न्यूज़ विंग
कल का इंतज़ार क्यों, आज की खबर अभी पढ़ें

#HyderabadEncounter : राष्ट्रीय मानवाधिकार आयोग ने एनकाउंटर का संज्ञान लिया, जांच होगी

मृतकों को पुलिस ने जांच के दौरान गिरफ्तार किया था और इस मामले पर फैसला अभी सुनाया जाना था.  गिरफ्तार किये गये व्यक्ति यदि वास्तव में दोषी थे तो कानून के अनुसार सजा दी जाती.

67

NewDelhi :  राष्ट्रीय मानवाधिकार आयोग (एनएचआरसी) ने हैदराबाद में एक महिला पशु चिकित्सक के सामूहिक बलात्कार और फिर उसकी हत्या कर देने के चारों आरोपियों के कथित पुलिस मुठभेड़ में मारे जाने का शुक्रवार को संज्ञान लिया और मामले की जांच के आदेश दिये. एनएचआरसी ने कहा कि आज हुई यह मुठभेड़ चिंता का विषय है और इसकी सावधानी से जांच होनी चाहिए.

एनएचआरसी ने कहा, आयोग का यह मानना है कि इस मामले की बड़ी सावधानी से जांच किये जाने की आवश्यकता है, इसी लिए आयोग ने अपने महानिदेशक (जांच) से तथ्यों का पता लगाने के लिए घटनास्थल पर तत्काल एक टीम भेजने को कहा है.

आयोग ने कहा कि वरिष्ठ पुलिस अधीक्षक (एसएसपी) की अगुवाई में आयोग की जांच शाखा के दल द्वारा तत्काल हैदराबाद के लिए निकलने और जल्द से जल्द अपनी रिपोर्ट देने की संभावना है.  उसने कहा कि घटना से साफ पता चलता है कि पुलिस कर्मी घटना पर आरोपियों द्वारा किसी प्रकार की अप्रिय घटना किये जाने के लिए तैयार और पूरी तरह सतर्क नहीं थे जिसके कारण चारों की मौत हो गयी.

इसे भी पढ़ें : #HyderabadEncounter : पुलिस कमिश्नर ने प्रेस कॉन्फ्रेंस में बताया, क्यों और कैसे हुआ एनकाउंटर

hotlips top

कानून के समक्ष समानता मौलिक मानवाधिकार हैं

आयोग ने कहा कि मृतकों को पुलिस ने जांच के दौरान गिरफ्तार किया था और इस मामले पर फैसला अभी सुनाया जाना था.  गिरफ्तार किये गये व्यक्ति यदि वास्तव में दोषी थे तो कानून के अनुसार सजा दी जाती. इससे पहले भी एनएचआरसी ने कहा था कि आपात स्थिति में तत्काल कार्रवाई करने के लिए पुलिस के पास कोई मानक संचालन प्रक्रिया नहीं है. आयोग ने कहा, जीवन का अधिकार और कानून के समक्ष समानता मौलिक मानवाधिकार हैं जो उन्हें भारत के संविधान ने दिये हैं.

इसे भी पढ़ें : #HyderabadEncounter पर सवाल, असदुद्दीन ओवैसी, शशि थरूर, सीताराम येचुरी सवाल पूछने वालों की कतार में

राज्यों और केंद्र शासित प्रदेशों को नोटिस जारी

उसने स्वीकार किया कि महिलाओं के खिलाफ बढ़ते यौन उत्पीड़न और हिंसा की घटनाओं ने लोगों में डर और आशंका का माहौल पैदा कर दिया है. आयोग ने कहा कि भले ही किसी आरोपी को पुलिस ने ही गिफ्तार क्यों न किया हो, हर परिस्थिति में मानव जीवन की क्षति समाज को गलत संदेश देगी.

आयोग ने कहा कि एनएचआरसी ने यौन उत्पीड़न की बढ़ती घटनाओं पर गंभीर चिंता जताते हुए राष्ट्रीय केंद्र तथा सभी राज्यों और केंद्र शासित प्रदेशों को नोटिस जारी किया है और उनसे ऐसे मामलों से निपटने के मानक तौर-तरीकों तथा निर्भया फंड के इस्तेमाल के बारे में जानकारी मांगी.

जान लें कि  हैदराबाद में एक पशु चिकित्सक के साथ बलात्कार और फिर उसकी हत्या करने के मामले के सभी चारों आरोपी शुक्रवार सुबह पुलिस के साथ कथित मुठभेड़ में मारे गये. इस संबंध में एक वरिष्ठ पुलिस अधिकारी ने बताया कि घटना सुबह साढ़े छह बजे की है.

इसे भी पढ़ें : #DishaCase: पुलिस #Encounter में मारे गये हैदराबाद गैंगरेप के चारों आरोपी

 

हमें सपोर्ट करें, ताकि हम करते रहें स्वतंत्र और जनपक्षधर पत्रकारिता...

Get real time updates directly on you device, subscribe now.

o1
You might also like