Corona_UpdatesHEALTHJharkhandRanchi

रांची में 18-20 दिन बाद भी नहीं मिल रही कोविड टेस्ट रिपोर्ट, समय पर इलाज शुरू न होने से हो रहीं मौतें

Ranchi: रांची में कोविड की टेस्ट रिपोर्ट 18-20 दिनों के बाद भी नहीं मिल पा रही है. हाल यह है कि सदर हॉस्पिटल, रिम्स, सीसीएल गांधीनगर हॉस्पिटल सहित विभिन्न सरकारी स्वास्थ्य केंद्रों में कोविड टेस्ट के हजारों सैंपल पेडिंग हैं.

यह हाल तब है, जब सैंपल्स की बड़ी खेप जांच के लिए भुवनेश्वर भेजी गयी थी. जाहिर है, रिपोर्ट न मिलने से कई लोग बेफिक्र होकर इधर-उधर घूमते रहते हैं. ऐसे कई लोग कोरोना करियर भी बन रहे हैं.

advt

देबलीना नामक महिला ने डोरंडा रिसालदार नगर शहरी सामुदायिक केंद्र पर 27 मार्च को अपराह्न 1 बजकर 6 मिनट पर आरटीपीसीआर टेस्ट के लिए सैंपल दिया था. आज 20 दिनों के बाद भी उन्हें टेस्ट रिपोर्ट नहीं मिल पायी है.

इसे भी पढ़ें:रांची विश्वविद्यालय के क्षेत्रीय व जनजातीय भाषा विभाग के पूर्व अध्यक्ष डॉ गिरिधारी राम गौंझू नहीं रहे

इसी तरह शिप्रा चक्रवर्ती ने भी इसी सेंटर पर 27 मार्च को ही स्वाब सैंपल दिया था, लेकिन उन्हें आज तक नहीं पता चल पाया कि वह निगेटिव हैं पॉजिटिव. उनका एसआरएफ नंबर 2033900495516 है.

उन्हें बताया गया था कि वेबसाइट पर उन्हें टेस्ट रिपोर्ट मिल जायेगी. आज की तारीख में वेबसाइट पर सर्च करने पर बताया जा रहा है कि उनकी रिपोर्ट अब तक तैयार नहीं हुई है.

वेबसाइट पर सर्च करने पर बताया जा रहा है कि अगर सैंपल देने के पांच दिन बाद भी रिपोर्ट नहीं मिलती है तो हेल्पलाइन नंबर 0651 2220040 पर संपर्क करें. अब इस हेल्पलाइन नंबर का हाल यह है कि यहां रिंग होता रहता है, लेकिन कोई रिस्पांस नहीं मिलता.

रांची के कांके थाना क्षेत्र के पतरातू निवासी कुलदीप मुंडा ने हफ्ते भर पहले कोविड का टेस्ट कराया था. उनकी रिपोर्ट कल शाम आठ बजे आयी. वह कोविड पॉजिटिव थे. रिपोर्ट आने के लगभग आधे घंटे बाद ही उनका देहांत हो गया.

झारखंड के एक सांसद के रिश्तेदार की भी कोविड टेस्ट रिपोर्ट पांच दिन बाद मिली. तब तक उनका इलाज जेनरल वार्ड में चलता रहा. टेस्ट रिपोर्ट मिलने के बाद उन्हें आइसीयू में शिफ्ट किया गया, लेकिन कुछ घंटे बाद ही उन्होंने दम तोड़ दिया.

इसे भी पढ़ें:रांची के प्रसिद्ध वकील बंशी बाबू नहीं रहे

Advertisement

Related Articles

Back to top button
%d bloggers like this: