न्यूज़ विंग
कल का इंतज़ार क्यों, आज की खबर अभी पढ़ें

घबरायें नहीं, अब प्राइवेट लैब्स में भी होगी #Corona जांच, रेट है 4500 रुपये

1,131

New Delhi: देश में कोरोना वायरस से संक्रमण के मामले बढ़ने पर मान्यता प्राप्त प्राइवेट लैब्स को मंजूरी दे दी गयी है. इन्हें मंजूरी देने के बाद भारतीय आयुर्विज्ञान अनुसंधान परिषद (आइसीएमआर) द्वारा प्राइवेट लैब्स को प्रत्येक जांच की कीमत 4,500 से 5,000 रुपये के बीच रखने की बात कही गयी है. वहीं साथ में यह भी अपील की गयी है कि खुद जाकर प्राइवेट लैब में टेस्ट ना करायें, डॉक्टर की सलाह पर ही टेस्ट करायें.

केंद्रीय स्वास्थ्य मंत्रालय ने कोविड-19 जांच शुरू करने का इरादा रखने वाली प्राइवेट लैब्स के लिए मंगलवार को दिशानिर्देश जारी किये थे जबकि आइसीएमआर ने उनसे यह जांच मुफ्त करने की अपील की थी.

इसे भी पढ़ें- #StopTheSpreadOfCorona: जानिये आखिर क्यों हाई रिस्क पर है भारत

ICMR ने अपने 72 लैब्स को किया उपकरणों से लैस

अधिकारी ने कहा कि ऐसा लगता है कि कोई भी इसे मुफ्ते नहीं करना चाहता और यही कारण है कि निजी लैब को कोविड-19 के लिये हर जांच की कीमत 4,500 रुपये रखने को कहा जायेगा.

उनके मुताबिक प्राइवेट लैब्स कोरोना की जांच के लिए 4500 रुपये से ज्यादा नहीं ले सकतीं. आधिकारिक सूत्रों के मुताबिक करीब 51 प्राइवेट लैब्स ने सरकार से संपर्क कर उन्हें इस श्वसन रोग के लिये जांच की इजाजत देने का अनुरोध किया है.

Whmart 3/3 – 2/4

गौरतलब है कि फिलहाल आइसीएमआर ने इस वायरस की जांच के लिए अपनी 72 लैब्स को उपकरणों से लैस किया है. इसके अलावा सीएसआइआर और डीआरडीओ जैसे संगठनों की 49 प्रयोगशालाएं भी इस हफ्ते के अंत तक जांच के लिये सुसज्जित की जाएंगी. आइसीएमआर एनसीआर और भुवनेश्वर में भी दो जांच केंद्र स्थापित कर रही है. ये केंद्र रोजाना 1400 नमूनों की जांच कर सकते हैं.

इसे भी पढ़ें- #CoronavirusLockdown: ईरान से जोधपुर लौटा 277 भारतीयों का दल

इन राज्यों में जांच के लिए अलग अस्पताल हो रहे स्थापित

आइसीएमआर के डॉ. रमन ने बताया कि मंगलवार को 22 लैब चेन को मंज़ूरी दी गयी है. इन लैब्स के देशभर में कुल साढ़े 15 हज़ार कलेक्शन सेंटर हैं. 118 सरकारी प्रयोगशालाएं भी इस वायरस की जांच के लिये आइसीएमआर के नेटवर्क में शामिल की गयी हैं. इस नेटवर्क की क्षमता 12,000 नमूनों की रोजाना जांच करने की है. पिछले पांच दिनों में सरकारी लैब्स द्वारा रोजाना औसतन 1,338 नमूनों की जांच की गयी है.

दिल्ली में तीन निजी लैब- लाल पैथ लैब, रोहिणी, सफदरजंग डेवलपमेंट क्षेत्र स्थित डॉ डैंग्स लैब, सरिता विहार स्थित लैबोरेटरी सर्विसेज, इंद्रप्रस्थ अपोलो हॉस्पिटल को अब तक कोरोना वायरस से संक्रमण की जांच की मंजूरी दी गयी है.

वहीं गुजरात, असम, झारखंड, राजस्थान, गोवा, कर्नाटक, मध्य प्रदेश और जम्मू-कश्मीर कोविड-19 के मरीजों के इलाज के लिए अलग अस्पताल स्थापित कर रहे हैं.

इसे भी पढ़ें- #CoronaVirus: तमिलनाडु में पहली मौत, देश में मरने वालों की संख्या हुई 11

कोरोना जांच के लिए गाइडलाइन्स

जांच के लिए कुछ गाइडलाइन्स दिये गये हैं. इसके मुताबिक अगर किसी को बुखार, खांसी या फिर सांस लेने में समस्या हो रही है तो अपने नजदीकी स्वास्थ्य केंद्रे में जाकर अपनी दिक्कत बतायें. वहां डॉक्टर यह तय करेंगे कि आपको कोरोना वायरस का टेस्ट कराया चाहिये या नहीं.

जांच के लिए फॉर्म 44 (कोविड-19) को डॉक्टर द्वारा पूरा भरा गया हो और उसमें हस्ताक्षर किया हो, साथ ही स्टैंप भी लगा होना चाहिए. इतना ही नहीं रेफर करने वाले डॉक्टर का प्रिस्क्रिप्शन भी साथ होना जरूरी है. जिस व्यक्ति का सैंपल लिया जा रहा हो उसका सरकारी पहचान पत्र जैसे कि आधार कार्ड/वोटर आईडी/पासपोर्ट देना होगा. साथ ही फोन नंबर भी देना होगा. इन डाक्यूमेंट्स के बिना टेस्ट नहीं कराया जा सकता है.

वहीं सरकार ने जिन प्राइवेट लैब्स को जांच की मंजूरी दी है उनमें से किसी की भी वेबसाइट पर जाकर उनके मोबाइल ऐप के जरिये खुद को रजिस्टर करना होगा. फिर ऑनलाइन घर से कलेक्शन का स्लॉट बुक करना होगा. या फिर इसके लिए उनके कस्टमर केयर नंबर पर भी फोन किया जा सकता है.

जाहां फॉर्म 44 और प्रिस्क्रिप्शन की पुष्टि के बाद लैब वाले सैंपल पिकअप को री-कन्फर्म करेंगे. वहीं टेस्ट बुक करने के लिए किसी भी व्यक्ति को लैब जाने की कोई जरूरत नहीं हैं. इसके लिए ऑनलाइन बुकिंग की जा सकती है और सैंपल आपके घर पर ही आकर लिया जाएगा. सैंपल लेने के लिए आने वाला व्यक्ति पूरी तरह प्रशिक्षित होगा. वहीं यह टेस्ट रिपोर्ट सरकार तक लैब वाले ही पहुंचायेंगे.

न्यूज विंग की अपील

देश में कोरोना वायरस का संकट गहराता जा रहा है. ऐसे में जरूरी है कि तमाम नागरिक संयम से काम लें. इस महामारी को हराने के लिए जरूरी है कि सभी नागरिक उन निर्देशों का अवश्य पालन करें जो सरकार और प्रशासन के द्वारा दिये जा रहे हैं. इसमें सबसे अहम खुद को सुरक्षित रखना है. न्यूज विंग की आपसे अपील है कि आप घर पर रहें. इससे आप तो सुरक्षित रहेंगे ही दूसरे भी सुरक्षित रहेंगे.

न्यूज विंग की अपील


देश में कोरोना वायरस का संकट गहराता जा रहा है. ऐसे में जरूरी है कि तमाम नागरिक संयम से काम लें. इस महामारी को हराने के लिए जरूरी है कि सभी नागरिक उन निर्देशों का अवश्य पालन करें जो सरकार और प्रशासन के द्वारा दिये जा रहे हैं. इसमें सबसे अहम खुद को सुरक्षित रखना है. न्यूज विंग की आपसे अपील है कि आप घर पर रहें. इससे आप तो सुरक्षित रहेंगे ही दूसरे भी सुरक्षित रहेंगे.

हमें सपोर्ट करें, ताकि हम करते रहें स्वतंत्र और जनपक्षधर पत्रकारिता...

Get real time updates directly on you device, subscribe now.

You might also like