JharkhandLead NewsRanchi

आपका आचरण, व्यवहार और चरित्र यह निर्धारित करेगा कि आपने महाविद्यालय से क्या सीखा और यहां की शिक्षिकाओं ने आपके पीछे कितना परिश्रम किया : राज्यपाल

रांची महिला महाविद्यालय का द्वितीय ग्रेजुएशन समारोह

Ranchi : रांची महिला महाविद्यालय के द्वितीय ग्रेजुएशन समारोह में राज्यपाल रमेश बैस ने कहा कि ग्रेजुएशन समारोह का किसी भी विद्यार्थी के जीवन में एक विशेष महत्व है. आप सबका उत्साह व उमंग इस समारोह की गरिमा को और बढ़ा देता है. यह उपाधि महज एक औपचारिकता नहीं, अपितु एक दायित्व भी है. आप अपने कॉलेज की प्रतिनिधि हैं और जहां भी कहीं कार्य करेंगी, आपसे ही इस संस्थान की पहचान होगी.

Sanjeevani

इसे भी पढ़ें :  जमशेदपुर : सी पी समिति मध्य विद्यालय में चला स्वच्छता जागरूकता अभियान

MDLM

उन्होंने जोर देते हुए कहा कि आपका आचरण, व्यवहार और चरित्र यह निर्धारित करेगा कि आपने महाविद्यालय से क्या सीखा और यहां की शिक्षिकाओं ने आपके पीछे कितना परिश्रम किया. आपकी सफलता व आचरण पर इस महाविद्यालय की प्रतिष्ठा निर्भर होगी. आपका आगामी जीवन आपको नए दायित्वों को निभाने के लिए प्रेरित करेगा. प्रतियोगिता के इस युग में उत्कृष्टता हासिल करना जरूरी है. आज तक आपने सिर्फ पुस्तकों और शिक्षिकाओं से ज्ञान प्राप्त किया है, लेकिन आज के बाद पूरी दुनिया आपके सामने एक विस्तृत पुस्तकालय के रूप में खुल जायेगी.

महिला सशक्तीकरण पर उन्होंने कहा कि सामाजिक विकास के लिए यह जरूरी है. शिक्षा सशक्तिकरण का सबसे प्रभावी माध्यम है. यह जीवन का एक अनिवार्य हिस्सा है, चाहे वह लड़का हो या लड़की. महिला के अधिकारों की रक्षा में शिक्षा सबसे महत्वपूर्ण भूमिका निभाती है. यह लिंग के आधार पर भेद-भाव को रोकने में भी मदद करती है. देश की प्रगति के लिए महिलाओं का शिक्षित होना बहुत जरुरी है. उन्होंने कहा आज महिलाएं जीवन के विभिन्न क्षेत्रों में सफलता अर्जित कर रही हैं तथा अपनी अमिट छाप छोड़ रही है. उनमें प्रत्येक क्षेत्र में अपने देश का नेतृत्व करने की क्षमता है. भारत में महिलाओं ने अपनी मेहनत और काबिलियत के दम पर सफलता के कई ऐसे मुकाम हासिल किए हैं जो हर किसी के लिए मिसाल हैं.

मुझे खुशी है कि हमारी बेटियां उच्च शिक्षा के क्षेत्र में बहुत अच्छा प्रदर्शन कर रही हैं. शिक्षकों से कहा कि आप अपनी उपलब्धियों से अधिक-से-अधिक छात्राओं को उच्च शिक्षा ग्रहण करने हेतु प्रेरित करें. कॉलेज छात्राओं के बेहतर भविष्य निर्माण हेतु सदा सजग रहें एवं गुणात्मक शिक्षा प्रदान करें. शिक्षा का उद्देश्य विद्यार्थियों में सर्वश्रेष्ठ गुणों को विकसित करना और विद्यार्थियों का समग्र विकास करना है.

अपने संबोधन में कहा आप कभी भी अपने-आपको किसी से कम न समझें, आप में आसमान छूने की ताकत है, आप हर असंभव कार्य कर सकती हैं. इसलिए हमेशा मजबूत इरादे के साथ आगे बढ़ें और अपनी प्रतिभा एवं अच्छे आचरण से स्वयं के साथ समाज तथा राष्ट्र की प्रगति में निरंतर अपना बहुमूल्य योगदान दें. एक आत्मनिर्भर एवं देशभक्त नारी के रूप में अपनी पहचान स्थापित करें.

इसे भी पढ़ें :  कांग्रेस के नव संकल्प शिविर में एक परिवार-एक टिकट’ से परिवारवाद को खत्म करने की कवायद

89 छात्राओं को मिला गोल्ड मेडल

रांची विमेंस कॉलेज के दूसरे ग्रेजुएशन सेरिमनी में यूजी और पीजी के तीन-तीन और बीएड के 2 सेशन के 89 छात्राओं को गोल्ड मेडल प्रदान किया गया. आज के ग्रेजुएशन सेरेमनी में विषय वार टॉपर 110 और ओवरऑल कैटेगरी में 21 छात्राओं को उपाधि प्रदान की गई. कुल 89 गोल्ड मेडलिस्ट में से 74 गोल्ड मेडल सब्जेक्ट टॉपर और 15 छात्राएं ओवरऑल कैटेगरी में है. आज के कार्यक्रम में केवल गोल्ड मेडल बांटे गए. 16 मई को केवल डिग्री दी जाएगी. दूसरे ग्रेजुएशन सेरेमनी में शामिल होने के लिए 2320 छात्राओं ने रजिस्ट्रेशन कराया.

 

Related Articles

Back to top button