न्यूज़ विंग
कल का इंतज़ार क्यों, आज की खबर अभी पढ़ें

विश्व टूर फाइनल्सः पीवी सिंधू की जीत से शुरुआत

29

Guangzhou(China): रियो ओलंपिक रजत पदक विजेता पी वी सिंधू ने विश्व टूर फाइनल्स बैडमिंटन टूर्नामेंट में जीत के साथ शुरुआत की है. सिंधू ने टूर्नामेंट के महिला एकल ग्रुप ए के पहले मैच में बुधवार को विश्व में नंबर दो और मौजूदा चैंपियन अकाने यामागुची को सीधे गेम में पराजित करके अपने अभियान का शानदार आगाज किया. दुबई में पिछली बार उप विजेता रही सिंधू ने संयम और आक्रामकता का अच्छा नमूना पेश किया और जापानी खिलाड़ी को 24-22, 21-15 से हराया.

mi banner add

जीत से आगाज

टूर्नामेंट में तीसरी बार भाग ले रही सिंधू ने कई अवसरों पर पिछड़ने के बावजूद हौसला बनाये रखा. पहला गेम 27 मिनट तक चला और इसमें दोनों शटलर ने एक दूसरे पर हावी होने में कोई कसर नहीं छोड़ी. पहले गेम में इंटरवल के समय सिंधू 6-11 से पीछे चल रही थी. लेकिन इसके बाद उन्होंने जबर्दस्त वापसी की और अपनी प्रतिद्वंद्वी के बैकहैंड पर करारे स्मैश लगाकर स्कोर 19-19 से बराबर कर दिया. इसके बाद खिलाड़ियों की मानसिकता की परीक्षा थी, जिसमें भारतीय अव्वल रही और उन्होंने पहला गेम अपने नाम कर दिया.

दोनों गेम में पिछड़ने के बावजूद यामागुची को हराया

Related Posts

वर्ल्ड कप में  हार का साइड इफेक्ट : रोहित शर्मा को वनडे और टी-20 का कप्तान बनाये जाने की संभावना

सूत्रों के अनुसार भारतीय क्रिकेट कंट्रोल बोर्ड (बीसीसीआई) कप्तान विराट कोहली और उपकप्तान रोहित शर्मा के बीच विवादों और टीम में खेमेबाजी की खबरों से बेहद चिंतित हैं.

दूसरे गेम में यामागुची ने भारतीय खिलाड़ी के बैकहैंड को निशाने पर रखकर दबाव बनाने की कोशिश की. लेकिन सिंधू इस चुनौती के लिये तैयार थी और उन्होंने जापानी खिलाड़ी को करारा जवाब देकर 3-1 से बढ़त हासिल कर ली.

यामागुची ने हालांकि दबाव बनाये रखा और इस बीच सिंधू ने भी एक गलती की, जिससे जापानी खिलाड़ी 6-3 से बढ़त पर आ गयी. यामागुची ने इसके बाद बाहर शॉट मारा और एक बार उनकी शटल नेट पर भी उलझी. इससे सिंधू को वापसी का मौका मिला और वह 8-7 से आगे हो गयी. यामागुची ने हालांकि हार नहीं मानी और इंटरवल तक वह 11-10 से आगे हो गयी.

सिंधू ने ब्रेक के बाद जापानी खिलाड़ी की दो गलतियों का फायदा उठाकर 14-11 से बढ़त बनायी. वह यहीं पर नहीं रूकी और उन्होंने जल्द ही 18-11 से बढ़त बनाकर अपनी स्थित मजबूत कर ली. यामागुची ने जब शॉट नेट पर मारा तो सिंधू को छह मैच प्वाइंट मिल गये. जापानी ने एक मैच प्वाइंट बचाया, लेकिन वह फिर से नेट पर खेल गयी और सिंधू ने मैच अपने नाम कर दिया. इस टूर्नामेंट में प्रत्येक ग्रुप से दो खिलाड़ी सेमीफाइनल के लिए क्वालीफाई करेंगी जिसके बाद नॉकआउट का ड्रा होगा. सत्र के इस आखिरी टूर्नामेंट में चोटी के आठ खिलाड़ी भाग ले रहे हैं.

हमें सपोर्ट करें, ताकि हम करते रहें स्वतंत्र और जनपक्षधर पत्रकारिता...

Get real time updates directly on you device, subscribe now.

You might also like
%d bloggers like this: