न्यूज़ विंग
कल का इंतज़ार क्यों, आज की खबर अभी पढ़ें

देश की राजनीति को स्वच्छ बनाने के लिए सामने आयें युवा

36

Ranchi: देश के युवा सकारात्मक संकल्प के साथ राजनीति में उतरेंगे तो नये राष्ट्र निर्माण की संभावना है. राष्ट्र निर्माण के लिए युवाओं को राजनीति में आना बहुत जरूरी है. इसके लिए जरूरी है कि 65 फीसदी युवा पीढी इस क्षेत्र में आयें. ये बातें चुनाव और राजनीतिक सुधार पर आयोजित दो दिवसीय कार्यशाला के समापन पर वक्ताओं ने कहा. वक्ताओं ने कहा कि वर्तमान में युवाओं को खेल और सरकारी नौकरी की अधिक ललक देखी जाती है.  अब इन क्षेत्रों को छोड़ युवा राजनीति में आना चाहिये. तभी राजनीतिक क्षेत्र स्वच्छ हो सकेगा. कार्यशाला के अंतिम दिन युवाओं की भूमिका, दिव्यांग के लिए मतदान की सुगम व्यवस्था करना और अभिशासन पर विशेष विचार-विर्मश किया गया. दो दिवसीय कार्यशाला का आयोजन एसोसिएट डेमोक्रेटिक रिफॉर्म और झारखंड इलेक्‍शन वॉच की ओर से संयुक्त रूप से किया गया.

इसे भी पढ़ें: किसकी वजह से हाइकोर्ट भवन निर्माण में हुई अनियमितता, कमेटी करेगी जांच, विभाग ने सीएम से मांगा अप्रूवल 

जनप्रतिनिधियों से करें सवाल

hosp3

वक्ताओं ने कहा कि देश की राजनीतिक स्थिति बदलने के लिए युवाओं को चाहिए कि‍ सामने आयें. जिस तरह बच्चे अपने अभिभावक से सवाल-जवाब करते हैं, उसी तरह लोगों को चाहिये कि‍ जनप्रतिनिधियों से भी सवाल करने की आदत डालें. ऐसा करने से लोग जनप्रतिनिधियों की मंशा समझ सकते हैं.

इसे भी पढ़ें: जूली संग लिव इन के बाद लव गुरु मटुकनाथ करेंगे शादी, नयी प्रेमिका की तलाश

दिव्यांग अपना अधिकार समझें

दिव्यांगों को चुनाव में किसी तरह की परेशानी न हो इसकी जानकारी देते हुए कहा गया कि दिव्यांगों को चाहिये कि‍ अपना अधिकार समझें. चुनाव आयोग द्वारा विव्यांगों के लिए सुगम मतदान अभियान चलाया जा रहा है. दिव्यांग अपनी गरिमा और सम्मान के साथ मतदान कर सकें. मौके पर सिटीजन फाउंडेशन के गणेश रेड्डी, झारखंड इलेक्‍शन वॉच के संयोजक सुधीर पाल, डॉ मिथिलेष, वीपी पांडे, शमशेर आलम, अरूण सिंह, नागेंद्र कुमार, डॉ जयराम तिवारी, राजन सिंह, वैशाली समेत अन्य लोग उपस्थित थे.

हमें सपोर्ट करें, ताकि हम करते रहें स्वतंत्र और जनपक्षधर पत्रकारिता...

You might also like
%d bloggers like this: