न्यूज़ विंग
कल का इंतज़ार क्यों, आज की खबर अभी पढ़ें

सिदो कान्हू मुर्मू विश्वविद्यालय में विश्व आत्महत्या निवारण दिवस मनाया गया

सिदो कान्हू मुर्मू विश्विद्यालय की अंगीभूत इकाई संताल परगना कॉलेज के मनोविज्ञान विभाग ने सोमवार को साइकोलॉजी लैब में वर्ल्ड सुसाइड प्रिवेंशन डे (विश्व आत्महत्या निवारण दिवस) मनाया.

302

Dumka : सिदो कान्हू मुर्मू विश्विद्यालय की अंगीभूत इकाई संताल परगना कॉलेज के मनोविज्ञान विभाग ने सोमवार को साइकोलॉजी लैब में वर्ल्ड सुसाइड प्रिवेंशन डे (विश्व आत्महत्या निवारण दिवस) मनाया. इस अवसर पर विभाग के शिक्षक डॉ कलानंद ठाकुर, डॉ विनोद कुमार शर्मा, डॉ किलिश मरांडी, अंग्रेजी विभाग के प्राध्यापक डॉ कुमार पीयूष, दर्शनशास्त्र की प्राध्यापक डॉ रंजना त्रिपाठी, डॉ पूजा गुप्ता, विद्यार्थियों में सीमा लकड़ा, राजू हांसदा, ब्रेन्तु हांसदा, साहेब मुर्मू, जोएल टुडू सहित अनेक छात्र छात्राएं उपस्थित थे.

कार्यक्रम में डॉ ठाकुर ने कहा कि छात्रों के लिए वर्त्तमान शिक्षा जितनी गुणकारी साबित हो रही है, उतनी ही तनाव व अवसाद को भी बढ़ावा दे रही है. मेन्टल हेल्थ काउन्सलिंग सेन्टर के समन्वयक सह मनोविभाग के प्राध्यापक डॉ विनोद कुमार शर्मा ने इसे वर्तमान समय की बहुत बड़ी चुनौती बताते हुए कहा कि आत्महत्या का कारण आंतरिक आक्रामकता है, जो न केवल निराशा व सामाजिक निंदा से उत्पन्न हुआ होता है, बल्कि ऐसा कमजोर लोग करते हैं.

इसे भी पढ़ें:  भारत बंद का रांची में मिलाजुला असर, झरिया में बंद समर्थक गिरफ्तार

hosp3

व्यक्ति जब खुुुद को असहाय व बेकार  समझ लेता है तो आत्महत्या करने की सोचता है

पारिवारिक व सामाजिक वातावरण जन्य परिस्थितियां उनमें तनाव उत्पन्न करती हैं. स्वस्थ पारिवारिक, सामाजिक व शैक्षणिक वातावरण न होने के कारण आत्महत्या जैसी नकारात्मक प्रवृत्तियां घर कर जाती हैं. व्यक्ति जब सभी तरफ से अपने को असहाय, बेकार व आशाहीन समझ लेता है और जहां सहानुभूति के सारे दरवाजे बंद दिखते हैं तो वैसी परिस्थितियों में आत्महत्या करना एक मात्र विकल्प शेष रह जाता है.अगर ऐसी परिस्थितियों पर सही रूप से अंकुश या रोकथाम लगाना है तो पारिवारिक, समाज-सांस्कृतिक मानकों को मजबूत करना होगा.

कार्यक्रम में डॉ रंजना त्रिपाठी ने आध्यत्मिक पहलुओं पर जेार दिया. अंग्रेजी के प्राध्यापक डॉ कुमार पीयूष ने वर्तमान तकनीकी व्यवस्था को भी जिम्मेवार ठहराया. कार्यक्रम में मंच संचालन डॉ किलिश मरांडी ने व धन्यवाद ज्ञापन डॉ पूजा गुप्ता ने किया.

इसे भी पढ़े : बस किराये में 30 फीसदी की वृद्धि, 11 सितंबर से लागू होगा नया किराया, 10 को बंद रहेगा परिचालन : बस…

 

हमें सपोर्ट करें, ताकि हम करते रहें स्वतंत्र और जनपक्षधर पत्रकारिता...

You might also like
%d bloggers like this: