JharkhandRanchi

एयरलिफ्ट होंगे लेह में फंसे संथाल के 208 मजदूर, सोमवार को 115 और मंगलवार को 93 की संख्या में पहुंचेंगे रांची

Ranchi  :  देश के दूर-दराज या सुदूर इलाकों में फंसे झारखंडी मजदूरों को एयरलिफ्ट कराने की प्रक्रिया अभी भी जारी है. सभी मजदूर लॉकडाउन के कारण ऐसे इलाकों में फंसे हैं. कुछ दिन पहले मुंबई, लेह और अंडमान-निकोबार में फंसे मजदूरों को एयरलिफ्ट कराया गया था.

अब एक बार फिर लेह स्थित नुब्रा घाटी में फंसे संथाल के मजदूरों को एयरलिफ्ट कराया जा रहा है. संथाल के रहने वाले इन मजदूरों की संख्या करीब 208 है. सभी मजदूर लेह स्थित नुब्रा घाटी, चुनुथु घाटी, विजययक एवं हिमांक परियोजना में काम कर रहे हैं. इन मजदूरों को दो चरण में घर लाया जाना है.

इसे भी पढ़ेंः वनाधिकार कानून के तहत बड़े व्यापारी को आवंटित हुई थी जमीन, ग्रामीणों ने रुकवाया निर्माण कार्य

कुल मजदूरों की संख्या हो जाएगी 268

मुख्यमंत्री हेमंत सोरेन के प्रयासों से इन फंसे मजदूरों को घर लाने की तैयारी पूरी हो चूकी है. कुछ दिन पहले लेह से मजदूरों के एक समूह को एयरलिफ्ट कराया गया था. समहू में मजदूरों की संख्या करीब 60 थी. अब राज्य सरकार मजदूरों के दूसरे और तीसरे समूह को एयरलिफ्ट कराएगी.

पहले समूह के मजदूर सोमवार सुबह 10 बजे रांची आएंगे. इनकी संख्या करीब 115 है. वहीं दूसरा समूह मंगलवार शाम 7:40 बजे विशेष चाटर्ड विमान से रांची आएंगे. इनकी संख्या करीब 93 है. तीनों समूह के घर आने के बाद मजदूरों की कुल संख्या करीब 268 हो जाएगी.

इसे भी पढ़ेंः Virtual Rally में अमित शाह ने कहा- इसका चुनाव से कोई लेना-देना नहीं

सहयोग करने वालों को सीएम ने कहा, ‘धन्यवाद’

मजदूरों की घर वापसी के लिए मुख्यमंत्री अपने स्तर पर लगातार काम कर रहे हैं. इस काम में सीएम ने निजी कंपनियों को आगे आने की अपील की है. अपील का असर भी दिख रहा है. वहीं मजदूरों की घर वापसी में सहयोग करने वाले व्यक्ति और संगठन को सीएम सोरेन ने धन्यवाद दिया है.

उसमें लद्दाख के स्थानीय डीआईवाई आयुक्त,  बीआरओ के अधिकारी,  स्पाइस जेट,  इंडिगो और एयर एशिया,  उद्योग घरानों और कुछ स्थानीय गैर सरकारी संगठन शामिल हैं. उन्होंने कहा है कि सभी के प्रयासों से ही आज सुदूरवर्ती क्षेत्र में फंसे मजदूरों को घर लाना संभव हो सका है.

इसे भी पढ़ेंः Corona: लोहरदगा में 11 नये कोरोना पॉजिटिव केस, झारखंड का आंकड़ा 1041

Advertisement

Leave a Reply

Your email address will not be published.

Related Articles

Back to top button
Close