JamshedpurJharkhand

XLRI के छात्र शाश्वत दीक्षित की मौत जहर से हुई थी, 9 माह पहले गर्ल्स हॉस्टल के पास मिला था शव

Jamshedpur: शहर के बिष्टुपुर थाना क्षेत्र स्थित एक्सएलआरआइ, जमशेदपुर  के छात्र शाश्वत दीक्षित की मौत 18 जनवरी 2019  को हुई थी. उसका शव एक्सएलआरआइ कैंपस के पास ही मिला था. तब से पुलिस मामले की जांच में जुटी थी.

मौत के लगभग नौ महीने के बाद शाश्वत की मौत के मामले में नया मोड़ आ गया है. शाश्वत के पोस्टमार्टम रिपोर्ट में इस बात का खुलासा हुआ है कि उसकी मौत जहर की वजह से हुई है.

एक्सएलआरआइ जमशेदपुर

जहर की वजह से मौत होने के खुलासे के बाद मृतक छात्र के पिता अवधेश कुमार दीक्षित की शिकायत पर अज्ञात के खिलाफ साजिश के तहत हत्या किये जाने की प्राथमिकी दर्ज करायी गयी है. इसके पहले अस्वाभाविक मौत का मामला दर्ज किया गया था. प्राथमिकी के बाद एक बार फिर से नये सिरे से मामले की जांच की जाएगी.

advt

इसे भी पढ़ें- #RTIAct में संशोधन के बाद मुख्य सूचना आयुक्त, सूचना आयुक्तों का कद घटाने की तैयारी में मोदी सरकार, ड्राफ्ट तैयार

गर्ल्स हॉस्टल मदर टेरेसा रेजीडेंसी के गेट पर गिरा मिला था शव

शाश्वत दीक्षित 18 जनवरी 2019 को एक्सएलआरआइ कैंपस के गर्ल्स हॉस्टल  मदर टेरेसा रेजीडेंसी के गेट पर गिरा मिला था. जिसके बाद छात्रों ने उसे टीएमएच पहुंचाया, जहां डॉक्टर ने उसे मृत घोषित कर दिया था.

प्रतिकात्मक फोटो

शाश्वत अपने चार दोस्तों के साथ रात में एक होटल में डिनर किया था. वहां उसने शराब भी पी थी. इसके बाद सभी कैंपस लौट गये थे. शाश्वत संत थॉमस ब्वाॅयज हॉस्टल में दोस्त के कमरे में चला गया.

वहां करीब एक घंटे तक बातचीत के बाद सभी ने फिर शराब पी. बाद में सभी छात्र सोने चले गये. रात करीब 1.30 बजे जब दूसरे साथियों की आंख खुली, तो पाया कि शाश्वत वहां नहीं था.

adv

उन्हें लगा कि वह वॉशरूम गया होगा. जिसके बाद सुबह वह गर्ल्स हॉस्टल के गेट पर गिरा मिला. सीसीटीवी फुटेज में वह ब्वाॅयज हॉस्टल से निकल कर गर्ल्स हॉस्टल की तरफ जाता दिखा था.

इसे भी पढ़ें- सीएम के गृह जिले में हो रहा #PMAwasYojna की जमीन पर कब्जा, अतिक्रमण के कारण ढाई हजार की जगह अब बनेंगे कवेल 1100 मकान

22 लाख के पैकेज पर हुआ था प्लेसमेंट 

शाश्वत मूल रूप से कानपुर का रहने वाला था, उसके परिजन मुंबई में रहते हैं. एक्सेंचर कंपनी में 22 लाख के पैकेज पर उसका प्लेसमेंट हुआ था. मार्च के बाद शाश्वत को कंपनी ज्वाॅइन करनी थी.

प्रतिकात्मक फोटो

पिता अवधेश कुमार दीक्षित ने बिष्टुपुर थाना में दर्ज प्राथमिकी में कहा कि पुत्र एक्सएलआरआइ संस्थान में 2017-19 का छात्र था. उसकी मौत 18 जनवरी को हुई थी.

19 जनवरी को शव का पोस्टमार्टम किया गया. जिसके बाद बिसरा जांच को सुरक्षित रख लिया गया था. बिसरा जांच को एफएसएल रांची भेजा गया. जिसमें यह पाया गया कि जहरीला पदार्थ के कारण शाश्वत की मौत हुई है. इसे लेकर शाश्वत के पिता ने कहा है कि अज्ञात व्यक्तियों द्वारा साजिश रचकर मेरे बेटे को जहर खिलाकर उसकी हत्या कर दी गयी.

इसे भी पढ़ें- #ExamTips: एक जनवरी से शुरू होगा क्लैट 2020 रजिस्ट्रेशन, पिछले साल के प्रश्नों से सीख लेकर करें तैयारी

मामले की जांच में जुटी है पुलिस

प्रतिकात्मक फोटो

इस मामले में बिष्टुपुर थाना प्रभारी का कहना है कि शाश्वत दीक्षित के पिता के द्वारा अज्ञात लोगों के ऊपर साजिश के तहत हत्या करने का मामला दर्ज कराया गया है.

पुलिस मामले की जांच में जुटी हुई है. पहले अस्वाभाविक मौत का मामला दर्ज किया गया था. लेकिन जहर से मौत होने की बात का खुलासा होने के बाद एक बार फिर से जांच नये सिरे से की जाएगी.

advt
Advertisement

Related Articles

Back to top button