न्यूज़ विंग
कल का इंतज़ार क्यों, आज की खबर अभी पढ़ें

पीएम के प्रोग्राम के लिए डीटीओ ने बसें मांगी, बंद रहेंगे स्कूल

पीएम के प्रोग्राम के लिए डीटीओ ने बसें मांगी, बंद रहेंगी स्कूलें

3,484

Ranchi: प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी के कार्यक्रम को सफल बनाने का एक और हथकंडा अपनाया गया है. रांची के जिला परिवहन पदाधिकारी (डीटीओ) ने सभी निजी स्कूलों से बसें मांग ली हैं. इस वजह से प्रबंधन को शनिवार को स्कूलों को बंद करना पड़ा है. सभी निजी स्कूलों ने स्कूल बंद करने का नोटिस और एसएमएस अभिभावकों को भेजा है. कई स्कूलों में परीक्षा चल रही है. स्कूल बंद करने की वजह से परीक्षा और टेस्ट को भी रद्द करना पड़ा है. कुछ स्कूल प्रबंधनों ने मुहर्रम का बहाना बना कर स्कूल बंद करने की घोषणा की है. जबकि मुहर्रम के लिए शुक्रवार को ही स्कूलों में छुट्टी कर दी गयी थी. सुरेंद्रनाथ सेंटेनरी स्कूल ने मुहर्रम की बात कह कर स्कूल बंद होने की सूचना दी है. डीएवी ग्रुप ने प्रधानमंत्री के कार्यक्रम होने की बात कह कर स्कूल बंद किया है. संत फ्रांसिस स्कूल ने अभिभावकों को एसएमएस भेज कर कहा है कि प्रधानमंत्री के कार्यक्रम के लिए बसें ले ली गयी हैं, इस वजह से नर्सरी से कक्षा 5 तक की कक्षाएं शनिवार को स्थगित रहेंगी. बिशप वेस्टकॉट गर्ल्स स्कूल, नामकुम ने भी अपने एसएमएस में कहा है कि जिला प्रशासन के आदेश के कारण स्कूल बंद रहेगा.

पीएम के प्रोग्राम के लिए डीटीओ ने बसें मांग स्कूलें बंद करायीं

इसे भी पढ़ें- आयुष्मान भारत योजना: झारखंड सरकार और नेशनल इंश्योरेंस के बीच एमओयू

खेलगांव में बसें भेजने का निर्देश दिया

सभी स्कूलों को पत्र लिख कर डीटीओ ने निर्देश दिया है बसें शनिवार को सुबह 10 बजे खेलगांव परिसर में उपलब्ध करा दी जायें, जिससे प्रधानमंत्री के विभिन्न कार्यक्रमों में लोगों को ले जाया जा सके. बसें उपलब्ध कराने को डीटीओ ने सर्वोच्च प्राथमिकता देने को कहा है. मतलब साफ है कि इन बसों का इस्तेमाल पीएम के कार्यक्रम में किया जायेगा.

इसे भी पढ़ें- आयुष्मान भारत के तहत लाभुकों का निबंधन शुरू, रिम्स में 35 लोगों का बना गोल्डेन कार्ड

इसे भी पढ़ें- युवाओं को रोजगार हमारी सबसे बड़ी प्राथमिकता : रघुवर दास

कौन करेगा इस एक दिन की पढ़ाई की भरपाई

सीबीएसई और आइसीएसई की गाइडलाइन के मुताबिक पूरे सिलेबस के लिए एक गाइडलाइन तैयार की जाती है. पढ़ाई के कोर्स को पूरा करने के लिए शिड्यूल बना रहता है. एक पूरे दिन की पढ़ाई का नुकसान हजारों विद्यार्थियों को हुअा है. इस नुकसान की भरपाई कैसे होगी यह कोई नहीं बता पा रहा है.

हमें सपोर्ट करें, ताकि हम करते रहें स्वतंत्र और जनपक्षधर पत्रकारिता...

Get real time updates directly on you device, subscribe now.

Comments are closed.

%d bloggers like this: