JamshedpurJharkhand

world Water Day : 1200 उपभोक्ता जुस्को के पेयजल कनेक्शन से वंचित, भाजपा नेता अंकित ने दायर की जनहित याचिका

कहा- जीवन के अधिकार का अभिन्न अंग है पेयजल, वितरक जुस्को का यह कर्तव्य है कि आवेदकों को पेयजल कनेक्शन देना सुनिश्चित करे

Jamshedpur : गर्मी की दस्तक के साथ ही घोड़ाबंधा जलापूर्ति योजना के तहत नये उपभोक्ताओं को जुस्को का पेयजल कनेक्शन दिलाने का मुद्दा भी गर्माने लगा है. पेयजल कनेक्शन नहीं मिलने से क्षेत्र के क्रमशः घोड़ाबंधा पश्चिम, पूर्वी एवं उत्तरी पंचायतों के 1200 से अधिक उपभोक्ता परेशान हैं. गर्मी से उत्पन्न जलसंकट और त्राहिमाम स्थिति से अवगत कराते हुए पूर्व भाजपा जिला प्रवक्ता अंकित आनंद ने विगत दिनों जुस्को प्रबंधन को कई स्तरों पर पत्र लिखते हुए उचित समाधान का आग्रह किया था. वहीं इस बाबत उपायुक्त से भी हस्तक्षेप का निवेदन किया था. बावजूद इसके जुस्को प्रबंधन ने कोई कवायद शुरू नहीं की.

मालूम हो कि घोड़ाबंधा जलापूर्ति योजना का संचालन झारखंड सरकार ने करारनामे के तहत जुस्को को सुपुर्द किया गया था, लेकिन वर्ष 2017 से ही टाटा स्टील यूटिलिटी एंड इंफ्रास्ट्रक्चर कंपनी लिमिटेड पूर्व में जुस्को नये उपभोक्ताओं को कनेक्शन नहीं दे रही है. जुस्को प्रबंधन की उक्त अघोषित रोक को असंवैधानिक बताते हुए भाजपा नेता अंकित आनंद ने मामले को जिला उपायुक्त एवं पीएचईडी विभाग के भी संज्ञान में लाया था. इसके बावजूद समाधान नहीं होता देख अंकित आनंद ने न्यायालय का रुख किया है. मंगलवार को विश्व जल दिवस के मौके पर अधिवक्ता राजन प्रसाद के माध्यम से जमशेदपुर न्यायालय स्थित लोक उपयोगी सेवाओं की स्थाई लोक अदालत में जनहित याचिका दायर की है. लोक अदालत में वाद दर्ज होने पर याचिकाकर्ता भाजपा नेता की ओर से अधिवक्ता राजन प्रसाद पक्ष रखेंगे. दायर याचिका में अंकित आनंद ने जुस्को प्रबंधन एवं उपायुक्त के माध्यम से झारखंड सरकार को प्रतिवादी बनाया है. वहीं चार मार्च 2022 को जुस्को के सीनियर जीएम कैप्टन धनंजय मिश्रा को प्रेषित पत्र को याचिका का आधार बनाया गया है और उसी पत्र की मांगों को न्यायालय के समक्ष रखा गया है.
न्‍याय म‍िलने तक संघर्ष जारी रखने का संकल्‍प

मालूम हो कि खड़ंगाझार, राधिकानगर, घोड़ाबंधा, ज्योतिनगर, दालखम बस्ती, बारीनगर, धुआं कॉलोनी, धुमा बस्ती, बीएस बस्ती एवं अन्य सटे इलाकों में नये घरों के निर्माण और बस्तियों का विस्तार हुआ है. किंतु आवेदन के बावजूद लगभग 1200 नये उपभोक्ताओं को टाटा स्टील यूटिलिटी एंड इंफ्रास्ट्रक्चर कंपनी लिमिटेड जुस्को द्वारा वर्ष 2017 से ही पेयजल कनेक्शन से वंचित रखा गया है. इस अमानवीय रवैये के खिलाफ न्याय की मांग करते हुए भाजपा नेता अंकित आनंद ने जनहित में परिवाद दायर किया है. न्यायालय द्वारा संज्ञान लिये जाते ही मामले में सुनवाई शुरू होगी. अंकित आनंद ने कहा कि स्वच्छ पेयजल जीवन के अधिकार का अभिन्न अंग है. वहीं सरकार के संग समझौते के तहत वितरक जुस्को का यह परम कर्तव्य है कि आवेदनों पर प्राथमिकता पूर्वक संज्ञान लेकर आवेदकों को पेयजल कनेक्शन देना सुनिश्चित करें. कोई व्यक्ति या संस्थान संविधान से ऊपर नहीं हो सकता. हर हाल में जुस्को को 1200 लंबित आवेदनों का निस्तारण करना होगा. न्याय मिलने तक व्यापक जनहित में संघर्ष जारी रहेगा.

Catalyst IAS
ram janam hospital

ये भी पढ़ेंअचानक क्‍या हुआ क‍ि कांग्रेस के राष्‍ट्रीय प्रवक्‍ता डॉक्‍टर अजय कुमार ने कह द‍िया Thank You Modi Ji, जान‍िए ‘हृदय पर‍िवर्तन’ की वजह

The Royal’s
Pitambara
Pushpanjali
Sanjeevani

Related Articles

Back to top button