न्यूज़ विंग
कल का इंतज़ार क्यों, आज की खबर अभी पढ़ें

वर्ल्ड कपः कोहली ने बताया, आखिर क्यों उन्होंने दिसंबर 2017 के बाद से नहीं की गेंदबाजी

‘टीम में कोई मेरी गेंदबाजी को गंभीरता से नहीं लेता’

711

Southampton: अपनी बल्लेबाजी से कई रिकॉर्ड तोड़ने वाले विराट कोहली के नाम पर आठ से अधिक अंतरराष्ट्रीय विकेट दर्ज होते अगर उनकी टीम के साथी उनकी मध्यम गति की गेंदों पर उतना भरोसा करते जितना वह स्वयं करते हैं.

मेरी गेंदबाजी को कोई गंभीरता से नहीं लेता

कोहली ने मजाकिया लहजे में बताया कि आखिर क्यों उन्होंने दिसंबर 2017 के बाद अंतरराष्ट्रीय क्रिकेट में गेंदबाजी नहीं की.

विश्व कप के मेजबान प्रसारणकर्ता को दिए साक्षात्कार में भारतीय कप्तान ने कहा, ‘श्रीलंका (2017 में) में एकदिवसीय अंतरराष्ट्रीय श्रृंखला के दौरान हम लगभग सारे मैच जीत रहे थे, मैंने महेंद्र सिंह धोनी से पूछा कि क्या मैं गेंदबाजी कर सकता हूं. जैसे ही मैं गेंदबाजी के लिए तैयार हुआ बुमराह (जसप्रीत) बाउंड्री से चिल्लाया और कहा ‘कोई मजाक नहीं, यह अंतरराष्ट्रीय मैच है’.’

उन्होंने कहा, ‘टीम में किसी को भी मेरी गेंदबाजी पर उतना भरोसा नहीं है, जितना मुझे है. इसके बाद मेरी पीठ में तकलीफ हो गई और इसके बाद मैंने कभी गेंदबाजी नहीं की.’

कोहली अब भी नेट पर गेंदबाजी करते हैं और इस हफ्ते यहां अभ्यास सत्र के दौरान भी उन्होंने गेंदबाजी की.

कोहली ने एकदिवसीय अंतरराष्ट्रीय क्रिकेट में चार जबकि टी-20 अंतरराष्ट्रीय क्रिकेट में भी इतने ही विकेट चटकाए हैं. उन्होंने टेस्ट क्रिकेट में 163 गेंद फेंकी, लेकिन उन्हें कोई सफलता नहीं मिली.

इस स्टार बल्लेबाज ने एक ऐसी घटना का जिक्र किया जिससे पता चलता है कि उन्होंने हमेशा अपनी गेंदबाजी को गंभीरता से लिया.

कोहली ने कहा, ‘जब मैं अकादमी (दिल्ली में) में था, तो मैं जेम्स एंडरसन के एक्शन से गेंदबाजी करने का प्रयास करता था. बाद में जब मुझे उसके साथ खेलने का मौका मिला तो मैंने उसे यह बात बताई. हम दोनों इस पर काफी हंसे.’

हमें सपोर्ट करें, ताकि हम करते रहें स्वतंत्र और जनपक्षधर पत्रकारिता...

Get real time updates directly on you device, subscribe now.

You might also like
क्लर्क नियुक्ति के लिए फॉर्म की फीस 1000 रुपये, कितना जायज ? हमें लिखें..
झारखंड में नौकरी देने वाली हर प्रतियोगिता परीक्षा विवादों में घिरी होती है.
अब JSSC की ओर से क्लर्क की नियुक्ति के लिये विज्ञापन निकाला है.
जिसके फॉर्म की फीस 1000 रुपये है. यह फीस UPSC के जरिये IAS बनने वाली परीक्षा से
10 गुणा ज्यादा है. झारखंड में साहेब बनानेवाली JPSC  परीक्षा की फीस से 400 रुपये अधिक. 
क्या आपको लगता है कि JSSC  द्वारा तय फीस की रकम जायज है.
इस बारे में आप क्या सोंचते हैं. हमें लिखें या वीडियो मैसेज वाट्सएप करें.
हम उसे newswing.com पर  प्रकाशित करेंगे. ताकि आपकी बात सरकार तक पहुंचे. 
अपने विचार लिखने व वीडियो भेजने के लिये यहां क्लिक करें.

you're currently offline

%d bloggers like this: