Bihar

अग्निवीर नहीं फौजी बनकर देश की सेवा करना चाहता है युवा, बिहार के कई जिलों में ‘अग्निपथ’ पर भारतीय रेल

Patna: देश में किसी न किसी बात को लेकर सार्वजनिक संपत्तियों को नुकसान पहुंचाया जा रहा है. बीते दो तीन सालों में लाखों करोड़ों की प्रॉपर्टी को प्रदर्शाकारियों ने फूंक दिया. नुपुर शर्मा के विवादित बोल पर देश भर में हुई हिंसा अभी थमा भी नहीं कि भारत सरकार की ‘अग्निपथ’ स्कीम देश में आग लगा रही है. सरकार युवाओं को अग्नीवीर बनाना चाहती है. यूपी के सीएम योगी आदित्यनाथ ने तो यहां तक कह डाला को वो अग्नीविरों को सरकारी नौकरी में तरजीह मिलेगी. लेकिन युवाओं को ये बातें पसंद नहीं आयी. आक्रोशित युवा बसों में तोड़फोड़, सड़क पर आगजनी कर रहे हैं. कई जगहों पर युवाओं ने ट्रेन में आग लगा दी. बिहार से शुरू हुआ विरोध अब देश के विभिन्न राज्यों में देखने को मिल रहा है.

इसे भी पढ़ें : ‘अग्निपथ’ के खिलाफ गुस्से की आग : भभुआ-पटना इंटरसिटी एक्सप्रेस में छात्रों ने लगाई आग

केंद्र सरकार की सैन्य बलों में भर्ती की नई योजना ‘अग्निपथ’ के खिलाफ प्रदर्शन गुरुवार को बेकाबू हुआ और सारी भड़ास ट्रेनों पर निकाल गई. सुबह बक्सर पर युवक सड़क पर उतरे और फिर यह आग धीरे धीरे आरा, छपरा, कैमूर होते हुए दोपहर तक गोपालगंज तक फैल गई. सेना भर्ती की इस नई योजना का विरोध कर रहे उपद्रवी युवकों का गुस्सा ट्रेनों और रेलव स्टेशन पर फूटा. कैमूर, छपरा और गोपालगंज में ट्रेन की बोगियों में आग लगा दी गई. आरा रेलवे स्टेशन भी छात्र घुस गए, जिससे वहां भगदड़ मच गई.

Catalyst IAS
ram janam hospital

प्रदर्शन कर रहे युवकों ने जहानाबाद और बक्सर जिलों में रेल पटरियों पर धरना देकर पटना-गया और पटना-बक्सर रेल मार्गों पर ट्रेनों की आवाजाही को रोक दिया, हालांकि स्थानीय पुलिस ने रेलवे पुलिस की मदद से प्रदर्शनकारियों को तत्काल पटरियों से हटा दिया. प्रदर्शनकारियों ने ‘अग्निपथ’ योजना को रद्द करने की मांग को लेकर जहानाबाद में राष्ट्रीय राजमार्ग संख्या-83 पर टायर जलाए और वहां धरना भी दिया.

The Royal’s
Pushpanjali
Pitambara
Sanjeevani

इसे भी पढ़ें : जहानाबाद : अग्निपथ स्कीम पर बवाल, सड़क पर उतरे छात्र, रेल ट्रैक किया जाम

नवादा रेलवे स्टेशन पर भी प्रदर्शनकारियों ने हंगामा किया. वहां प्रदर्शनकारी सेना में भर्ती की नई व्यवस्था के प्रति अपना विरोध दर्ज कराने के लिए पटरियों पर व्यायाम करते दिखे. नवादा में आक्रोशित युवाओं ने कुछ दुकानों को जबरन बंद कराने की कोशिश की. नई व्यवस्था को वापस लिए जाने की मांग कर रहे आक्रोशित प्रदर्शनकारियों ने जहानाबाद, बक्सर, नवादा सहित राज्य के कई हिस्सों के जुलूस निकाला. केंद्र की इस योजना के तहत तीनों सेनाओं में इस साल करीब 46,000 सैनिक भर्ती किए जाएंगे. चयन के लिए पात्रता आयु साढ़े 17 वर्ष से 21 वर्ष के बीच होगी और इन्हें ‘अग्निवीर’ नाम दिया जाएगा.

Related Articles

Back to top button