National

कनाडाई अक्षय कुमार के INS सुमित्रा पर सवार होने को लेकर कांग्रेस ने मोदी को घेरा

विज्ञापन

New Delhi: लोकसभा चुनाव में पीएम मोदी और गांधी परिवार लगातार एकदूसरे पर निशाना साध रहे हैं. प्रधानमंत्री ने पूर्व प्रधानमंत्री राजीव गांधी पर सनसनीखेज आरोप लगाये हैं. जिससे राजनीतिक पारा और चढ़ गया है.

प्रधानमंत्री नरेन्द्र मोदी ने बुधवार को सनसनीखेज आरोप लगाते हुए कहा कि जब राजीव गांधी प्रधानमंत्री थे तो गांधी परिवार युद्धपोत आईएनएस विराट का उपयोग निजी टैक्सी के रूप में करता था. इससे पहले भी मोदी ने राजीव गांधी को भ्रष्टाचारी नंबर-1 करार दिया था.

इसे भी पढ़ेंःनीति आयोग ने चुनाव अभियान में पीएम की मदद करने के आरोपों को ठहराया गलत: सूत्र

advt

मोदी पर कांग्रेस का वार

इसे लेकर अब कांग्रेस ने भी मोदी पर निशाना साधा है. एक रिपोर्ट के मुताबिक, अक्षय कुमार ने नौसेना प्रमुख और अन्य अति विशिष्ठ व्यक्तियों के साथ आइएनएस सुमित्रा में यात्रा की थी.

इसी बात को लेकर कांग्रेस की सोशल मीडिया रणनीतिकार दिव्या स्पंदना ने कांग्रेस पर निशाना साधा है. दिव्या ने मोदी के बयान पर पलटवार करते हुए कहा कि क्या यह ठीक था कि आप कनाडाई नागरिक अक्षय कुमार को अपने साथ आइएनएस सुमित्रा पर लेकर गए थे.

उल्लेखनीय है कि अक्षय कुमार ने अपनी नागरिकता को लेकर हो रही बातों पर विराम लगाते हुए कहा था कि उनके पास कनाडा का पासपोर्ट है. इससे यह साफ होता है कि अक्षय कनाडाई नागरिक हैं.

इसे भी पढ़ेंःहोने लगी एनडीए में पीएम बदलने की मांग, जदयू नेता ने कहा- नीतीश बनें प्रधानमंत्री

adv

प्रधानमंत्री को इतने झूठ आखिर बताता कौन है : चिदंबरम

पूर्व प्रधानमंत्री राजीव गांधी के आईएनएस विराट का इस्तेमाल छुट्टी मनाने के लिए करने संबंधी प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी के आरोप को लेकर उन पर निशाना साधते हुए कांग्रेस के वरिष्ठ नेता पी चिदंबरम ने शुक्रवार को सवाल किया कि आखिर मोदी को इतने झूठ कौन बताता है और वह तथ्यों की जांच किये बिना बोलते क्यों हैं.

चिदंबरम ने संप्रग सरकार के समय की ‘सर्जिकल स्ट्राइक’ का हवाला देते हुए ट्वीट किया कि यदि प्रधानमंत्री को संप्रग सरकार के दौरान सीमा पार कार्रवाई के सबूत नहीं मिले, तो इसका मतलब है कि जानकारी उनसे छुपाई जा रही है. आप उन जनरल से बात क्यों नहीं करते जिन्होंने कहा कि यह(सीमा पर करवाई) पहली बार नहीं है और यह आखिरी बार भी नहीं है?’

उन्होंने सवाल किया कि मैं उत्सुक हूं, यह जानने के लिए कि प्रधानमंत्री को ये झूठ कौन बताता है? प्रधानमंत्री तथ्यों की जांच किए बिना झूठ क्यों बोलते हैं? चिदंबरम ने कहा कि नरेंद्र मोदी का एक और झूठ पकड़ा गया. नौसेना के शीर्ष अधिकारियों ने कहा है कि राजीव गांधी ने आईएनएस विराट का उपयोग आधिकारिक यात्रा के लिए ही किया था.

इसे भी पढ़ेंःकोयले का काला खेलः जब्त कोयले की लोडिंग के लिए पकड़े गये पेलोडर का इस्तेमाल

क्या कहा था मोदी ने

कांग्रेस पर वंशवाद की राजनीति का आरोप लगाते हुए प्रधानमंत्री ने दावा किया कि राजीव गांधी के नेतृत्व वाली तत्कालीन सरकार और नौसेना ने उनके परिवार एवं ससुराल पक्ष की मेजबानी की. और उनकी सेवा में एक हेलीकाप्टर को भी लगाया गया.

मोदी ने कहा, ‘‘आईएनएस विराट का इस्तेमाल एक निजी टैक्सी की तरह करके इसका अपमान किया गया. यह तब हुआ जब राजीव गांधी एवं उनका परिवार 10 दिनों की छुट्टी पर गये हुए थे.

आईएनएस विराट को हमारी समुद्री सीमा की रक्षा के लिए तैनात किया गया था, किन्तु इसका मार्ग बदल कर गांधी परिवार को लेने के लिए भेजा गया जो अवकाश मना रहा था.’’

उन्होंने यह भी दावा किया कि गांधी परिवार को लेने के बाद आईएनएस विराट द्वीप पर 10 दिनों तक खड़ा रहा.

मोदी ने सवाल किया, ‘‘राजीव गांधी के साथ उनके ससुराल के लोग भी थे जो इटली से आये थे. सवाल यह है कि क्या विदेशियों को एक युद्धपोत पर ले जाकर देश की सुरक्षा के साथ समझौता नहीं किया गया?’’

मोदी ने कहा, ‘‘क्या यह कभी कल्पना की जा सकती है कि भारतीय सशस्त्र सेनाओं के प्रमुख युद्धपोत का इस्तेमाल निजी अवकाश के लिए एक टैक्सी की तरह किया जाए ?’’

बता दें कि विमान वाहक आईएनएस विराट को भारतीय नौसेना में 1987 में सेवा में लिया गया था. करीब 30 वर्ष तक सेवा में रहने के बाद 2016 में इसे सेवा से अलग किया गया.

 

advt
Advertisement

Related Articles

Back to top button