ChaibasaJamshedpurJharkhand

Ghatshila: मनसा पूजा में बांध रहा था चोंगा, 11 हजार वोल्‍ट ब‍िजली तार की चपेट में आने से युवक की हो गई मौत

Ghatshila: धालभूमगढ़ थाना क्षेत्र के देरांग गांव का 20 वर्षीय अमन पातर 11 हजार वोल्‍ट ब‍िजली तार की चपेट में आने से गंभीर रूप से घायल हो गया. परिजनों ने उसे धालभूमगढ़ स्वास्थ्य केंद्र पहुंचाया, जहां प्रभारी चिकित्सा पदाधिकारी डॉक्‍टर ज्ञानेंद प्रसाद अखौरी ने प्राथमिक उपचार के बाद मृत घोषित कर दिया. घटना के बारे में मिली जानकारी के अनुसार देरांग गांव का अमन पातर अपने ही चाचा के टेंट हाउस में काम करता था. वह स्वर्गछिड़ा गांव के किसी घर में मनसा पूजा के लिए चोंगा बांधकर तार को 11 हजार तार के उपर से पार कर रहा था. इसी क्रम में बाक्स का कनेक्शन तार 11 हजार तार की चपेट में आ गया.

बताया जा रहा है कि कनेक्शन तार कहीं पर लीक था, जिस कारण यह घटना घटी. घटना के समय अमन का सहपाठी चोंगा बांधने के बाद तार फेंककर नीचे आ गया. सूचना मिलते ही पार्षद हेमंत मुंडा पंचायत सम‍ित‍ि सदस्‍य प्रदीप कुमार राय धालभूमगढ़ स्वास्थ्य केंद्र पहुंचे एवं घटना की जानकारी लेने के बाद अमन के पिता बुद्धेश्वर पातर एवं परिजनों को ढांढस बंधाया. उसके बाद सूचना मिलते ही विधायक रामदास सोरेन कार्यकर्ताओं के साथ स्वास्थ्य केंद्र पहुंचे और प्रभारी चिकित्सा पदाधिकारी से घटना की जानकारी लेने के बाद मृतक के पिता बुद्धेश्वर से कहा कि यह गलती बिजली विभाग की नहीं है. पोस्टमार्टम रिपोर्ट के बाद वे मुआवजा दिलाने का प्रयास करेंगे तथा श्राद्धकर्म में भी सहयोग किया जाएगा. दूरभाष पर घाटशिला अनुमंडल चिकित्सा पदाधिकारी को पोस्टमार्टम जल्द से जल्द करने का निर्देश दिया. बाद में पुलिस द्वारा शव को पोस्टमार्टम के लिए घाटशिला भेज दिया. बुद्धेश्वर ने कहा कि अमन उनका इकलौता पुत्र था. मनसा पूजा में बाक्स बजाने के लिए अपने ही टेंट हाउस में गया था.

ये भी पढ़ें- Chaibasa : कोल्हान विश्वविद्यालय स्वतंत्रता संग्राम में जनजातीय नायकों के योगदान पर आयोजित करेगा कार्यक्रम

Sanjeevani

Related Articles

Back to top button