JharkhandRanchi

योग टीचर राफिया नाज ने मांगी सरकार से सुरक्षा, बाबूलाल मरांडी ने कहा- महिला सुरक्षा जरूरी

Ranchi: चर्चित योग शिक्षिका राफिया नाज ने राज्य सरकार से अपनी सुरक्षा की गुहार लगायी है. नवम्बर, 2017 में उन्हें सुरक्षा उपलब्ध करायी गयी थी. हालांकि इस साल मार्च के अंतिम सप्ताह से उनसे यह सुविधा वापस ले ली गयी है.

राफिया ने सरकार से इस पर विचार करने को कहा है. भाजपा विधायक दल के नेता बाबूलाल मरांडी ने भी सरकार से इस मामले में पहल करने की अपील की है. सीएम हेमंत सोरेन को इसके लिए चिट्ठी लिखी है. केंद्र सरकार और झारखण्ड के सीएस और प्रभारी डीजीपी को भी इसे भेजा है.

इसे भी पढ़ें – तो क्या मोदी सरकार में सबसे विश्वसनीय इंश्योरेंस कंपनी LIC भी खतरे में आ गयी है!

advt

मानवाधिकार आयोग में मामला

राफिया ने 16 जून, 2020 को रांची एसएसपी को लेटर लिखकर फिर से सुरक्षा मांगी थी. लेटर में कहा गया कि सुरक्षा हटाये जाने के बाद खतरा बढ़ा है. इसके लिए ऑनलाइन एफआइआर भी करायी गयी थी.

सुरक्षा हटाये जाने के मामले में अब मानवाधिकार आयोग ने सरकार से जानकारी मांगी है. आयोग ने 12 जुलाई, 2020 को रांची पुलिस को एक लेटर भेजा है. उससे 8 सप्ताह में जवाब देने को कहा गया है. महिला आयोग ने भी मामले पर संज्ञान लिया है.

इसे भी पढ़ें – देश में लगातार 5वें दिन 50 हजार से अधिक नये Corona केस, 18 लाख के पार आंकड़ा

2015 से ही विवाद 

चार साल की उम्र से ही राफिया योग कर रही हैं. अब तक उन्हें योग के लिए 50 से अधिक गोल्ड मेडल मिले हैं. योग गुरू रामदेव के साथ भी वह मंच साझा कर चुकी हैं.

adv

मुस्लिम बहुल देश सऊदी अरब में योग को खेल का दर्जा दिया गया है. दुनियाभर में विश्व योग दिवस भी मनाया जाने लगा है. पर योग सीखने और सिखाने की वजह से 2015 से राफिया को चुनौतियों का सामना करना पड़ा है. उनके घर पर ढेला फेंके जाने, मारपीट और गाली-गलौज होने की घटना सामने आ चुकी है. उनके खिलाफ फतवा तक जारी होता रहा है.

इसे भी पढ़ें – छात्रा से दुष्कर्म के बाद हत्या का आरोपी 4 महीने बाद भी फरार,  सीएम ने त्वरित कार्रवाई का निर्देश दिया

advt
Advertisement

5 Comments

Leave a Reply

Your email address will not be published.

Related Articles

Back to top button