न्यूज़ विंग
कल का इंतज़ार क्यों, आज की खबर अभी पढ़ें

सेना में बहाली के लिए आये युवाओं ने लगाये आरोप, कहा गलत तरीके से लिया जा रहा है टेस्ट

1,587

Ranchi:  नामकुल के खोजाटोली स्थित मिलिट्री स्टेशन में आर्मी रैली आयोजित की जा रही है. इस रैली में झारखंड समेत, बिहार, उत्तर प्रदेश, उत्तराखंड, मध्यप्रदेश, उडीसा, छत्तीसगढ़ के युवा भाग ले रहे हैं. रैली 29 जनवरी से शुरू हो चुकी है. इसमें जीडी (जेनरल ड्यूटी) के 152 और ट्रेड मैन के 20 पद पर बहाली होनी है. आंमत्रित किये  गये हैं. लेकिन यहां आये युवाओं की जुबानी सुनने के बाद कुछ और ही हकीकत सामने आती है. बहाली में आये युवाओं ने बताया कि 400 से 500 युवकों का बैच बना कर दौड़ाया जा रहा है जिसमे सिर्फ 3 से 4 लड़कों का ही चयन हो रहा है. युवाओं ने बताया कि प्रथम दिन अर्थात मंगलवार को छत्तीसगढ और मध्यप्रदेश के युवाओं की दौड़ हुई है. बुधवार को बिहार युवाओं की दौड़ चल रही थी. 31 जनवरी को उत्तराखंड और उत्तरप्रदेश एवं एक फरवरी को झारखंड के युवा दौडेंगे. बिहार भर्ती में शामिल होने आये असफल युवाओं ने न्यूज विंग से अपनी परेशानी शेयर की.

जानवर की तरह भगाया जा रहा है अभ्यर्थियों को

पूर्वी चंपारण से आये राजीव कुमार ने बताया कि पहले पहले दिन जब दौडवाया गया था उस दिन 100 से 200 का ग्रुप बना था, लेकिन आज 400 से 500 के ग्रुप का समूह बना दिया गया है. 100 में 7-8 लड़कों का चयन किया गया जबकि आज सिर्फ 4 लड़कों का ही चयन किया जा रहा है. दौड़ के बाद जो अभ्यर्थी असफल हो जाते हैं उन्हें जानवरों की तरह खदेड़ कर भगाया जा रहा है.

3 और 4 नंबर पर आये युवकों का नहीं हुआ चयन

बांका से आये अंकुश कुमार ने आरोप लगाते हुए कहा कि वे दौड़ में तीसरे स्थान पर आये थे. लेकिन उनका चयन न कर चौथे नंबर पर आने वाले युवक का चयन कर लिया गया. अंकुश ने बताया कि मुझे रस्सी के अंदर से खींच कर बाहर निकाल दिया गया. बार-बार कहने पर कहा अभी बाहर चलो, ज्यादा बोलने पर पिटायी. वहीं बक्सर से आये मुकेश कुमार ने बताया कि मैं दौड में चार नंबर पर आया था, लेकिन मुझसे एक अधिकारी को थोडा धक्का लगा गया तो मुझे ग्राउंड से बाहर निकाल दिया गया. मेरी जगह दूसरे व्यक्ति को बहाल कर लिया गया. वहीं मेरे साथ मारपीट और गाली गलौज भी की गयी.

Whmart 3/3 – 2/4

170 सेमी ऊंचाई होने पर भी नहीं हुआ चयन

गया के विवेक का 170 सेमी और मधुबनी के धर्मराज का 165 सेमी हाईट होते हुए भी उन्हें छांट दिया गया. इन युवाओं ने बताया कि आवेदन में 160 सेमी की ही मांग की गई थी. इसके बावजुद भी हाईट में ही हमे छांट दिया गया.

नहीं है ठहरने, खाने और सोने की व्यवस्था

बिहार और  युपी के सुदूर गांव से सेना में बहाली के लिए आये इन युवओं को न तो ठहरने की कोई समुचित व्यवस्था, न खाना-पीना और न ही सोने की व्यवस्था की गई थी,  इस कपकपाती ठंढ में युवक यहां-वहां पड़े हुए थे. सभी अपनी बारी का इंतजार कर रहे थे. बिहार से लगभग 20 हजार युवा रैली में शामिल होने आये थे. इसके अलावा जिनका दौड़ 31 जनवरी को होना है वे भी रांची के नामकुम मिलट्री स्टेशन पहंुच चुके है. इन युवाओं की दौड सुबह पांच बजे से शुरु हो जाती है. सुबह तीन बजे से ही युवकों लाइन लगनी शुरू हो जाती है.

पद सिर्फ 172 और 7 राज्य के युवाओं के लिए निकाल दी वेकेंसी

दौड़ में शामिल होने आये युवाओं ने बताया कि सिर्फ 172 पद के लिए ही बहाली होनी है. लेकिन झारखंड, बिहार समेत सात राज्यों के युवाओं से आवेदन आमंत्रित किये गये हैं. इससे भीड़ तो बढ़ेगी ही. हम लोगों का भी समय और पैसा बबार्द हुआ. अच्छा होता कि सिर्फ एक स्टेट के युवाओं को आमंत्रित किया जाता.

इसे भी पढ़ेंः वार्डों में खुलने वाले वेंडर मार्केट पर लगा ब्रेक, अंचल अधिकारियों के पास ही रुकी है फाइल

न्यूज विंग की अपील


देश में कोरोना वायरस का संकट गहराता जा रहा है. ऐसे में जरूरी है कि तमाम नागरिक संयम से काम लें. इस महामारी को हराने के लिए जरूरी है कि सभी नागरिक उन निर्देशों का अवश्य पालन करें जो सरकार और प्रशासन के द्वारा दिये जा रहे हैं. इसमें सबसे अहम खुद को सुरक्षित रखना है. न्यूज विंग की आपसे अपील है कि आप घर पर रहें. इससे आप तो सुरक्षित रहेंगे ही दूसरे भी सुरक्षित रहेंगे.

हमें सपोर्ट करें, ताकि हम करते रहें स्वतंत्र और जनपक्षधर पत्रकारिता...

Get real time updates directly on you device, subscribe now.

You might also like