JamshedpurJharkhandLITERATURE

Main Gali Hoon : जी हां, रिश्तों में भी हिन्दुस्तान-पाकिस्तान होता है…

युवा पत्रकार विवेक पांडेय के पहले काव्य संग्रह मैं गली हूं...का विमोचन

Jamshedpur: युवा पत्रकार विवेक कुमार पांडेय का पहला काव्य संग्रह मैं गली हूं..का विमोचन तुलसी भवन बिष्टुपुर में हुआ. यह काव्य संग्रह उस वक्त उम्मीद की ऐसी हल्की रौशनी है, जब पत्रकारिता का सरोकार लिखने-पढ़ने से कम होता जा रहा है. बकौल विवेक, यह साहित्य नहीं है. खबरों को तलाशने और उसकी तह में जाने के दौरान कई ऐसी सच्चाई होती है, जिसे हम चाहकर भी लिख नहीं पाते. ये सारी कहानियां दिल के किसी कोने में कुलबुलाती रहती हैं. मैंने उन कहानियों को इन कविताओं के जरिए आवाज दी है. वे लिखते हैं-जितनी भी कविताएं है, वे सच की प्रतिबिंब है. विमोचन समारोह में पत्रकार और साहित्यकार देवेन्द्र सिंह ने कहा कि विवेक में नया करने और सीखने की हमेशा ललक रही है. वे लीक से बंधकर रहनेवालों में नहीं है. उनके लेखन से लेकर व्यक्तित्व तक अलग है. उन्होंने अपनी जिन भावनाओं और अनुभूतियों को काव्य का रूप दिया है, वह उनके खुद के अनुभवों का प्रतिफल है.

विवेक ने मौके पर अपनी कई रचनाओं का काव्य पाठ किया. संवेदवनाओं से उपजी उनकी कविताओं का एक रूप देखिए-रिश्तों के भी अपने मानचित्र होते हैं. सबकी अपनी सीमाएं होती हैं. सबकी अपनी ममताएं होती हैं. सबका अपना स्थान होता है. जी हां, रिश्तों में भी हिन्दुस्तान-पाकिस्तान होता है. विवेक व्यवस्था पर भी सवाल खड़ा करते हैं-कुआं दे दिया, पानी ही नहीं, ये हाल क्यूं हैं..बेहयाई देखिए, पूछते हैं ये परचम लाल क्यूं है..? रोटी के सवाल पर कहते हैं-रोटी जब भूख को ललचाने लगे बार बार, यकीनन मां-बाप के जब्बात भी बदल जाते हैं..सामाजिक सरोकार को उकेरते हैं-जंगलो.., देखा है किस्मत खराब होना, छोटी-सी खबर उसका अखबार होना, जिंदा जली हुई लड़की की तस्वीर, फिर इसी किस्से का बार-बार होना…मौके पर पत्रकार संजय प्रसाद, सत्येन्द्र कुमार, विनय उपाध्याय और ललित दूबे उपस्थित थे.
जमशेदपुर में भी काम किया है विवेक ने
विवेक पांडेय करीब 20 सालों से पत्रकारिता में हैं. 2002 में बलिया से पत्रकारिता की शुरुआत की. प्रिंट, टीवी और डिजिटल तीनों माध्यमों में काम किया है. कोलकाता, जमशेदपुर, चंडीगढ़ और दिल्ली में काम किया है. हाल ही में 40 अंडर 40 पत्रकार के रूप में उन्हें सम्मानित किया गया है.

ये भी पढ़ें- JAMSHEDPUR BREAKING : निकला था प्रेमिका संग तफरीह करने, गोली खाकर पहुंचा अस्पताल

Catalyst IAS
ram janam hospital

Related Articles

Back to top button