JharkhandLead NewsRanchi

वर्षांत 2021 : उच्च शिक्षा, नये विश्वविद्यालयों की मिली सौगात, पर पुराने कैसे हों संचालित इस पर नहीं बनी बात

Ranchi : हेमंत सोरेन की सरकार ने दो साल पूरे कर लिए हैं. इन दो सालों में राज्य की जनता को कई मायने में सौगात मिली है तो कई जगहों पर निराश भी होना पड़ा है. उच्च शिक्षा के क्षेत्र में राज्य सरकार ने उपलब्धियां अपने नाम कीं. राज्य में उच्च शिक्षा की स्थिति को देश भर में स्थान दिलाने के लिए नये यूनिवर्सिटी खोलने की प्रक्रिया शुरू हुई है. साथ ही विश्वविद्यालयों में अरसे से सुस्त पड़ी असिस्टेंट प्रोफ़ेसर की नियुक्ति भी शुरू हुई. इसके बाद भी पहले से संचालित विवि अब भी पदाधिकारियों, कर्मियों और शिक्षकों की नियुक्ति की राह देख रहे हैं.

इसे भी पढ़ें : Jharkhand में कोरोना विस्फोट के बाद सरकार सक्रिय, ज्यादा केस वाले इलाकों को हॉटस्पॉट बनाकर 24 घंटे में कांटैक्ट ट्रेसिंग का निर्देश

20 निजी विवि के साथ खुलेगी दो स्टेट यूनिवर्सिटी

SIP abacus

राज्य सरकार ने उच्च शिक्षा को उंचाइयों पर ले जाने के लिए कदम उठाये हैं. सरकार ने इसी साल मिले 20 नये निजी विवि खोलने के मिले प्रस्ताव में से 11 को लेटर ऑफ इंटेंट दिया है.

MDLM
Sanjeevani

इसे भी पढ़ें : मोतिहारी में शिक्षक ने 9वीं की छात्रा से किया दुष्कर्म, वीडियो किया वायरल

साथ ही ओपन यूनिवर्सिटी और स्किल यूनिवर्सिटी के नाम से स्टेट यूनिवर्सिटी खोलने की घोषणा की है. स्किल यूनिवर्सिटी के खोने पर लगभग 300 करोड़ रुपये खर्च करने की योजना है. साथ ही ओपन यूनिवर्सिटी और स्किल यूनिवर्सिटी में पद सृजन करने के साथ ही नियुक्तियों की प्रक्रिया भी शुरू करने की तैयारी चल रही है. निजी विश्वविद्यालयों में केके

विश्वविद्यालय धनबाद, आरवीएस विश्वविद्यालय जमशेदपुर, कृष्णानंद त्रिपाठी विश्वविद्यालय डालटेनगंज, डॉ विक्रम सारा भाई विश्वविद्यालय कोडरमा, इंटरनेशनल विवि बोकारो, अरोग्यम इंटरनेश्नल विश्वविद्यालय गढ़वा, जामिनिकांत विश्वविद्यालय जमशेदपुर, मनराखन विश्वविद्यालय रांची, दिनेश सिंह विश्वविद्यालय, सोना देवी विश्वविद्यालय और श्रीनाथ विश्वविद्यालय खोलने को लेकर लेटर ऑफ इंटेंट दिया गया है.

पहले के विश्वविद्यालयों को कैंपस-शिक्षक का इंतजार

झारखंड देश का ऐसा स्टेट है जहां 12 स्टेट यूनिवर्सिटी के साथ 15 प्राइवेट यूनिवर्सिटी हैं. यहां की रक्षा शक्ति यूनिवर्सिटी देश की तीसरी रक्षाशक्ति यूनिवर्सिटी है. देश के गिने-चुने राज्य में झारखंड आता है जहां महिला के लिए अलग विवि और टेक्निकल शिक्षा लेने वाले स्टूडेंट्स के लिए अलग विवि हैं. पर रक्षाशक्ति यूनिवर्सिटी को अब तक अपना कैंपस नहीं मिल सका. महिला यूनिवर्सिटी जमशेदपुर वीसी, रजिस्ट्रार सहित अन्य कर्मियों की नियुक्ति का इंतजार कर रहा है. झारखंड यूनिवर्सिटी ऑफ टेक्नोलॉजी ऐसा विवि जहां स्थायी तौर पर केवल कुलपति ही हैं. हेमंत सोरेन की सरकार के दो साल पूरा होने के बाद भी यहां कर्मचारियों की नियुक्ति नहीं हो सकी.

अन्य स्टेट यूनिवर्सिटी में शिक्षकों के अब भी पद रिक्त हैं. झारखंड के विश्वविद्यालय सिर्फ 30 प्रतिशत क्षमता पर कार्य कर रहे हैं. असिस्टेंट प्रोफ़ेसर के रिक्त पदों की बात करें तो रांची विश्वविद्यालय में 120, विनोबा भावे विश्वविद्यालय में 10, सिदो-कान्हू मुर्मू विश्वविद्यालय में 72, नीलांबर-पीतांबर विश्वविद्यालय में 111 और कोल्हान विश्वविद्यालय में 239 केवल असिस्टेंट प्रोफ़ेसर के पद रिक्त हैं.

इसे भी पढ़ें : Corona Update: मुंबई व दिल्ली में एक ही दिन में संक्रमितों की संख्या दोगुनी वृद्धि, तीसरी लहर की आशंका को मिला बल

Related Articles

Back to top button