न्यूज़ विंग
कल का इंतज़ार क्यों, आज की खबर अभी पढ़ें

2017 में भारत में वायु प्रदूषण ने ली 12 लाख लोगों की जानः रिपोर्ट

639
  • रिपोर्ट के अनुसार, प्रदूषित हवा से दक्षिण एशिया में जन्मे बच्चों की उम्र ढाई साल घटी
  • देश में स्वास्थ्य संबंधी खतरों में वायु प्रदूषण का तीसरा स्थान इसके बाद धूम्रपान खतरनाक
  • दुघटनाओं और मलेरिया की तुलना में वायु प्रदूषण से ज्यादा मौत हो रहीं

New Delhi: भारत में 2017 में करीब 12 लाख लोगों की मौत वायु प्रदूषण की वजह से हुई है. वायु प्रदूषण पर आई एक वैश्विक रिपोर्ट में यह जानकारी दी गई है.

प्रदूषित वायु ने ली 12 लाख जानें

स्टेट ऑफ ग्लोबल एयर 2019 के मुताबिक लंबे समय तक घर से बाहर रहने या घर में वायु प्रदूषण की वजह से 2017 में स्ट्रोक, मधुमेह, दिल का दौरा, फेफड़े के कैंसर या फेफड़े की पुरानी बीमारियों से करीब पूरी दुनिया में करीब 50 लाख लोगों की मौत हुई.

रिपोर्ट में बताया गया है,‘ इनमें से तीस लाख मौतें सीधे तौर पर  पार्टिकुलेट मैटर (पीएम) 2.5 से जुड़ीं हैं. इनमें से करीब आधे लोगों की मौत भारत व चीन में हुई है. साल 2017 में इन दोनों देशों में 12-12 लाख लोगों की मौत इस वजह से हुई.’

इसे भी पढ़ेंः मुद्रा योजना से जुड़े रोजगार के आंकड़ें अविश्वसनीय, मोदी सरकार ने दिये दोबारा जांच के आदेश

वायु प्रदूषण के बाद धूम्रपान बड़ा खतरा

Related Posts

मोदी सरकार खुफिया अफसरों के माध्यम से  महबूबा मुफ्ती  और उमर अब्दुल्ला का रुख भांप रही है!

केंद्र सरकार  घाटी में शांति और सद्भाव स्थापित करने के मकसद से राज्य दो पूर्व मुख्यमंत्रियों को साधने की कोशिश में जुटी है.

SMILE

अमेरिका की हेल्थ इफैक्ट्स इंस्टीट्यूट (एचईआई) ने यह रिपोर्ट बुधवार को जारी की. इसमें बताया गया है कि भारत में स्वास्थ्य संबंधी खतरों से होने वाली मौतों का तीसरा सबसे बड़ा कारण वायु प्रदूषण और इसके बाद धूम्रपान है.

रिपोर्ट के मुताबिक, इस वजह से दक्षिण एशिया में मौजूदा स्थिति में जन्म लेने वाले बच्चों का जीवन ढाई साल कम हो जायेगा. वहीं वैश्विक जीवन प्रत्याशा में 20 महीने की कमी आएगी. इंस्टीट्यूट का कहना है कि विश्व में सड़क दुर्घटनाओं, मलेरिया की तुलना में प्रदूषण से ज्यादा लोगों की मौत हो रही हैं.
इसे भी पढ़ेंःमैं नहीं लड़ूंगा लोकसभा चुनाव, किसी भी हाल में जीतेगा एनडीएः रवींद्र…

सरकार के प्रयास सराहनीय

संस्थान का कहना है कि भारत सरकार द्वारा प्रदूषण से निपटने के लिए शुरू की गई प्रधानमंत्री उज्ज्वला योजना, घरेलू एलपीजी कार्यक्रम, स्वच्छ वाहन मानक और नया राष्ट्रीय स्वच्छ वायु कार्यक्रम से आने वाले वर्षों में लोगों को महत्वपूर्ण स्वास्थ्य लाभ मिलेंगे.

इसे भी पढ़ेंः सीवानः पूर्व जेडीयू नेता के बेटे की निर्मम हत्या, अपहरण कर मांगे थे 50 लाख

हमें सपोर्ट करें, ताकि हम करते रहें स्वतंत्र और जनपक्षधर पत्रकारिता...

Get real time updates directly on you device, subscribe now.

You might also like
%d bloggers like this: