न्यूज़ विंग
कल का इंतज़ार क्यों, आज की खबर अभी पढ़ें

एक समय में मैसेजिंग की दुनिया में राज करने वाला याहू मैसेंजर आखिर क्यों हुआ बंद

541

NW Desk : याहू मैसेंजर को 17 जुलाई से बंद कर दिया गया है. कंपनी ने कहा है कि वह लगातार नई सेवाओं और ऐप्स के साथ प्रयोग कर रहे हैं. इसमें से एक ‘याहू स्कवीरल ‘ नाम का ऐप भी शामिल है. हांलाकि वह अभी बीटा फॉर्म में है. गौरतलब है कि याहू मैसेंजर बहुत ही पुराना इंस्टेट मैसेजिंग सर्विस था. एक वक्त था जब लोग इसका खूब इस्तेमाल किया करते थे. लेकिन आज एक वक्त है जब इसे बंद कर दिया जा रहा है. आखिर ऐसा क्या हुआ कि एक समय पर राज करने वाला यह मैसेंजर आज बंद हो गया.

इसे भी पढ़े- भूमि अधिग्रहण बिल पर विपक्ष ने फूंका बिगुल, हेमंत ने कहा – जनता पर थोपा जा रहा काला कानून

याहू खुद को लोगों की जरूरतों के हिसाब से अपडेट नहीं कर सका

टेक्नोलॉजी की दुनिया में लगातार बदलाव आ रहे हैं. हर दूसरे दिन एक अपडेड आता है. ऐसे में किसी भी टेक्नोलॉजी को मार्केट में टिके रहने और लोगों के बीच अपनी लोकप्रियता बनाए रखने के लिए जरूरी है कि वह खुद को अपडेड करता रहे. लगातार तकनीकें बदलती रहती है और इसके साथ लोगों की जरूरतें भी बदलती रहती है. इसके हिसाब से चलने की जरूरत होती है. लेकिन याहू मैसेंजर इस रेस में पीछे रह गया. उसने लोगों को मैसेज करने का जरिया तो दिया लेकिन खुद को उनकी जरूरतों के हिसाब से अपडेट नहीं कर सका.

इसे भी पढ़े- साईनाथ, राय और इक्फाई यूनिवर्सिटी के कुलपति की योग्यता यूजीसी गाइडलाईन के अनुरूप नहीं

लोगों की उम्मीदें समय के साथ बढ़ रही है

silk_park

आज लोगों को सिर्फ मैसेंजर नहीं चाहिए बल्की उसके अलावा और भी बहुत से फंक्शन चाहिए. जिस तरिके से टेक्नोलॉजी दिन प्रतिदिन अपडेट रहा है. आगे बढ़ रहा है. उसमें मैसेज करना अब सिर्फ टेक्स्ट के जरिए सिर्फ नहीं रहा बल्कि और भी तरीके इसमें जुड़ गए हैं. अब लोग गूगल हैंगआउट, स्काइप जैसी सर्विस का इस्तेमाल कर रहे हैं. जहां वह वीडियो कॉलिंग कर सकते हैं. इसके साथ टेक्सट भी कर सकते हैं. याहू में भी यह सब किया जा सकता है. लेकिन जिस तरह से याहू ने खुद में ये बदलाव किये वह लोगों को पसंद नहीं आया. लोगों को और भी ज्यादा उम्मीदें थी. जिसपर याहू मैसेंजर खरा नहीं उतर सका. टेक्नोलॉजी की दुनिया में लोगों को जितना बड़ा आसमान मिलेगा उतना ही ज्यादा लोग इसका फायदा उठा सकेंगे.

इसे भी पढ़े- आरटीआई से ना सूचना देंगे और ना भ्रष्टाचार होगा उजागर

इसे भी पढ़े- जहर खाकर मरी लड़की के पिता से पुलिस ने वसूले 15 हजार!

न्यूज विंग एंड्रॉएड ऐप डाउनलोड करने के लिए आप यहां क्लिक कर सकते हैं. आप हमें फ़ेसबुक और ट्विटर पेज लाइक कर फॉलो भी कर सकते हैं. 

हमें सपोर्ट करें, ताकि हम करते रहें स्वतंत्र और जनपक्षधर पत्रकारिता...

Comments are closed.

%d bloggers like this: