National

#Indore: पुलिस कर्मी पर पथराव मामले में पांच गिरफ्तार, दो पर रासुका लगाने की सिफारिश

Indore: मध्यप्रदेश के इंदौर में स्वास्थ्य कर्मियों के दल पर पथराव का हफ्ते भर पुराना मामला अभी ठंडा भी नहीं पड़ा था कि एक पुलिस कर्मी पर पत्थर चलाये जाने की घटना सामने आयी है.

कोरोना वायरस के प्रकोप के मद्देनजर शहर में 15 दिनों से लागू कर्फ्यू के दौरान पुलिस कर्मी पर हमले के मामले में पांच आरोपियों को बुधवार को धर दबोचा गया. इनमें से दो मुख्य उपद्रवियों पर राष्ट्रीय सुरक्षा कानून (एनएसए) लगाने की तैयारी की जा रही है.

अफवाहबाज पत्रकारिता, फर्जी खबरों से परेशान हैं, पढ़ें, newswing.com  जुड़े हमारे  Telegram  चैनल  से.

कॉन्स्टेबल पर हमला करने के आरोप में 5 गिरफ्तार

पुलिस अधीक्षक (पश्चिम) महेशचंद्र जैन ने न्यूज एजेंसी पीटीआइ को बताया कि चंदन नगर इलाके में मंगलवार शाम कर्फ्यू का उल्लंघन कर बाहर घूम रहे लोगों को एक पुलिस आरक्षक ने अपने घर जाने को कहा था. इस बात को लेकर इन लोगों ने पुलिस कर्मी से बहस की और अचानक उस पर पथराव शुरू कर दिया. पुलिस कर्मी ने जैसे-तैसे मौके से निकलकर खुद को सुरक्षित बचाया.

पुलिस अधीक्षक ने बताया कि घटना की सूचना मिलते ही चंदन नगर क्षेत्र में बड़ी संख्या में पुलिस बल भेजकर आरोपियों की तलाश की गयी. जावेद (25), इमरान खान (24), नासिर खां (58), सलीम खान (50) और समीर अनवर (22) को गिरफ्तार किया. मामले के एक फरार आरोपी की तलाश की जा रही है.

इसे भी पढ़ेंः#TabligiJamaat के छुपे हुए सदस्यों को MP के CM चौहान ने चेताया, 24 घंटे में सामने नहीं आये तो होगी कार्रवाई

जैन ने बताया कि पुलिस कर्मी पर हमले को लेकर भारतीय दंड विधान की धारा 147 (बलवा), धारा 188 (किसी सरकारी अधिकारी का आदेश नहीं मानना), धारा 353 (लोक सेवकों को भयभीत कर उन्हें उनके कर्तव्य के निर्वहन से रोकने के लिये उन पर हमला) और अन्य सम्बद्ध प्रावधानों के तहत प्राथमिकी दर्ज की गयी है.

दो आरोपियों पर रासुका लगाने की सिफारिश

पुलिस अधीक्षक ने कहा, ” हम जिला प्रशासन से सिफारिश करने जा रहे हैं कि मामले के दो मुख्य आरोपियों-जावेद और इमरान पर एनएसए के तहत मामला दर्ज किया जाये.”

इस बीच, घटना का वीडियो भी सामने आया है जिसमें एक गली में सात-आठ उपद्रवियों से घिरा पुलिस कॉन्स्टेबल उनसे बचने के लिये दौड़ लगाता नजर आ रहा है. ये लोग पुलिस कर्मी के पीछे दौड़ते हुए उस पर पत्थर चलाते दिखायी दे रहे हैं. उपद्रवियों में शामिल एक व्यक्ति को सड़क पर पड़ा डंडा उठाकर पुलिस कर्मी के पीछे भागते देखा जा सकता है.

मेडिकल टीम पर हो चुका है हमला

इससे पहले, शहर के टाटपट्टी बाखल इलाके में एक अप्रैल को पथराव में दो महिला डॉक्टरों के पैरों में चोटें आयी थीं. दोनों महिला डॉक्टर कोरोना वायरस के खिलाफ अभियान चला रहे स्वास्थ्य विभाग के पांच सदस्यीय दल में शामिल थीं. यह दल कोरोना वायरस संक्रमण के एक मरीज के संपर्क में आये लोगों को ढूंढने गया था.

बता दें कि मध्य प्रदेश का इंदौर शहर  कोविड-19 के प्रकोप से देश में सबसे ज्यादा प्रभावित शहरों में शामिल है. कोरोना वायरस के मामले सामने आने के बाद से प्रशासन ने 25 मार्च से शहरी सीमा में कर्फ्यू लगा रखा है.

इसे भी पढ़ेंःमुंबई के धारावी बस्ती में #Corona के दो नये पॉजिटिव मरीज मिले, आंध्र में 15 और राजस्थान में 5 नये मामले

Advertisement

Leave a Reply

Your email address will not be published.

Related Articles

Back to top button
Close