न्यूज़ विंग
कल का इंतज़ार क्यों, आज की खबर अभी पढ़ें

#CAA_Protest: लखनऊ में शायर मुनव्वर राना की बेटियों समेत 160 महिलाओं पर मुकदमा

907

Lucknow: संशोधित नागरिकता कानून (सीएए) और राष्ट्रीय नागरिकता पंजी (एनआरसी) के खिलाफ देश की महिलाओं ने मोर्चा संभाल रखा है. देशभर में धरना प्रदर्शन हो रहे हैं.

वहीं पुराने लखनऊ के घंटाघर इलाके में प्रदर्शन कर रही मशहूर शायर मुनव्वर राना की दो बेटियों समेत करीब 160 महिलाओं के खिलाफ निषेधाज्ञा के उल्लंघन के आरोप में मुकदमा दर्ज किया गया है.

इसे भी पढ़ेंःगैंगस्टर सुजीत सिन्हा तीन दिनों के रिमांड पर, कई मामलों में पूछताछ करेगी पुलिस 

160 महिलाओं के खिलाफ मुकदमा दर्ज

सीएए और एनआरसी के खिलाफ पुराने लखनऊ के घंटाघर इलाके में महिलाओं का गत शुक्रवार को शुरू हुआ प्रदर्शन मंगलवार को भी जारी है. शहर में धारा 144 के तहत निषेधाज्ञा लागू है और इसके उल्लंघन के आरोप में प्रदर्शन कर रही करीब 160 महिलाओं के खिलाफ मुकदमा दर्ज किया गया है.

Sport House

अपर पुलिस उपायुक्त विकास चंद्र त्रिपाठी ने मंगलवार को बताया कि शहर में धारा 144 लागू है, मगर इसके बावजूद महिलाएं प्रदर्शन कर रही हैं. यह निषेधाज्ञा का उल्लंघन है. इस मामले में ठाकुरगंज थाने में अब तक तीन मुकदमे दर्ज किये गये हैं. इनमें एक मुकदमे में शायर मुनव्वर राना की बेटियां फौजिया और सुमैया के नाम भी शामिल हैं.

Related Posts

#Indian_Airforce में शामिल होंगे 83 तेजस फाइटर जेट, HAL के साथ 39,000 करोड़ की डील पर मुहर

HAL ने 56,500 करोड़ रुपए की डील को घटाकर 39,000 करोड़ रुपए कर दिया है. एक साल लंबी बातचीत के बाद इस डील में 17,000 करोड़ रुपए की कमी की गयी है.

इसे भी पढ़ेंःएक जून से ‘एक राष्ट्र एक राशन कार्ड’, फिलहाल 16 राज्यों में व्यवस्था लागू: रामविलास

शाहीन बाग की तर्ज पर घंटाघर परिसर में प्रदर्शन

दिल्ली के शाहीन बाग की तर्ज पर घंटाघर परिसर में सैकड़ों महिलाएं पिछले पांच दिन से कड़ाके की ठंड के बीच प्रदर्शन कर रही हैं. उनका कहना है कि सरकार जब तक सीएए को वापस नहीं लेती और एनआरसी का इरादा खत्म नहीं करती, तब तक उनका प्रदर्शन जारी रहेगा.

घंटाघर परिसर में शुक्रवार से धरने पर बैठीं महिलाएं, सीएए वापस लेने की मांग

मौके पर बड़ी संख्या में पुलिस बल तैनात किया गया है. उधर, लखनऊ के ही गोमतीनगर स्थित उजरियांव में भी सोमवार शाम बड़ी संख्या में महिलाओं और लड़कियों ने सीएए और एनआरसी के खिलाफ प्रदर्शन शुरू कर दिया.

पुलिस ने उनसे धारा 144 लागू होने का हवाला देते हुए प्रदर्शन खत्म करने को कहा. पुलिस ने प्रदर्शन में शामिल पुरुषों को हल्का बल प्रयोग कर खदेड़ दिया, मगर महिलाएं डटी रहीं.

इसे भी पढ़ेंःचतरा: सालों से बनकर तैयार है पावर ग्रिड, फॉरेस्ट क्लीयरेंस व तकनीकी कारणों से नहीं हुआ चालू

हमें सपोर्ट करें, ताकि हम करते रहें स्वतंत्र और जनपक्षधर पत्रकारिता...

Get real time updates directly on you device, subscribe now.

You might also like