Crime NewsJharkhandRanchi

शिव प्रसाद हत्याकांड में SIT गठन के चार माह बाद भी पुलिस के हाथ खाली

Ranchi : लालपुर थाना क्षेत्र स्थित सब्जी मंडी के पास 7 जुलाई 2018 की रात हुए गुरुनानक स्कूल के शिक्षक शिव प्रसाद हत्याकांड को 13 महीने बीत गये हैं. लेकिन अभी तक इस मामले में पुलिस के हाथ खाली हैं. जबकि घटना के बाद पुलिस ने यह दावा किया था कि जल्द ही हत्याकांड का उद्भेदन कर मामले को सुलझा लिया जायेगा.

पुलिस को जब लंबे समय तक सफलता नहीं मिली, तो एसएसपी अनीश गुप्ता ने चाह महीने पहले तत्कालीन सिटी एसपी सुजाता वीणापानी के नेतृत्व में एसआईटी का गठन किया था. टीम में सिटी एसपी के अलावा सिटी डीएसपी और तीन इंस्पेक्टर भी शामिल किये गये. पुलिस ने पूरे मामले में नए सिरे से जांच शुरू की. हालांकि एसआईटी को अब चार महीने बीत गये हैं और इसके बावजूद अभी तक पुलिस को कोई सफलता नहीं मिल पायी है.

इसे भी पढ़ें- 370 पर बौखलाये पाकिस्तान ने अब दिल्ली-लाहौर बस सेवा निलंबित की

advt

हत्यारों की जानकारी देने वाले के लिये की थी इनाम की घोषणा

शिव प्रसाद हत्याकांड में शामिल अपराधियों के बारे में जानकारी देने वालों को 50 हजार रुपए का इनाम देने की घोषणा रांची पुलिस ने 7 फरवरी को की थी. हालांकि घोषणा किए जाने के बाद से आज तक पुलिस को किसी ने घटना के बारे में कोई सूचना नहीं दी है.

पुलिस सूत्रों की मानें, तो जल्द ही इनाम की राशि 50 हजार रूपए से बढ़ा कर 5 लाख रुपए करने की तैयारी चल रही है. इसके लिए पुलिस मुख्यालय को प्रस्ताव भेज दिया गया है. इनाम की राशि बढ़ने के बाद पुलिस पूरे शहर में पोस्टर चिपका कर पोस्टर के माध्यम से लोगों को जानकारी देगी कि हत्यारे के बारे में सूचना देने पर उनका नाम और पता गुप्त रखा जायेगा और उन्हें इनाम के तौर पर पांच लाख रुपये दिये जायेंगे.

इसे भी पढ़ें- जम्मू में पटरी पर लौटी जिंदगी, हटायी गयी धारा 144, श्रीनगर में बकरीद पर मिल सकती है कर्फ्यू में ढील

कई लोगों से पूछताछ कर चुकी है पुलिस

हत्या मामले में पुलिस ने सबसे पहले शिव की गर्लफेंड से पूरे मामले में पूछताछ की थी. इसके बाद पुलिस ने ससुराल वालों से पूछताछ की. इसके बाद भी जब पुलिस को इस मामले में कोई सुराग नहीं मिल सका तो पुलिस ने शिव के करीबी लोगों से पूछताछ की.

adv

इस पूछताछ में शिव की दर्जनों से ज्यादा गर्लफेंड और उसके दोस्त भी शामिल थे. इतने लोगों से पूछताछ में पुलिस के हाथ ऐसा कोई सुराग नहीं लगा था जिससे यह स्पष्ट हो सके कि हत्या का कारण क्या है. कई दिनों तक पूछताछ करने के बाद भी पुलिस को कोई सुराग नहीं मिला.

इसे भी पढ़ें- BSL से व्यापार करने वाली 200 कंपनियां बंद होने के कगार पर, स्टील मिनिस्टर से हस्तक्षेप करने की मांग

क्या था मामला

7 जुलाई की रात 8:30 बजे लालपुर थाना क्षेत्र के सब्जी बाजार के पास दो अपराधियों ने गुरुनानक स्कूल के शिक्षक शिव प्रसाद की गोली मार कर हत्या कर दी थी. घटना को अंजाम स्कूटी सवार दो अपराधियों ने दिया और लालपुर चौक की ओर भाग निकले. घटना की सूचना मिलने के बाद पीसीआर वैन वहां पहुंची और शिव प्रसाद को लेकर रिम्स पहुंची. जहां चिकित्सकों ने उन्हें मृत घोषित कर दिया था.

इस तरह के कई ऐसे हत्याकांड जिसका आज तक नहीं हो पाया खुलासा

  • 20 अगस्त 2018- सदर थाना क्षेत्र के कोकर स्थित ईमाम कोठी में केयर टेकर मोहन श्रीवास्तव को अपराधियों ने दिन दहाड़े चाकू मारकर हत्या कर दी थी.
  • 2 दिसंबर 2018- पंडरा ओपी क्षेत्र के रहने वाले सामी मुंडा को अज्ञात अपराधियों ने गोली मार दी थी. जिसके बाद 15 दिसंबर को उनकी मौत हो गयी.
  • 29 दिसंबर 2018- बड़ा घाघरा में जमीन कारोबारी अरुण किस्पोट्टा की गोली मारकर हत्या कर दी गयी थी.
  • 8 जनवरी 2019- डोरंडा थाना क्षेत्र के घाघरा में अज्ञात अपराधियों ने ग्रामसभा के सचिव शंकर सुरेश के दोस्त सामू की गोली मारकर हत्या कर दी थी. वहीं घटना में शंकर सुरेश भी गंभीर रूप से घायल हो गए थे.
  • 9 दिसंबर 2018- डोरंडा थाना क्षेत्र के बड़ा घाघरा में अपराधियों ने अमित टोप्पो नाम के युवक की गोली मारकर हत्या कर दी थी. इस मामले में पुलिस अभी तक किसी भी अपराधियों को गिरफ्तार नहीं कर सकी है.

advt
Advertisement

Related Articles

Back to top button