न्यूज़ विंग
कल का इंतज़ार क्यों, आज की खबर अभी पढ़ें
Browsing Category

Opinion

LED बल्ब बेचने वाली EESL कंपनी अब 36 हजार की AC 41 हजार में बेचेगी

Girish MalviyaEESL कम्पनी पर जरा नजरें बनाए रखिए.…यही कम्पनी है जो आपको लगभग 36 हजार में आने वाला AC 41 हजार तीन सौ में बेचने वाली है, जिसके लिए उसने टाटा की वोल्टास कंपनी से 50 हजार  का 5 स्टार AC खरीदने का ऑर्डर दिया हुआ है... यही…

यही हाल रहा तो विधानसभा चुनाव में भाजपा को मिल जायेगा “वॉक ओवर”

Surjit Singh“वॉक ओवर”. क्रिकेट, फुटबॉल में इस्तेमाल होने वाला यह शब्द अब झारखंड के राजनीतिक हलकों में इस्तेमाल होने लगा है. वजह है विधानसभा चुनाव को लेकर सत्ता पक्ष (भाजपा-आजसू) और विपक्ष (झामुमो, कांग्रेस, जेवीएम व राजद) की तैयारी. कहा…

सीतारमण के बजट में स्टडी इन इंडियाः हर चीज में पहला कहे जाने की अजीब सनक

Faisal Auragस्टडी इन इंडिया को वित्त बजट में एक बड़ी महत्वकांक्षी योजना की तरह निर्मला सीतारमण ने पेश किया है. दरअसल 2018 की इस योजना को इस तरह प्रस्तुत किया गया मानों यह बिल्कुल पहली बार किया जा रहा है. विदेशी छात्रों को भारत में उच्च…

स्वागत कीजिए देश की पहली प्राइवेट ट्रेन का!

Girish Malviyaजी हां, दिल्ली और लखनऊ के बीच चलने वाली तेजस एक्सप्रेस देश की पहली प्राइवेट ट्रेन होगी, जो उन हजारों बेरोजगारों की छाती पर से दौड़ने वाली है जो सरकारी रेलवे में नौकरी का सपना संजोए बैठे हुए हैं...इंडियन रेलवे कोई छोटी-मोटी…

कर्नाटक संकटः कथित “अंतरआत्मा” के जगने के जगजाहिर “रहस्य”

Faisal Anuragलोकसभ चुनाव परिणाम के बाद से ज्यादातर विपक्षी दलों और सरकारों का संकट गहरा गया है. पहला गंभीर संकट कर्नाटक का है. कांग्रेस जनता दल सेकुलर की गंठबंधन सरकार, जो अपने गठन के समय से ही  भारतीय जनता पार्टी के निशाने पर रही है, 13…

नोटबंदी-जीएसटी से कुछ नहीं बिगड़ा तो फिर पेट्रोल-डीजल पर अतिरिक्त टैक्स क्यों ?

Girish Malviyaजीएसटी और नोटबंदी ने इस देश को बर्बाद कर दिया है. क्या आप यकीन करेंगे कि मध्य प्रदेश में 5 जुलाई से  पेट्रोल-डीजल की कीमत में लगभग साढ़े चार रुपये प्रति लीटर की वृद्धि की गयी है. केंद्र की मोदी सरकार ने 1 रुपये सेस और 1 रुपये…

मोदी सरकार का पार्ट दो बजटः न पाथब्रेकिंग न विजन की स्पष्टता

Faisal Anuragदुनिया भर में अर्थव्यवस्था के गहराते संकट के दौर में मोदी सरकार के पार्ट दो का बजट न तो पाथब्रेकिंग है और न उसमें विजन की स्पष्टता है. इस बजट का पूरा जोर अर्थव्यवस्था के बड़े आकार के दावे को लेकर है. हालांकि इस बजट में आर्थिक…

सुब्रमण्यम के ‘‘नीले आसमान में मुक्त उड़ान” की इकोनॉमी के सपने के बीच सीतारमण के बजट का निहितार्थ

Faisal Anuragइस साल तीन खरब की इकोनॉमी बनाने का लक्ष्य रखा गया है. यानी इस साल 1 खरब से अधिक की वृद्धि. बजट का मकसद इकोनॉमी को रिफॉर्म,परफॉर्म और ट्रांसफॉर्म करने पर वित्त मंत्री का जोर है.यह पांच सालों से चली आ रही नीति में किसी बड़े…

तेजी से बिगड़ती देश की अर्थव्यवस्था, बदतर हो सकते हैं हालात

Girish Malviyaजीएसटी कलेक्शन का बहुत ढोल पीटा जाता है कि वह एक लाख करोड़ के ऊपर पहुंच गया लेकिन जीएसटी को लागू किये 24 महीने होने को आये हैं और हकीकत यही है कि सिर्फ छह-सात बार ही टैक्स कलेक्शन एक लाख करोड़ के ऊपर पहुंच पाया है.15वें…

मोदी सरकार का नया बजट पुराने से कितना अलग होगा?

Faisal Anuragनिर्मला सीतारमण का बजट अरूण जेटली के बजट नीतियों का ही विस्तार होगा या उसमें कुछ नया भी होगा. चूंकि देश के आर्थिक हालात को लेकर विशेषज्ञों की टिप्पणियां और प्रकारांतक से सरकार की स्वीकारोक्ति के कारण यह सवाल पूछा जा रहा है.…