Crime NewsJharkhandKoderma

कोडरमा के झुमरीतिलैया में मोहर्रम के दौरान तलवार लगने से युवक की मौत

Koderma: मोहर्रम मनाने के दौरान कोडरमा के झुमरीतिलैया में मंगलवार को अस्त्र-शस्त्र प्रदर्शन के दौरान हुए एक हादसे में एक युवक की जान चली गई. घटना झुमरीतिलैया स्थित झंडा चौक पर प्रदर्शन के दौरान हुआ जब तलवारबाजी के एक खेल के दौरान एक युवक के गले की नस कट गई. आनन-फानन में युवक को एक निजी क्लिनिक में ले जाया गया, लेकिन रास्ते में ही युवक ने दम तोड़ दिया. मृतक युवक की पहचान भादेडीह निवासी कलीमुद्दीन कुरेशी उर्फ मिस्टर के रूप में की गई. घटना के बाद लोग स्वत: प्रदर्शन रोककर अपने अपने अखाड़ा को लेकर घर लौटने लगे वही ताजियादार पहलाम के लिए कर्बला की ओर रवाना हो गए.

इसे भी पढ़े: हरिओम की मौत के लिए पवन दोषी करार, समाज से तीन साल के लिए निष्कासित

 

मोहर्रम पर याद की गई हसन हुसैन की शहादत, अस्त्र शस्त्र का हुआ प्रदर्शन

Sanjeevani

झुमरीतिलैया शहर,कोडरमा एवं आसपास के इलाकों में मुस्लिम धर्मावलंबियों ने हसन हुसैन की शहादत को याद किया. इस मौके पर विभिन्न अखाड़ा कमेटियों ने जुलूस निकाला. जुलूस में ताजिया एवं निशान के साथ लोगों ने लाठी,डंडा और तलवार के साथ अपनी कला का भी प्रदर्शन किया. अय्याज  नगर भादोडीह, मोहर्रम कमेटी झलपो, असनाबाद अखाड़ा कमेटी व विभिन्न अखाड़ा कमेटियों ने अपने अपने इलाकों से जुलूस निकालकर शहर के झंडा चौक में अस्त्र-शस्त्र के माध्यम से अपनी कला का प्रदर्शन दिखाया. मोहर्रम संपन्न कराने के लिए जिला प्रशासन की ओर से कड़ी चौकसी बरती गई. शहर के हृदय स्थल झंडा चौक पर एसडीओ मनीष कुमार एसडीपीओ अशोक कुमार, बीडीओ रेशमा डुंगडुंग, सीओ अनिल कुमार, तिलैया थाना प्रभारी अजय सिंह, अवर निरीक्षक आनंद शाह विधि व्यवस्था पर नजर बनाए हुए थे. इसके अलावा शहर के चप्पे-चप्पे पर पुलिस बल तैनात किए गए थे. वही दंडाधिकारी पूरे शहर का भ्रमण कर रहे थे.असामाजिक तत्वों पर पुलिस ने कड़ी निगाह रखी हुई थी. वहीं विभिन्न अखाड़ा कमेटियों के सदर सचिव व सदस्यगण कार्यक्रम को सफल बनाने में लगे हुए थे. मौके पर नगर परिषद के पूर्व अध्यक्ष अनवरुल हक, हाजी गुलाम जिलानी, शमीम आलम लड्डू, अरशद खान, मोहम्मद जलील, मकसूद आलम, मंजूर आलम, कुर्बान मिया, इबराब कुरेशी, गालीब हुसैन, चुन्नू मंसूरी, नईम उद्दीन, नौशाद अख्तर ,जाहिद हुसैन, मोहम्मद शब्बीर, अदनान राजू, सरवर खान, शब्बीर खान आदि ने मोहर्रम को सफल बनाने में अपनी महत्वपूर्ण भूमिका निभाई.

Related Articles

Back to top button