलिसकर्मी जख्मी हैं. आतंकियों के खिलाफ सेना का ऑपरेशन समाप्त हो गया है. इसकी जानकारी जम्मू के पुलिस महानिदेशक (आईजी) मुकेश सिंह ने दी.

  डाउनटाउन में सीआरपीएफ के जवानों पर हमला

जम्मू-कश्मीर की ग्रीष्मकालीन राजधानी श्रीनगर के डाउनटाउन इलाके में शनिवार को आतंकवादियों ने सीआरपीएफ के जवानों पर ग्रेनेड से हमला किया. आतंकियों ने वारदात को उस समय अंजाम दिया जब जवान गश्त के लिए इलाके में निकले थे. हालांकि किसी भी जवान या नागरिक के हताहत होने की कोई सूचना नहीं है. हमले के बाद इलाके में सुरक्षा व्यवस्था बढ़ा दी गयी है.

इसे भी पढ़ें : विधानसभा चुनावः आदिवासी मुद्दों की अनदेखी राजनीतिक दलों को महंगी पड़ सकती है

Advertisement

Related Articles

Back to top button
%d bloggers like this: