न्यूज़ विंग
कल का इंतज़ार क्यों, आज की खबर अभी पढ़ें

वर्ल्ड कपः अब तक की सबसे उम्रदराज टीम उतारी है भारत ने, अनुभव में भी है अव्वल

601

New Delhi: भारत ने विश्व कप में अब तक अपनी सबसे उम्रदराज टीम उतारी है. जो ब्रिटेन में 30 मई से शुरू होने वाली इस क्रिकेट प्रतियोगिता में सबसे अधिक अनुभवी टीम के रूप में भी आगाज करेगी.

धोनी सबसे उम्रदराज, कुलदीप सबसे छोटे

भारतीय टीम की औसत उम्र 29.53 वर्ष है. जिसमें महेंद्र सिंह धोनी (37 साल) सबसे अधिक उम्र के, जबकि कुलदीप यादव (24 साल) सबसे कम उम्र के खिलाड़ी शामिल हैं. विश्व कप में भाग ले रही दस टीमों में श्रीलंका (29.9) और दक्षिण अफ्रीका (29.5) के बाद भारतीय टीम सबसे अधिक उम्रदराज है.

लेकिन अगर 1975 से अब तक की भारतीय टीमों पर गौर किया जाए तो विराट कोहली की टीम उम्र के मामले में पिछली सभी टीमों को पीछे छोड़ देती है. इससे पहले भारत ने विश्व कप में सबसे उम्रदराज टीम 2011 में उतारी थी. जिसकी औसत उम्र 28.3 वर्ष थी. धोनी की अगुवाई वाली यह टीम विश्व चैंपियन बनी थी.

तो क्या कोहली की टीम 2011 का इतिहास दोहराएगी, क्योंकि 1983 में कपिल देव की अगुवाई वाली टीम भी भारत की तब तक की सबसे उम्रदराज (औसत उम्र 27.10) टीम थी. कपिल की इस टीम ने विश्व कप जीता था.

इसे भी पढ़ेंःवर्ल्ड कप के लिए इंडियन टीम इंग्लैंड रवाना, कोहली ने कहा कि पहले सेकेंड से ही होगा दबाव

गौरतलब है कि 1975 की टीम की औसत उम्र 26.8 और 1979 की टीम की 26.6 वर्ष थी. कपिल की 1987 की टीम की औसत उम्र 26.2 थी. मोहम्मद अजहरूद्दीन के नेतृत्व वाली 1992 की टीम की औसत उम्र केवल 25.4 थी, जो अब तक की भारत की सबसे युवा टीम थी. लेकिन उसका प्रदर्शन निराशाजनक रहा था.

वर्तमान विश्व कप में सबसे कम औसत उम्र बांग्लादेश की टीम (औसत उम्र 27.27) की है. अफगानिस्तान (27.40) भी उससे अधिक पीछे नहीं है. पाकिस्तान की टीम 27.33 वर्ष औसत उम्र के साथ तीसरे स्थान पर है.

साउथ अफ्रीका के इमरान सबसे उम्रदराज खिलाड़ी

अब जबकि सभी टीमों ने अपने अंतिम 15 खिलाड़ी तय कर दिये हैं, तब दक्षिण अफ्रीका के इमरान ताहिर (40 साल) विश्व कप में भाग लेने वाले सबसे अधिक उम्र के खिलाड़ी होंगे. अफगानिस्तान के मुजीब उर रहमान (18 साल) सबसे कम उम्र में विश्व कप में अपना जलवा दिखाएंगे.

धोनी सबसे अनुभवी क्रिकेटर

धोनी विश्व कप के सबसे अनुभवी क्रिकेटर हैं. उन्होंने भारत की तरफ से 338 वनडे (कुल 341) मैच खेले हैं. उनके अलावा किसी भी अन्य खिलाड़ी ने 300 वनडे मैच नहीं खेले हैं. असल में भारतीय टीम के सभी खिलाड़ियों ने कुल मिलाकर 1573 वनडे मैच खेल हैं और इस मामले में कोहली की टीम, सभी टीमों से काफी आगे हैं.

भारत की तरफ से धोनी के अलावा कोहली (227), रोहित शर्मा (206), रविंद्र जडेजा (151), शिखर धवन (128) और भुवनेश्वर कुमार (105) ने भी 100 से अधिक वनडे खेले हैं.

अनुभव के मामले में भारत के बाद बांग्लादेश

भारत के बाद बांग्लादेश की टीम का नंबर आता है. जिसके सभी खिलाड़ियों के कुल मैचों की संख्या 1341 बैठती है. उसकी तरफ से कप्तान मशरेफी मुर्तजा (207), मुशफिकुर रहीम(205), शाकिब अल हसन (198) और तमीम इकबाल (193) ने सर्वाधिक मैच खेले हैं.

धोनी के बाद क्रिस गेल विश्व कप में भाग लेने वाले दूसरे सबसे अधिक अनुभवी खिलाड़ी हैं. इस 39 वर्षीय क्रिकेटर ने अब तक 289 मैच खेले हैं. गेल उम्र के मामले में भी ताहिर के बाद सबसे उम्रदराज खिलाड़ियों में दूसरे नंबर पर हैं.

विश्व कप में भाग ले रही टीमों में सर्वाधिक 90 शतक भारतीय खिलाड़ियों के नाम पर ही दर्ज हैं. इनमें से कप्तान कोहली के नाम पर ही 41 शतक दर्ज हैं जबकि रोहित ने 22, धवन ने 16 और धोनी ने 10 शतक लगाये हैं.

हमें सपोर्ट करें, ताकि हम करते रहें स्वतंत्र और जनपक्षधर पत्रकारिता...

Get real time updates directly on you device, subscribe now.

You might also like
स्वतंत्र और जनपक्षधर पत्रकारिता का संकट लगातार गहराता जा रहा है. भारत के लोकतंत्र के लिए यह एक गंभीर और खतरनाक स्थिति है. कारपोरेट तथा सत्ता संस्थान मजबूत होते जा रहे हैं. जनसरोकार के सवाल ओझल हैं और प्रायोजित या पेड या फेक न्यूज का असर गहरा गया है. कारपोरेट, विज्ञानपदाताओं और सरकारों पर बढ़ती निर्भरता के कारण मीडिया की स्वायत्तता खत्म सी हो गयी है. न्यूजविंग इस चुनौतीपूर्ण दौर में सरोकार की पत्रकारिता पूरी स्वायत्तता के साथ कर रहा है. लेकिन इसके लिए आप सुधि पाठकों का सक्रिय सहभाग और सहयोग जरूरी है. हमने पिछले डेढ़ साल में बिना दबाव में आए पत्रकारिता के मूल्यों को जीवित रखा है. पत्रकारिता के इस प्रयोग में आप हमें मदद करेंगे यह भरोसा है. आप न्यूनतम 10 रुपए और अधिकतम 5000 रुपए का सहयोग दे सकते हैं. हमारा वादा है कि हम आपके विश्वास पर खरा साबित होंगे और दबावों के इस दौर में पत्रकारिता के जनहितस्वर को बुलंद रखेंगे.

हमें सपोर्ट करें, ताकि हम करते रहें स्वतंत्र और जनपक्षधर पत्रकारिता…

 नीचे दिये गये लिंक पर क्लिक कर भेजें.
%d bloggers like this: