National

आर्थिक संकट : #ZeeGroup के अखबार डेली न्यूज एंड एनालिसिस का प्रकाशन बंद

Mumbai ; डेली न्यूज एंड एनालिसिस (डीएनए) ने गुरुवार  से अपने प्रिंट संस्करण को बंद करने की घोषणा की है. अपनी मूल कंपनी जी समूह के समक्ष नकदी संकट के बीच डीएनए ने यह कदम उठाया है. डीएनए ने कहा है कि वह अब डिजिटल संस्करण पर ध्यान देगा, इसकी एक और वजह पाठकों की पढ़ने की प्राथमिकता में बदलाव आना भी है.

जान ले कि डीएनए का प्रकाशन 14 साल पहले शुरू हुआ था. सुबह के इस अखबार का दिल्ली और अन्य केंद्रों से प्रकाशन पहले ही बंद हो चुका है. जी समूह के सुभाष चंद्रा की अगुवाई वाले एस्सल ग्रुप के स्वामित्व वाले ब्रॉडशीट अखबार ने कहा कि मुंबई और अहमदाबाद से डीएनए का आखिरी संस्करण गुरुवार को आयेगा.

इसे भी पढ़ें : नकदी संकट से जूझ रहा है # UnitedNations , कर्मचारियों के  वेतन पर संकट

Catalyst IAS
ram janam hospital

सुभाष  चंद्रा परिवार वित्तीय दिक्कतों से जूझ रहा है

The Royal’s
Pushpanjali
Pitambara
Sanjeevani

खबरों के अनुसार चंद्रा परिवार वित्तीय दिक्कतों से जूझ रहा है.  समूह के कुछ व्यावसायिक दांव सफल नहीं हुए हैं.  समूह को नकदी संकट की वजह से कर्ज चुकाने में दिक्कत आ रही है.  ऋणदाता प्रवर्तकों द्वारा गिरवी रखे गये शेयर बेच रहे हैं.  प्रवर्तकों की 90 प्रतिशत हिस्सेदारी गिरवी है. समूह ने हालांकि मार्च से अब तक 6,500 करोड़ रुपये के कर्ज का भुगतान किया है, पर अब भी उसके ऊपर 7,000 करोड़ रुपये का बकाया है.

डीएनए में संपादक की ओर से पहले पेज पर लिखे नोट में कहा गया है कि प्रिंट और डिजिटल पाठकों में दोहराव हो रहा हैं.  हमारे पाठक विशेषरूप से युवा वर्ग प्रिंट के बजाय मोबाइल फोन पर खबरें पढ़ना चाहते हैं.  नोट में कहा गया है कि हम नहीं बदल रहे हैं सिर्फ माध्यम बदलेगा. नोट में कहा गया है कि डीएनए अब डिजिटल हो रहा है.  इसमें नये और चुनौतीपूर्ण दौर में पाठकों का समर्थन मांगा गया है.

इसे भी पढ़ें : #SalmanKhurshid ने कहा, देश का मिजाज बदल चुका है, इसे समझ कर ही संकट से उबर सकती है कांग्रेस

Related Articles

Back to top button