Education & CareerLead News

IIM RANCHI : इंटिग्रेटेड मैनेजमेंट प्रोग्राम की 120 सीटों के लिए अब भी जारी है एडमिशन, SAT/IPMAT 2021 टेस्ट स्कोर जरूरी

Ranchi : आइआइएम रांची 12 वीं पास स्टूडेंट्स को मैनेजमेंट में बैचलर और मास्टर्स कोर्स एक साथ करने का मौका दे रहा है. आइआइएम रांची ने इसी साल से पांच वर्षीय इंटिग्रेटेड मैनेजमेंट प्रोग्राम शुरू किया है. एडमिशन के लिए एप्लीकेशन शुरू हो चुका है. यह सत्र 2021-26 बैच होगा जो पहला बैच कहलायेगा.

संस्थान ने कोविड की स्थिति को देखते हुए एडमिशन की तिथि को 30 जून तक रखा है. कोर्स, एडमिशन, फी आदि से संबंधित विस्तृत जानकारी https://iimranchi.ac.in/p/ipm से ली जा सकती है.

इसे भी पढ़ें : टीका लगाने को लेकर है कन्फ्यूज तो यहां जानिये उसके जवाब…

advt

120 सीट है निर्धारित

आइआइएम रांची ने इस कोर्स के लिए 120 सीटे तय की हैं. विभिन्न कैटेगरी के स्टूडेंट्स के लिए सरकार के आरक्षण नियमों का पालन किया जायेगा.

आइआइएम रांची के नोटिफिकेशन में कहा गया है कि इस कोर्स में एडमिशन आइआइएम इंदौर की ओर से लिए जाने वाले SAT/IPMAT 2021 टेस्ट स्कोर के आधार पर होगा. इसके अलावा 10वीं और 12वीं में 60 फीसदी (55 फीसदी आरक्षित श्रेणी) अंक लानेवाले स्टूडेंट्स एप्लीकेशन दे सकते हैं.

adv

बैचलर कोर्स की फ़ीस 14 लाख रुपये

आइआइएम रांची ने इस कोर्स के लिए जो फीस निर्धारित की है वो दो हिस्सों में है. यह कोर्स बीबीए+एमबीए की डिग्री देगा. इसमें पहला तीन साल बीबीए होगा. जिसकी फीस 14 लाख रुपये है.

वहीं अगले दो साल यानी एमबीए कोर्स की फीस वही होगी जो संस्थान के सामान्य एमबीए कोर्स की फीस है. सामान्य एमबीए कोर्स की फीस भी लगभग 15 लाख रुपये है.

इसे भी पढ़ें :तेजी से टीकाकरण नहीं किया गया, तो तीसरी लहर की आशंका है: एम विद्यासागर

मैनेजमेंट और सोशल साइंस का मिश्रण है यह कोर्स

इंटिग्रेटेड प्रोग्राम इन मैनेजमेंट पूरे पांच साल का कोर्स है. इसे पूरा करने के बाद यह एमबीए के समतुल्य होगा. इस कोर्स में कुल 15 टर्म्स होंगे. कोर्स को दो हिस्सों में बांटा गया है. पहला हिस्सा तीन साल का होगा जिसे फाउंडेशन कहते हैं.

दूसरा दो साल संस्थान के अनुसार पूरी तरह मैनेजमेंट पर फोकस होगा. यह कोर्स मैनेजमेंट और सोशल साइंस का मिश्रण है.

फाउंडेशन के दौरान विद्यार्थियों को सोशियोलॉजी, साइकोलॉजी, लिटरेचर, फाइन आर्ट्स, ह्यूमैनिटीज, मैथ्स, इकोनॉमिक्स, स्टैटिस्टिक्स, पॉलिटिकल साइंस पढ़ाया जायेगा. दो वर्ष पूरे होने पर विद्यार्थियों को एक सोशल इंटर्नशिप भी करना पड़ेगा.

इसे भी पढ़ें : कोविड-19 से निपटने के प्रयासों में ढिलाई नहीं बरत सकते : सिंगापुर

Related Articles

Back to top button
%d bloggers like this: