न्यूज़ विंग
कल का इंतज़ार क्यों, आज की खबर अभी पढ़ें

दुनियाभर में अगले 48 घंटों तक इंटरनेट शटडाउन रह सकता है,  मेंटनेंस कार्य होगा : रिपोर्ट

दुनियाभर में अगले 48 घंटों के दौरान इंटरनेट कनेक्टिविटी बंद होने की बात कही गयी है. बता दें कि इंटरनेट यूजर्स को अगले 48 घंटों के लिए इंटरनेट न मिलने से परेशानी हो सकती है.

226

NewDelhi : दुनियाभर में अगले 48 घंटों के दौरान इंटरनेट कनेक्टिविटी बंद होने की बात कही गयी है. बता दें कि इंटरनेट यूजर्स को अगले 48 घंटों के लिए इंटरनेट न मिलने से परेशानी हो सकती है.  खबर है कि मुख्य डोमेन सर्वर्स अगले कुछ घंटों तक रुटीन मेंटनेंस पर रहेंगे.  Russia Today की रिपोर्ट के अनुसार अगले कुछ घंटों तक इंटरनेट यूजर्स नेटवर्क फेलियर होने की परेशानी का सामना कर सकते हैं, क्योंकि मुख्य डोमेन सर्वर्स और इससे जुड़े नेटवर्क इन्फ्रास्ट्रक्चर कुछ समय के लिए डाउन रहेंगे. रिपोर्ट के अनुसार इंटरनेट कॉर्पोरेशन ऑफ असाइन्ड नेम्स एंड नंबर्स इस दौरान क्रिप्टोग्राफिक बदलकर मेंटनेंस का काम करेंगे.  मेंटनेंस के बाद इंटरनेट की अड्रेस बुक या डोमेन नेम सिस्टम (DNS)को प्रोटेक्ट करने में मदद मिलेगी. इस संबंध में  ICANN ने कहा है कि साइबर अटैक की बढ़ती घटनाओं से बचने के लिए मेंटनेंस का यह काम करना जरूरी है.

इसे भी पढ़ेंःराफेल डील : पाक सीनेटर मलिक का ट्वीट, राहुल गांधी मोदी को एक्सपोज करने के लिए सही रणनीति अपना रहे…

इंटरनेट यूजर्स बदलाव के लिए तैयार नहीं हैं, तो परेशानी हो सकती है

बता दें कि अपने एक बयान में कम्युनिकेशन्स रेगुलेटरी अथॉरिटी (CRA) ने कहा है कि ग्लोबल इंटरनेट शटडाउन सुरक्षा, स्थिरता और लचीले डीएनएस के लिए बेहद जरूरी हो गया है .  अथॉरिटी के अनुसार अगर यूजर्स के नेटवर्क ऑपरेटर्स या इंटरनेट सर्विस प्रोवाइडर्स (ISPs) इस बदलाव के लिए तैयार नहीं हैं तो कुछ इंटरनेट यूजर्स को इससे परेशानी हो सकती है.  कहा कि उचित सिस्टम सिक्यॉरिटी एक्सटेंशन्स को इनेबल कर इस प्रभाव को नज़रअंदाज़ किया जा सकता है. इंटरनेट यूजर्स को अगले 48 घंटों के दौरान वेब पेज ऐक्सेस करने या किसी ट्रांज़ेक्शन करने में परेशानी आ सकती हैं; अगर यूजर्स आउटडेटेड ISP का इस्तेमाल करते हैं, तो ग्लोबल नेटवर्क को ऐक्सेस करने में असुविधा संभव है.

हमें सपोर्ट करें, ताकि हम करते रहें स्वतंत्र और जनपक्षधर पत्रकारिता...

Comments are closed.

%d bloggers like this: