HazaribaghJharkhandMain SliderTop Story

यशवंत सिन्हा का ट्वीट- पहले मैं लायक बेटे का नालायक बाप था, अब रोल बदल गया है

विज्ञापन

Hazaribaug: रामगढ़ मॉब लिंचिंग के आरोपियों को माला पहनाकर जयंत सिन्हा चौतरफा आलोचना झेल रहे हैं. सोशल मीडिया पर उनकी खूब खिंचाई हो रही है. अब जयंत सिन्हा के पिता और पूर्व केन्द्रीय मंत्री यशवंत सिन्हा ने ट्विटर के माध्यम से बेटे को ‘नालायक’ कहा है.

इसे भी पढ़ें- ‘गोरक्षा’ के नाम पर हुई हत्या के अभियुक्तों का केंद्रीय मंत्री ने किया स्वागत, रिहाई पर बांटी मिठाई
यशवंत सिन्हा ने अपने ट्विटर हैंडल पर लिखा है-

पहले मैं लायक बेटे का नालायक बाप था, लेकिन अब रोल की अदला-बदली हो गई है. ये ट्विटर है. मैं अपने बेटे के इस कृत्य का समर्थन नहीं करता. मुझे पता है कि इस बात के लिए भी मेरी आलोचना होगी. आप उनसे कभी जीत नहीं सकते.

advt

पिता के ट्वीट ने बढ़ाईं जयंत की मुश्किलें

जमानत पर छूटे मॉब लिंचिंग के आरोपियों को फुलों का हार पहना कर स्वागत करने के बाद जयंत सिन्हा भले ही आरएसएस और मोदी के और करीब आ जायेंगे, लेकिन अब तक वह सिर्फ विपक्षी पार्टियों के निशाने पर थे. अब यशवंत सिन्हा के इस ट्विट ने जयंत सिन्हा के लिए मुश्किलें खड़ी कर दी है. यशवंत सिन्हा के ट्विट को अब तक करीब एक हजार लोगों ने रीट्विट किया है. लोग लगातार अपनी प्रतिक्रिया लगातार दे रहें है.

होमो टाइटन नाम के यूजर लिखते हैं-

मैंने नहीं सोचा था कि वो ऐसा काम करेगा. वो शानदार इंसान और बेहतर नेता है. अगर गलत है तो वो अपनी संतान को भी दंड देगा. यशवंत सिन्हा के लिए सम्मान

आलिम नाम के ट्विटर हैंडलर लिखते हैं-

मैंने अपनी पूरी जिंदगी में ऐसा कम ही देखा है कि एक हाईप्रोफाइल पिता खुलेआम अपने बेटे के गंदे कर्म को गलत बता रहा है. मानो सत्ता में बने रहना आपकी नैतिकता और संस्कार से बड़ा हो गया हो. अफसोस!

राफत नाम के यूजर लिखते हैं-

सिन्हा साहब,आपके जज़्बे, सब्र और भद्रता को सलाम।बट बिग नो टू यौर”यु कैन नेवर विन”..हम जरूर होंगे कामयाब एक दिन।

भाजपा से खुद को अलग करने और केंद्र सरकार के खिलाफ लगातार बगावती तेवर वाले यशवंत सिन्हा के इस ट्विट को लोग जयंत सिन्हा द्वारा मॉब लिंचिंग के आरोपियों का हार पहना कर स्वागत करने से जोड़ कर देख रहें हैं. बताया जा रहा है कि शुक्रवार को जब ये लोग जेल से छूटे तो केंद्रीय मंत्री जयंत सिन्हा ने कथित तौर पर माला पहनाकर उनका स्वागत किया. ये तस्वीरें इंटरनेट पर शेयर की जा रही हैं.

हत्या के अभियुक्तों का केंद्रीय मंत्री ने किया स्वागत, रिहाई पर बांटी मिठाई
हत्या के अभियुक्तों का जयंत सिन्हा ने किया स्वागत, रिहाई पर बांटी मिठाई

क्या है पूरा मामला

अलीमुद्दीन अंसारी की मौत के मामले में शुरुआती पुलिस जांच के मुताबिक़, गौ-रक्षकों के एक दल ने उनका 15 किलोमीटर तक पीछा करने के बाद बाजाटांड़ इलाके में भीड़ देखकर गौमांस ढोए जाने का हल्ला किया. इसके बाद भीड़ में शामिल लोगों ने सरेआम पीट-पीटकर उन्हें बुरी तरह घायल कर दिया. लोगों ने उनकी गाड़ी भी फूंक दी थी. बाद में अस्पताल ले जाते समय अलीमुद्दीन की मौत हो गई.

इस मामले के लिए बनाई गई फास्ट ट्रैक कोर्ट ने 11 अभियुक्तों को दोषी मानकर उन्हें उम्रक़ैद की सज़ा सुनाई थी जिनमें स्थानीय बीजेपी नेता नित्यानंद महतो भी शामिल थे. लेकिन जब ये मामला रांची हाईकोर्ट पहुंचा तो हाईकोर्ट ने इन लोगों की सज़ा पर स्टे लगाकर उन्हें ज़मानत पर रिहा कर दिया.

न्यूज विंग एंड्रॉएड ऐप डाउनलोड करने के लिए आप यहां क्लिक कर सकते हैं. आप हमें फ़ेसबुक और ट्विटर पेज लाइक कर फॉलो भी कर सकते हैं

Advertisement

Leave a Reply

Your email address will not be published.

Related Articles

Back to top button
Close