न्यूज़ विंग
कल का इंतज़ार क्यों, आज की खबर अभी पढ़ें

लड़की के परिजनों ने युवक को बंधक बनाकर करायी शादी, मना करने पर पीटा

बिहार में फिर सामने आया पकड़ुआ शादी का मामला, भाई के दोस्त की ससुराल पहुंचा था युवक

1,157

Nawada : बिहार में भाई के दोस्त की ससुराल पहुंचे एक युवक को गांव के परिवार ने बंधक बनाकर उससे लड़की की जबरन शादी करा दी. युवक ने मना किया तो उसकी बेरहमी से पिटाई भी की गयी.

mi banner add

‘पकड़ुआ शादी’ का यह मामला नवादा जिले का है. घटना 23 जून की रात को रूपौ थाना क्षेत्र के सिंघना गांव में हुई.

पिटाई से घायल युवक सदर अस्पताल नवादा में इलाजरत है. उसका नाम नित्यानंद कुमार राय बताया गया है जो गया जिले के पहाड़पुर गांव निवासी श्रीशंकर राय का पुत्र है.

इसे भी पढ़ें : हथियार के बल पर जबरन शादी करने पहुंचा युवक, विरोध करने पर पड़ोसी को मारी गोली

दोस्तों के साथ गया था ककोलत घूमने

नित्यानंद ने बताया कि वह अपने दोस्तों चंदन व विक्की के साथ ककोलत जलप्रपात घूमने आया था. चंदन के भाई की शादी एक वर्ष पूर्व सिंघना में हुई थी. ककोलत स्नान के बाद सभी चंदन के भाई के ससुराल गये जहां उन्हें एक परिवार ने बंधक बना लिया.

पीड़ित युवक ने बताया कि उसे एक घर में रखा गया और उसके दोनों साथियों को अलग-अलग घरों में कैद कर लिया गया. इसके बाद जबरन नित्यानंद की शादी करा दी गयी. विरोध करने पर उसकी पिटाई की गयी और जबरदस्ती लड़की की मांग भरवायी गयी.

इसे भी पढ़ें : दहेज के लिए शराबी दूल्हे ने किया खूब हंगामा,दुल्हन का शादी से इनकार

Related Posts

बाढ़ की मार से बेहाल बिहार, अब तक 104 लोगों की मौत

बाढ़ से 76 लाख 85 हजार से अधिक की आबादी प्रभावित

पुलिस से नहीं मिली मदद

शादी के दौरान ही विक्की भागने में सफल रहा और पुलिस को घटना को जानकारी दी. लेकिन रूपौ थाने से उसे कोई मदद नहीं मिली. दूसरे दिन शौच के बहाने चंदन भी भाग निकला. उसने परिजनों को घटना के बारे में बताया और नवादा एसपी को भी सूचना दी.

एसपी के निर्देश के बाद रूपौ थाना की पुलिस ने युवक को मुक्त कराया और रोह पीएचसी में इलाज के लिए भेजा. सोमवार दे रात नित्यानंद को सदर अस्पताल नवादा ले आया गया.

इसे भी पढ़ें : लिव इन में रह रही प्रेमिका बनी दो बच्चों की मां, सात वर्ष बाद महिला की ‘जनी पंचायत’ ने करायी शादी

‘जोर-जबरदस्ती नहीं की’

लड़की के परिजनों का कहना है कि ये शादी युवक की सहमति से हुई है और जोर-जर्बदस्ती का आरोप गलत है.

 

हमें सपोर्ट करें, ताकि हम करते रहें स्वतंत्र और जनपक्षधर पत्रकारिता...

Get real time updates directly on you device, subscribe now.

You might also like
%d bloggers like this: