JharkhandRanchiSportsTOP SLIDER

एमएस धौनी को ICC  ने दिया  दशक का बेस्ट स्पिरिट ऑफ क्रिकेट अवॉर्ड

2011 में इंग्लैंड के खिलाफ हुए मैच के लिए ये अवॉर्ड मिला

Ranchi : एमएस धौनी (MS Dhoni)  ने क्रिकेट की दुनिया में अपने हरफनमौला प्रदर्शन से काफी कमाल दिखाया है. धौनी ने भारतीय क्रिकेट टीम को ICC के वन डे वर्ल्ड कप और T-20  विश्व कप का खिताब अपनी कप्तानी में दिलाया था. अब ICC ने उनके योगदान को बकायदा ना सिर्फ नोटिस किया है बल्कि उन्हें इसके लिए उचित सम्मान भी दिया है. आईसीसी ने सोमवार को उन्हें दशक का बेस्ट स्पिरिट ऑफ क्रिकेट अवॉर्ड दिया है.

धौनी को साल 2011 में इंग्लैंड के खिलाफ हुए मैच में खेल भावना दिखाने के लिए यह अवॉर्ड दिया है. धौनी ने नॉटिंघम टेस्ट के दौरान इयान बेल को रन आउट  होने के बावजूद वापस खेलने के लिए बुला लिया था. अब आईसीसी ने उस खेल भावना के लिए धौनी को ये सम्मान दिया है.

इसे भी पढ़ें :धनबाद : किताब महल में सात लाख की चोरी, सीसीटीवी का डीवीआर भी चुरा ले गये चोर

जब धौनी ने जीता था दुनिया का दिल

एमएस धौनी (MS Dhoni ICC Spirit of Cricket Award of the Decade) एक बेहतरीन कप्तान, बल्लेबाज और विकेटकीपर होने के साथ-साथ एक बेहद ही अच्छे इंसान भी हैं. उन्होंने अपने करियर के दौरान हमेशा खेल भावना का परिचय दिया है. साल 2011 में इंग्लैंड दौरे पर धौनी ने कुछ ऐसा किया था जिसके बाद पूरी दुनिया ने इस क्रिकेटर को सलाम किया.

इयान बेल दिलचस्प तरीके से रन आउट हुए थे

नॉटिंघम में इंग्लैंड के खिलाफ चल रहे टेस्ट मैच में इयान बेल बेहद ही दिलचस्प तरीके से रन आउट हुए थे. दरअसल मॉर्गन ने एक शॉट लगाया और बेल को लगा कि गेंद बाउंड्री पार चली गई है लेकिन फील्डर ने गेंद को पहले ही रोक लिया था. बेल पिच पर चहलकदमी कर दूसरी ओर जा रहे थे लेकिन फील्डर ने उन्हें रन आउट कर दिया. अंपायर की नजरों में बेल आउट थे लेकिन धौनी ने खेल भावना दिखाते हुए उन्हें दोबारा बल्लेबाजी का मौका दिया. बेल को दोबारा बल्लेबाजी करते देख सभी दंग रह गए और पूरी दुनिया ने धौनी को सलाम किया.

इसे भी पढ़ें :ICC डिकेड अवॉर्ड्स: माही दशक की बेस्ट वनडे और टी-20 टीम के कप्तान, कोहली तीनों टीमों में शामिल

Advertisement

Related Articles

Back to top button
%d bloggers like this: