Lead NewsNationalTOP SLIDER

लेखक नीलोत्पल मृणाल पर 10 साल तक यौन शोषण का आरोप, FIR दर्ज: पीड़िता बोली, पुलिस से भी दिलवाई जाती थी धमकी

New Delhi : लेखक और युवा साहित्य अकादमी पुरस्कार से सम्मानित नीलोत्पल मृणाल पर उत्तर प्रदेश के गोरखपुर की रहने वाली 32 साल की महिला ने यौन शोषण का आरोप लगाया है. लेखक के खिलाफ दिल्ली के तिमारपुर पुलिस स्टेशन में बलात्कार का केस दर्ज हुआ है. महिला का आरोप है कि लेखक ने शादी का झाँसा देकर उससे 10 साल तक दुष्कर्म किया.

दिल्ली पुलिस ने ANI से कहा कि एक महिला की शिकायत पर लेखक के खिलाफ तिमारपुर थाना क्षेत्र में दुष्कर्म का मामला दर्ज हुआ है. घटना की जाँच चल रही है. रेप का आरोप लगाने वाली महिला ने अपनी FIR में ये भी कहा है कि एक पुलिस अधिकारी ने भी उस लेखक पर केस दर्ज करने को लेकर धमकाया है.

Catalyst IAS
ram janam hospital

The Royal’s
Sanjeevani

अधिकारी ने महिला और उसके पिता पर केस वापस लेने का दवाब भी बनाया था. उसने महिला के पिता से कहा कि अगर उसकी बेटी केस करेगी तो उस पर लेखक से पैसे के लिए ब्लैकमेल करने का आरोप लगा दिया जाएगा.

इसे भी पढ़ें:सीनियर राष्ट्रीय महिला हॉकी प्रतियोगिता: आंध्र प्रदेश को पराजित कर क्वार्टर फाइनल में पहुंची झारखंड की टीम

साल 2013 में लेखक से मिली थी महिला

बता दें कि महिला ने अपनी शिकायत में कहा है कि वो संघ लोक सेवा आयोग (यूपीएससी) की परीक्षा की तैयारी करने के दौरान साल 2013 में लेखक से मिली थी और बाद में उनकी दोस्ती हो गई. इसके बाद लेखक ने उससे शादी का वादा करके उसका फायदा उठाया. वो दस वर्षों से दुष्कर्म की शिकार है. वहीं कोर्ट ने लेखक की गिरफ्तारी पर 31 मई तक रोक लगा दी है. दरअसल लेखक की तरफ से कोर्ट में अग्रिम जमानत याचिका दायर की गई थी. इस पर सुनवाई करते हुए कोर्ट ने आदेश पारित किया है.

इसे भी पढ़ें:विधानसभा अध्यक्ष पर उंगली उठाना गलत, ईडी प्रकरण के बाद बाबूलाल कहीं गुम हो गये, चिंता की बातः सुप्रियो

कौन है नीलोत्पल मृणाल?

मूलरूप से झारखंड निवासी नीलोत्पल मृणाल साहित्य जगत का जाना-माना नाम हैं. उन्हें साल 2016 में मशहूर किताब ‘डार्क हॉर्स’ के लिए साहित्य अकादमी युवा पुरस्कार से सम्मानित किया गया था. नीलोत्पल मृणाल का जन्म 25 दिसंबर 1984 में दुमका में हुआ था. ‘डार्क हॉर्स’ के अलावा उनकी किताब ‘औघड़’ भी काफी चर्चा में रही है.
इसे भी पढ़ें :

इसे भी पढ़ें:झारखंड में हुए हैं IAS ऐसे-ऐसे !

Related Articles

Back to top button